कर्नाटक चुनाव: राहुल गांधी से प्रचार कराने में डर रहे कांग्रेसी नेता

कर्नाटक चुनाव: राहुल गांधी से प्रचार कराने में डर रहे कांग्रेसी नेता
कर्नाटक चुनाव: राहुल गांधी से प्रचार कराने में डर रहे कांग्रेसी नेता
नई दिल्‍ली। राजस्‍थान और मध्‍य प्रदेश के बाद अब उत्‍तर प्रदेश उपचुनावों में बीजेपी की हार के बाद कांग्रेस ने कर्नाटक में पूरी ताकत झोंक रखी है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी मंगलवार और बुधवार को कर्नाटक के तटीय और मलनाड एरिया का दौरा करेंगे। हैदराबाद-कर्नाटक और मुंबई-कर्नाटक के क्षेत्रों के दौरे पर अच्छी प्रतिक्रिया मिलने के बाद, पार्टी प्रमुख ने के मुताबिक, कांग्रेस पार्टी बीजेपी के गढ़ में राहुल गांधी के दौरे कराने की तैयारी में जुटी है। इस बीच…

नई दिल्‍ली। राजस्‍थान और मध्‍य प्रदेश के बाद अब उत्‍तर प्रदेश उपचुनावों में बीजेपी की हार के बाद कांग्रेस ने कर्नाटक में पूरी ताकत झोंक रखी है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी मंगलवार और बुधवार को कर्नाटक के तटीय और मलनाड एरिया का दौरा करेंगे। हैदराबाद-कर्नाटक और मुंबई-कर्नाटक के क्षेत्रों के दौरे पर अच्छी प्रतिक्रिया मिलने के बाद, पार्टी प्रमुख ने के मुताबिक, कांग्रेस पार्टी बीजेपी के गढ़ में राहुल गांधी के दौरे कराने की तैयारी में जुटी है। इस बीच तटीय कर्नाटक के इलाकों से खबर आई है कि कई कांग्रेसी नेता ही राहुल गांधी की रैलियों को लेकर उत्‍साहित नहीं हैं।

रिपोर्ट में यह भी दावा किया गया है कि वरिष्ठ कांग्रेस के नेताओं के अनुसार, उडुपी जिला प्रभारी प्रमोद माधवराज को राहुल गांधी की मेजबानी करने में दिलचस्पी नहीं है और उन्होंने इस बात की जानकारी राज्य के कांग्रेस नेताओं को भी दी है। इस संबंध में माधवराज से पूछा गया तो उन्‍होंने कोई प्रतिक्रिया देने से इनकार कर दिया।

{ यह भी पढ़ें:- एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह की सदस्यता को दल बदल कानून के तहत चुनौती देने की तैयारी में कांग्रेस }

कर्नाटक यात्रा के दौरान राहुल गांधी चिकमंगलूर के पास स्थित श्रृंगेरी मठ का भी दौरा करेंगे और श्रृंगेरी पीठ के प्रमुख से भी मुलाकात करेंगे। बता दें कि इंदिरा गांधी 1977 में इमरजेंसी के बाद 1978 के लोकसभा चुनाव में चिकमंगलूर से ही चुनकर लोकसभा पहुंची थीं। राहुल गांधी भूतपूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा का घर माने जाने वाले हासन में भी एक जनसभा को संबोधित करेंगे।

{ यह भी पढ़ें:- रायबरेली ने आजादी के बाद से अब तक परिवारवाद देखा है, विकास नहीं: अमित शाह }

Loading...