राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, कहा-अज्ञानता से अधिक खतरनाक घमंड है

rahul gandhi
कोविड, जीएसटी और नोटबंदी की विफलताओं पर हार्वर्ड में होगा अध्ययन : राहुल गांधी

नई दिल्ली। कोरोना संकट के दौरान हुए लॉकडाउन को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है। राहुल गांधी अक्सर मोदी सरकार पर लॉकडाउन और कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर हमलावर हैं। इस बीच उन्होंने अल्बर्ट आइंस्टीन का एक वाक्य शेयर किया है।

Rahul Gandhi Targeted Modi Government Said Ignorance Is More Dangerous Than Pride :

राहुल गांधी ने अपने ट्वीटर हैंडल से लिखा कि यह लॉकडाउन साबित करता है कि अज्ञानता से अधिक खतरनाक चीज केवल घमंड है। इससे पहले राहुल गांधी ने लॉकडाउन के बावजूद कोरोना संक्रमितों की बढ़ती संख्या को लेकर चार ग्राफ ट्वीट किए थे। इस ग्राफ के जरिए राहुल गांधी ने देश में बार—बार लॉकडाउन लगाया जा रहा है, लेकिन कुछ हासिल नहीं हो पा रहा है बल्कि कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने इन ग्राफ्स के साथ अज्ञात के नाम से एक कोट भी शेयर किया और लिखा, ‘पागलपन बार-बार एक ही काम कर रहा है और विभिन्न परिणामों की उम्मीद कर रहा है।’ राहुल गांधी ने जो ग्राफ शेयर किए हैं, उसमें बताया गया है कि जब पहली बार लॉकडाउन लागू किया गया तो देश में कोरोना के 9 हजार केस थे। वहीं, इससे पहले राहुल गांधी ने कहा था, ‘भारत एक गलत रेस जीतने के रास्ते पर है। अहंकार और अक्षमता के घातक मिश्रण के परिणामस्वरूप, एक भयावह त्रासदी।’

नई दिल्ली। कोरोना संकट के दौरान हुए लॉकडाउन को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है। राहुल गांधी अक्सर मोदी सरकार पर लॉकडाउन और कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर हमलावर हैं। इस बीच उन्होंने अल्बर्ट आइंस्टीन का एक वाक्य शेयर किया है। राहुल गांधी ने अपने ट्वीटर हैंडल से लिखा कि यह लॉकडाउन साबित करता है कि अज्ञानता से अधिक खतरनाक चीज केवल घमंड है। इससे पहले राहुल गांधी ने लॉकडाउन के बावजूद कोरोना संक्रमितों की बढ़ती संख्या को लेकर चार ग्राफ ट्वीट किए थे। इस ग्राफ के जरिए राहुल गांधी ने देश में बार—बार लॉकडाउन लगाया जा रहा है, लेकिन कुछ हासिल नहीं हो पा रहा है बल्कि कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने इन ग्राफ्स के साथ अज्ञात के नाम से एक कोट भी शेयर किया और लिखा, 'पागलपन बार-बार एक ही काम कर रहा है और विभिन्न परिणामों की उम्मीद कर रहा है।' राहुल गांधी ने जो ग्राफ शेयर किए हैं, उसमें बताया गया है कि जब पहली बार लॉकडाउन लागू किया गया तो देश में कोरोना के 9 हजार केस थे। वहीं, इससे पहले राहुल गांधी ने कहा था, 'भारत एक गलत रेस जीतने के रास्ते पर है। अहंकार और अक्षमता के घातक मिश्रण के परिणामस्वरूप, एक भयावह त्रासदी।'