बाप से दूरी बेटे के साथ लंच, ये है युवराज नीति

बाप से दूरी बेटे के साथ लंच, ये है युवराज नीति

पटना। देश की राजनीति के युवराज और कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी अब अपनी ताजपोशी को लेकर गंभीर नजर आ रहे हैं। शुक्रवार को पटना पहुंचे राहुल गांधी ने राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बेटे और बिहार विधानसभा के नेता विपक्ष तेजस्वी यादव के साथ लंच किया। दोनों नेताओं के बीच हुई इस मुलाकात को अनौपचारिक मुलाकात करार दिया गया है, लेकिन सियासी गलियारों में इस मुलाकात को राहुल गांधी की ताजपोशी से पहले सहयोगी दलों के साथ संवाद बनाने की प्रक्रिया के तौर पर देखा जा रहा है।

राहुल गांधी और तेजस्वी यादव के बीच लंच टेबल पर हुई बातचीत के बारे में दोनों ही नेताओं ने कुछ भी कहने से इंकार कर दिया, लेकिन विरोधियों को इस मुलाकात पर सियासत करने का मौका जरूर मिल गया है।

{ यह भी पढ़ें:- #CongressPresidentRahulGandhi: राहुल के लिए चुनौतियों की फेहरिस्त है लंबी }

ऐसे में कहा जाने लगा है कि राहुल गांधी को चारा घोटाले के दोषी ​लालू प्रसाद यादव के साथ मंच साझा करने से ज्यादा आसान भ्रष्टाचार के आरोपों में​ घिरे उनके बेटे तेजस्वी के साथ लंच करना लगता है। वैसे सियासी लिहाज से देखा जाए तो लालू प्रसाद यादव से दूरी बनाकर बिहार की राजनीति को साधने के लिए राहुल गांधी ने तेजस्वी के साथ तालमेल बैठाने के लिए पहले भी कोशिशें की हैं। महागठबंधन के समय भी वह तेजस्वी के पक्ष में खड़े नजर आए थे। पार्टी के नेताओं का मानना है कि दोनों नेताओं के बीच समय समय पर संवाद होता रहता है।

तेजस्वी यादव भी इस मुलाकात के बाद बेहद उत्साहित नजर आए उन्होंने ट्वीट कर राहुल गांधी को दोपहर के भोजन पर बाहर ले जाने के लिए धन्यवाद दिया है। उन्होंने राहुल गांधी के प्रति अपना आभार भी व्य​क्त किया है।

{ यह भी पढ़ें:- जब महिलाओं और राजनीति से दूर थी सेना तब स्थिति अच्छी हुआ करती थी: सेना प्रमुख }

Loading...