अलवर गैंगरेप पीड़िता से मिले राहुल गांधी, न्याय दिलाने का आश्वासन, CM अशोक गहलोत ने लिया यह बड़ा निर्णय

rahul gandhi
अलवर गैंगरपे पीड़िता से राहुल गांधी ने की मुलाकात, सीएम अशोक गहलोत ने लिया यह बड़ा निर्णय

जयपुर। अलवर में गैंगरेप की घटना के बाद वहां की सरकार पर सवाल उठने लगे हैं। इस बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी वहां पहुंचे और गैंगरेप पीड़िता से मुलाकात की। उन्होंने पीड़िता को न्याय दिलाने का आश्वासन दिया। वहीं राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने इस घटना के बाद सुरक्षा को लेकर बड़ा फैसला लिया है। एससी—एसटी एक्ट की तर्ज पर महिलाओं के लिए नोडल आफिसर की नियुक्ति और अलवर में अपराध नियंत्रण के लिए जिले में एसपी लेवल के दो अधिकारियों को नियुक्त करने का फैसला लिया है।

Rahul Gandhi Says Justice Will Be Done In Alwar Gangrape Case :

राहुल गांधी ने पीड़िता और उसके परिजनों से मुलाकात के बाद पत्रकार वार्ता की। इस दौरान उन्होंने कहा कि ‘इस घटना के बारे में पता चलने के तुंरत बाद ही मैंने सीएम अशोक गहलोत जी से बात की थी। यह मेरे लिए राजनीतिक मुद्दा नहीं है। पीड़ित परिवार से मैंने मुलाकात की है और उनकी न्याय की मांग को पूरा किया जाएगा।

राहुल गांधी ने कहा कि दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी, जिससे पीड़ित परिवार को न्याय मिल सके।हालांकि यह न्याय किस तरह का होगा, इस बारे में राहुल गांधी ने कुछ स्पष्ट नहीं किया। इस दौरान राहुल के साथ सीएम अशोक गहलोत और सचिन पायलट भी मौजूद थे।

सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि बीजेपी और प्रधानमंत्री इस मामले में राजनीति कर रहे हैं। लेकिन राहुल गांधी ने इस मामले पर कहा कि वह राजनीति नहीं करेंगे। उन्होंने महिलाओं से अपराध पर लिए फैसलों में बताया, ‘हमारी कोई राजनीतिक मंशा नहीं है। हम 7 दिनों के अंदर चालान भी पेश कर देंगे। हमने कई फैसले किए हैं और पीड़ित परिवार के लिए नौकरी का प्रबंध भी करेंगे।

जयपुर। अलवर में गैंगरेप की घटना के बाद वहां की सरकार पर सवाल उठने लगे हैं। इस बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी वहां पहुंचे और गैंगरेप पीड़िता से मुलाकात की। उन्होंने पीड़िता को न्याय दिलाने का आश्वासन दिया। वहीं राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने इस घटना के बाद सुरक्षा को लेकर बड़ा फैसला लिया है। एससी—एसटी एक्ट की तर्ज पर महिलाओं के लिए नोडल आफिसर की नियुक्ति और अलवर में अपराध नियंत्रण के लिए जिले में एसपी लेवल के दो अधिकारियों को नियुक्त करने का फैसला लिया है। राहुल गांधी ने पीड़िता और उसके परिजनों से मुलाकात के बाद पत्रकार वार्ता की। इस दौरान उन्होंने कहा कि 'इस घटना के बारे में पता चलने के तुंरत बाद ही मैंने सीएम अशोक गहलोत जी से बात की थी। यह मेरे लिए राजनीतिक मुद्दा नहीं है। पीड़ित परिवार से मैंने मुलाकात की है और उनकी न्याय की मांग को पूरा किया जाएगा। राहुल गांधी ने कहा कि दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी, जिससे पीड़ित परिवार को न्याय मिल सके।हालांकि यह न्याय किस तरह का होगा, इस बारे में राहुल गांधी ने कुछ स्पष्ट नहीं किया। इस दौरान राहुल के साथ सीएम अशोक गहलोत और सचिन पायलट भी मौजूद थे। सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि बीजेपी और प्रधानमंत्री इस मामले में राजनीति कर रहे हैं। लेकिन राहुल गांधी ने इस मामले पर कहा कि वह राजनीति नहीं करेंगे। उन्होंने महिलाओं से अपराध पर लिए फैसलों में बताया, 'हमारी कोई राजनीतिक मंशा नहीं है। हम 7 दिनों के अंदर चालान भी पेश कर देंगे। हमने कई फैसले किए हैं और पीड़ित परिवार के लिए नौकरी का प्रबंध भी करेंगे।