उसी के तहत ग्वादर आता है, उसी में बेल्ट एंड रोड आता है। यह इस धरती की पुनर्रचना करने का प्रयास है। इसलिए जब आप चीनियों के बारे में सोचें तो आपको यह समझना होगा कि वह किस स्तर पर सोच रहे हैं। उन्होंने कहा कि, चाहे यह गलवां हो, डेमचोक हो या फिर पेंगोंग झील, उनका इरादा अपनी स्थिति को मजबूत करना है। वो हमारी सड़क से परेशान हैं, वो हमारे राजमार्ग को निरर्थक करना चाहते हैं। वो पाकिस्तान के साथ मिलकर कश्मीर में कुछ करने की सोच रहे हैं।  

", "image":[ "https://d2jw2ovwhq08z0.cloudfront.net/wp-content/uploads/2020/05/rahul-gandhi.jpg" ], "datePublished":"2020-07-20T12:20:28+05:30", "dateModified": "2020-07-20T12:20:28+05:30", "author": { "@type": "Person", "name": "शिव मौर्या" }, "publisher":{ "@type":"Organization", "name":"पर्दाफाश", "logo": { "@type": "ImageObject", "url": "https://hindi.pardaphash.com/logo.png" } } }
  1. हिन्दी समाचार
  2. चीन के साथ विवाद को लेकर राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर फिर बोला हमला, कहा…

चीन के साथ विवाद को लेकर राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर फिर बोला हमला, कहा…

Rahul Gandhi Again Attacked Pm Modi Over Dispute With China Said

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। चीन से सीमा विवाद को लेकर तनाव जारी है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी इसको लेकर लगातार सरकार पर हमला बोला रहे हैं। वह हर दिन मोदी सरकार से चीन मसले पर सवाल पूछ रहे हैं। आज उन्होंने फिर एक वीडियो को ट्वीट कर सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी सत्ता में आने के लिए अपनी नकली मजबूत छवि को गढ़ा है।

पढ़ें :- बोल्ड अवतार मे नजर आई रश्मि देसाई, फैंस ने किया गंदा कमेन्ट तो बोली...

चीन के साथ जारी गतिरोध को लेकर राहुल गांधी ने कहा है कि, यह साधारण सीमा विवाद नहीं है। मेरी चिंता है कि चीन आज हमारे क्षेत्र में बैठा हुआ है। सवाल यह है कि चीन की सामरिक रणनीति क्या है? चीनी बगैर रणनीतिक सोच के कोई कदम नहीं उठाते। इसके साथ ही राहुल गांधी ने कहा कि चीन के दिमाग में संसार का नक्शा खींचा हुआ है, जिसे वह अपने हिसाब से आकार देने की कोशिश करता है।

उसी के तहत ग्वादर आता है, उसी में बेल्ट एंड रोड आता है। यह इस धरती की पुनर्रचना करने का प्रयास है। इसलिए जब आप चीनियों के बारे में सोचें तो आपको यह समझना होगा कि वह किस स्तर पर सोच रहे हैं। उन्होंने कहा कि, चाहे यह गलवां हो, डेमचोक हो या फिर पेंगोंग झील, उनका इरादा अपनी स्थिति को मजबूत करना है। वो हमारी सड़क से परेशान हैं, वो हमारे राजमार्ग को निरर्थक करना चाहते हैं। वो पाकिस्तान के साथ मिलकर कश्मीर में कुछ करने की सोच रहे हैं।

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...