#CongressPresidentRahulGandhi: राहुल के लिए चुनौतियों की फेहरिस्त है लंबी

नई दिल्ली। गुजरात विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के पहले कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को कांग्रेस का राष्ट्रीय अध्यक्ष चुन लिया गया है। 11 दिसंबर की दोपहर पार्टी ने उनके निर्वाचन की घोषणा की है। गौरतलब है कि राहुल का निर्वाचन निर्विवाद हुआ है। 47 साल के राहुल कांग्रेस का शीर्ष पद संभालने वाले नेहरू-गांधी परिवार के छठे सदस्य होंगे।

{ यह भी पढ़ें:- कांग्रेस ने पीएम मोदी पर फिर फोड़ा वीडियो बम, बताया U Turn Sarkar }

राहुल गांधी पिछले 13 साल से मां और वर्तमान पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के मार्गदर्शन में राजनीति की बारीकियां सीख रहे हैं। चार साल से संगठन में उनकी हैसियत दूसरे नंबर की रही है। इस दौरान पार्टी बिखरी-बिखरी सी दिखी। गिने-चुने प्रदेशों में ही उसकी सरकारें रह गई हैं। ऐसे प्रतिकूल समय में राहुल की ताजपोशी को भले ही नया दौर बताया जा रहा हो, लेकिन उनके सामने चुनौतियों की फेहरिस्त लंबी होगी।

कांग्रेस के केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण के अध्यक्ष मौलपल्ली रामचंद्रन ने कहा, कुल 89 नामांकन पत्र प्राप्त हुए थे। चूंकि यहां बस एक ही उम्मीदवार था, ऐसे में मैं राहुल गांधो के कांग्रेस अध्यक्ष चुने जाने की घोषणा करता हूं। रामचंद्रन ने इसके साथ ही बताया कि 16 दिसंबर को कांग्रेस मुख्यालय में राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष पद पर नियुक्ति का सर्टिफिकेट सौंपा जाएगा।

दिल्ली पार्टी कार्यालय के बाहर जश्न का माहौल
राहुल गांधी के पार्टी अध्यक्ष चुने जाने के बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं में जश्न का माहौल है। दिल्ली में कांग्रेस कार्यालय के बाहर कार्यकर्ताओं ने बैंड-बाजे के साथ राहुल की ताजपोशी का जश्न मनाया। भारी संख्या में कार्यकर्ता दिल्ली स्थित पार्टी मुख्यालय पर पहुंचे और राहुल गांधी को निर्विरोध अध्यक्ष चुने जाने पर बधाई दी।

{ यह भी पढ़ें:- पोस्टरवार: राहुल के अमेठी आगमन से पहले चस्पा किया गया ये विवादित पोस्टर, लिखा है.. }

Loading...