1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. राहुल गांधी ने कहा, हमारे जवानों को शहीद होने के लिए नहीं छोड़ा जा सकता

राहुल गांधी ने कहा, हमारे जवानों को शहीद होने के लिए नहीं छोड़ा जा सकता

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को आरोप लगाया कि छत्तीसगढ़ में नक्सल विरोधी अभियान की सही तरीके से तैयारी नहीं की गई। साथ ही इसका क्रियान्वयन भी ‘ अयोग्यतापूर्वक ’ किया गया। उन्होंने यह भी कहा कि हमारे जवानों को जब चाहे तब शहीद होने के लिए नहीं छोड़ा जा सकता।

By शिव मौर्या 
Updated Date

Rahul Gandhi Said Our Soldiers Cannot Be Left To Be Martyred

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को आरोप लगाया कि छत्तीसगढ़ में नक्सल विरोधी अभियान की सही तरीके से तैयारी नहीं की गई। साथ ही इसका क्रियान्वयन भी ‘ अयोग्यतापूर्वक ’ किया गया। उन्होंने यह भी कहा कि हमारे जवानों को जब चाहे तब शहीद होने के लिए नहीं छोड़ा जा सकता। राहुल गांधी ने कहा कि 21 वीं सदी में किसी भी भारतीय जवान को बिना बॉडी कवच के दुश्मन का सामना नहीं करना चाहिए। उन्होंने कहा कि इसे हर सैनिक को उपल्बध कराने की जरूरत है।

पढ़ें :- देश को भाजपा के झूठ और खोखले नारे नहीं, जनता को पूर्ण टीकाकरण चाहिए : राहुल गांधी

पढ़ें :- देशवासी कोरोना नियमों का पालन करते हुए जल्द लगवाएं वैक्सीन : राहुल गांधी

बता दें कि छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित बीजापुर और सुकमा जिले की सीमा पर शनिवार को सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़ में सुरक्षा बल के 22 जवान शहीद हो गए हैं तथा 31 अन्य जवान घायल हुए हैं।

राहुल गांधी ने सीआरपीएफ के महानिदेशक कुलदीप सिंह के एक बयान से जुड़ी खबर का हवाला देते हुए कहा कि अगर खुफिया नाकामी नहीं थी। तो फिर 1:1 के अनुपात में मौत का मतलब यह है कि इस अभियान की योजना को खराब ढंग से तैयार किया गया। साथ ही अयोग्यतापूर्वक इसका क्रियान्वयन किया गया।

अधिकारियों ने बताया कि इस मुठभेड़ में शहीद हुए 22 जवानों में सीआरपीएफ के आठ जवान शामिल हैं, जिसमें से सात कोबरा कमांडो से, जबकि एक जवान बस्तरिया बटालियन से है। शेष डीआरजी और विशेष कार्यबल के जवान हैं। उन्होंने कहा कि सीआरपीएफ के एक इंस्पेक्टर अब भी लापता हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X