नोटबंदी आर्थिक डकैती : राहुल

अल्मोड़ा: कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने नोटबंदी को आर्थिक डकैती करार दिया है। उन्होंने कहा कि नोटबंदी और भ्रष्टाचार पर चोट की आड़ में केंद्र की मोदी सरकार ने गरीबों पर सीधे-सीधे फायरिंग की है। उन्होंने कहा कि देश में 60 वर्षो में मौजूदा वक्त में सबसे अधिक बेरोजगारी है। अपनी ईमानदारी की धनराशि को लेने के लिए ही सौ से अधिक लोगों की मौत बैंक की लाइनों में हुई है। इस पर शोक जताने के बजाय संसद में भाजपा ने हंगामा किया और एक साजिश के तहत विपक्ष को बोलने नहीं दिया गया। यह आरोप राहुल ने शुक्रवार को अल्मोड़ा की एक जनसभा में लगाया। अपने 36 मिनट के भाषण के दौरान राहुल ने पूरी तरह नोटबंदी पर फोकस कर मोदी सरकार को घेरने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि नोटबंदी करने के बाद देश में सौ से ज्यादा मौतें हुई हैं, कांग्रेस ने सदन में दो मिनट का मौन रखकर नोटबंदी मे मारे गये गये लोगों को श्रद्धांजलि देने की मांग की, पर सरकार ने यह मांग नहीं मानी।



उन्होंने कहा कि देश में कई जगह फोन सिग्नल नहीं रहते। कैशलैस बैकिंग कैसे होगी? उन्होंने साफ शब्दों में कहा कि भ्रष्टाचार के खिलाफ कांग्रेस सरकार के साथ है, पर नोटबंदी आर्थिक डकैती है। उन्होंने कहा कि किसानों का कर्जा माफ नहीं किया, उल्टा इस सरकार ने 140 पूंजीपतियों का एक लाख 40 करोड़ माफ कर दिया जबकि केंद्र के इशारे पर बैंक पहले ही माल्या का 12 सौ करोड़ माफ कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि मजदूरों को सम्मानजनक रोजगार देने वाली मनरेगा को बंद करने का प्रयास किया है। इससे साफ है कि यह सरकार केवल पूंजीपतियों को धनकुबेर बनाने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान के एक प्रतिशत सुपर रिच व 90 प्रतिशत मेहनतकश, जिनको अलग-थलग कर दिया। काला धन एक प्रतिशत रिच लोगों के पास है। उन्होंने कहा कि 94 प्रतिशत कालाधन स्विस बैंक, रियल स्टेट में लगा है। छह प्रतिशत कैश में है। लेकिन सरकार ने 94 फीसद ईमानदार लोगों को परेशान करने का कार्य किया है।




लोग अपनी गाड़ी कमाई लेने के लिए बैंक में लाइन पर हैं। उन्होंने सवाल किया कि क्या यही अच्छे दिन हैं? उन्होंने कहा कि उत्तराखंड को उसके हक के सात हजार करोड़ मोदी सरकार ने नहीं दिये लेकिन विजय माल्या का 1200 करोड़ माफ कर दिया। उन्होंने दोहराते हुए कहा कि भ्रष्टाचार और कालेधन के खिलाफ कोई कार्यवाही होती है तो कांग्रेस सरकार के साथ है, लेकिन भ्रष्टाचार पर सर्जिकल स्ट्राइक की आड़ में मोदी सरकार ने जनता पर फायरिंग की, जिसे जनता माफ नहीं करेगी।

Loading...