सिंगापुर से मोदी सरकार पर राहुल गांधी का वार, बोले- महात्मा गांधी के विचार को भुला दिया गया

सिंगापुर से मोदी सरकार पर राहुल गांधी का वार, बोले- महात्मा गांधी के विचार को भुला दिया गया
सिंगापुर से मोदी सरकार पर राहुल गांधी का वार, बोले- महात्मा गांधी के विचार को भुला दिया गया

सिंगापुर। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपने तीन दिन के विदेश दौरे के दौरान गुरुवार को सिंगापुर में थे। यहां से वह मलेशिया भी जाएंगे। गांधी ने यहां कहा कि गुटों में विभाजित हो रहा समाज आज भारत के लिए चिंता का विषय है। उन्होंने सत्तारूढ़ भाजपा पर सुकून और शांति के प्रति कम चिंतित होने का भी आरोप लगाया। गांधी ने सिंगापुर में भारतीय मूल के सीईओ से मुलाकात की और भारत में नौकरियों, निवेश और अर्थव्यवस्था की स्थिति पर चर्चा की।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस समाज को एक व्यवस्था के तौर पर देखती है, जिसमें संतुलन बना रहना चाहिए। उन्होंने जोर देकर कहा कि दिसंबर में अपनी मां सोनिया से शासन की बागड़ोर संभालने के बाद से वह नई कांग्रेस का सूत्रपात करने की दिशा में कार्य कर रहे हैं। उन्होंने कहा, “हम समाज को एक व्यवस्था के तौर पर देखते हैं, जिसमें संतुलन बना रहना चाहिए। वहीं दूसरी तरफ, भाजपा सुकून व शांति लेकर कम चिंतित है। हम समाज के ध्रुवीकरण का बहुत ही गंभीर खतरे और उससे होने वाले जोखिम को देख रहे हैं।”

{ यह भी पढ़ें:- 15 अगस्‍त को लालकिले से जनधन खाताधारकों को मिल सकती है बड़ी सौगात }

कथित 2जी स्पेक्ट्रम घोटाले के संदर्भ में भाजपा द्वारा पिछली संप्रग सरकार को लगातार निशाना बनाने पर गांधी ने कहा कि 2012 से 2014 के बीच व्यवस्था को अस्थिर कर दिया गया था। पिछले साल दिसंबर में दिल्ली की एक अदालत ने 2जी आवंटन मामले में धनशोधन और भ्रष्टाचार के सभी आरोपियों को बरी कर दिया। 2014 में कांग्रेस की हार के लिए इन्हीं आरोपों को जिम्मेदार ठहराया गया था।

गांधी आठ से 10 मार्च के सिंगापुर और मलेशिया दौरे पर हैं। उन्होंने कहा, “हमने 2012 में एक तूफान का सामना किया था। 2012 से 2014 के बीच व्यवस्था को अस्थिर कर दिया गया, जिसका परिणाम हमने देखा। हमारे पास साफ-सुथरी योजना एक नया अवसर है। हम अपको एक नई कांग्रेस पार्टी सामने लाएंगे जो आपके जन्मजात मूल्यों को आगे ले जाएगी।” कांग्रेस नेता ने कहा कि भारत में बड़े पैमाने पर ग्रामीण आबादी पलायन कर रही है। उन्होंने कहा, “हमारे पास चुनौतियां हैं। हम शांतिपूर्ण परिवर्तन की आकांक्षा रखते हैं जिसमें सबका का साथ मिले।

{ यह भी पढ़ें:- पीएम मोदी का दावा- एक साल में 1 करोड़ लोगों को रोजगार मिला }

गांधी ने नौकरियों, निवेश और मौजूदा आर्थिक हालात समेत कई मसलों पर सिंगापुर की कंपनियों के भारतीय मूल के सीईओ के साथ बातचीत की।

सिंगापुर। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपने तीन दिन के विदेश दौरे के दौरान गुरुवार को सिंगापुर में थे। यहां से वह मलेशिया भी जाएंगे। गांधी ने यहां कहा कि गुटों में विभाजित हो रहा समाज आज भारत के लिए चिंता का विषय है। उन्होंने सत्तारूढ़ भाजपा पर सुकून और शांति के प्रति कम चिंतित होने का भी आरोप लगाया। गांधी ने सिंगापुर में भारतीय मूल के सीईओ से मुलाकात की और भारत में नौकरियों, निवेश और अर्थव्यवस्था की स्थिति पर…
Loading...