राहुल गांधी ने BJP के ‘संकल्प पत्र’ को बताया ‘एक व्यक्ति’ की आवाज, कहा बंद कमरे में किया गया तैयार

rahul
राहुल गांधी ने भाजपा के 'संकल्प पत्र' को बताया एक व्यक्ति की आवाज, कहा बंद कमरे में किया गया तैयार

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के ‘संकल्प पत्र’ को लेकर कांग्रेस हमलावार है। सोमवार कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने संकल्प पत्र पर कई सवाल उठाये थे। वहीं आज कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि यह संकल्प पत्र ‘एक व्यक्ति’ की आवाज है, जिसे एक बंद कमरे में तैयार किया गया है।

Rahul Gandhi Told Bjps Manofesto Voice Of A One Person :

उन्होंने आरोप लगाया कि इस संकल्प पत्र में दूरदर्शिता का अभाव है। राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस का घोषणा पत्र लंबे समय से विचार विर्मश के बाद बनाया गया है। इस घोषणा पत्र में जनता की आवाज शामिल है। कांग्रेस के घोषणा पत्र से जनता को फायदा पहुंचेगा।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा है कि ‘कांग्रेस का घोषणा पत्र​ विचार विर्मश के बाद तैयार किया गया है। इस घोषणा पत्र में दस लाख से ज्यादा भारतीय नागरिकों की आवाज शामिल है। यह समझदारी भरा और प्रभावशाली घोषणा पत्र है।’

राहुल गांधी का आरोप है कि भारतीय जनता पार्टी का घोषण पत्र एक व्यक्ति का है, जो बंद कमरे में बनाया गया है। इसका जनता से कोई सरोकार नहीं है। वहीं सोमवार कांग्रेस के नेता अहमद पटेल और प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने घोषणा पत्र पर कई सवाल उठाये थे।

अहमद पटेल ने कहा था कि भाजपा को घोषणा पत्र नहीं बल्कि माफिनामा जारी करना चाहिए। लोकसभा 2014 में किये गये एक भी वादे को भाजपा ने नहीं पूरा किया है। वहीं कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला का आरोप था कि बीजेपी मुद्दों से लोगों को भटका रही है।

सुरजेवाला ने सवाल उठाया था कि बेरोजगारी, कालाधन, नोटबंदी, जैसे सरकार के पिछले वादों का क्या हुआ। इससे पहले वरिष्ठ कांग्रेसी नेता कपिल सिब्बल ने आरोप लगाया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कभी सच नहीं बोल सकते, इसलिए उनका घोषणापत्र भी झूठा है।

गौरतलब है कि भारतीय जनता पार्टी ने प्रथम चरण चुनाव के तीन दिन पूर्व अपना घोषणा पत्र जारी किया था। इस घोषणा पत्र में युवा, किसान, व्यापारी, राष्ट्रीय सुरक्षा का मुद्दा समेत कई अन्य मुद्दे शामिल थे।

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के 'संकल्प पत्र' को लेकर कांग्रेस हमलावार है। सोमवार कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने संकल्प पत्र पर कई सवाल उठाये थे। वहीं आज कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि यह संकल्प पत्र 'एक व्यक्ति' की आवाज है, जिसे एक बंद कमरे में तैयार किया गया है।

उन्होंने आरोप लगाया कि इस संकल्प पत्र में दूरदर्शिता का अभाव है। राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस का घोषणा पत्र लंबे समय से विचार विर्मश के बाद बनाया गया है। इस घोषणा पत्र में जनता की आवाज शामिल है। कांग्रेस के घोषणा पत्र से जनता को फायदा पहुंचेगा।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा है कि 'कांग्रेस का घोषणा पत्र​ विचार विर्मश के बाद तैयार किया गया है। इस घोषणा पत्र में दस लाख से ज्यादा भारतीय नागरिकों की आवाज शामिल है। यह समझदारी भरा और प्रभावशाली घोषणा पत्र है।'

राहुल गांधी का आरोप है कि भारतीय जनता पार्टी का घोषण पत्र एक व्यक्ति का है, जो बंद कमरे में बनाया गया है। इसका जनता से कोई सरोकार नहीं है। वहीं सोमवार कांग्रेस के नेता अहमद पटेल और प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने घोषणा पत्र पर कई सवाल उठाये थे।

अहमद पटेल ने कहा था कि भाजपा को घोषणा पत्र नहीं बल्कि माफिनामा जारी करना चाहिए। लोकसभा 2014 में किये गये एक भी वादे को भाजपा ने नहीं पूरा किया है। वहीं कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला का आरोप था कि बीजेपी मुद्दों से लोगों को भटका रही है।

सुरजेवाला ने सवाल उठाया था कि बेरोजगारी, कालाधन, नोटबंदी, जैसे सरकार के पिछले वादों का क्या हुआ। इससे पहले वरिष्ठ कांग्रेसी नेता कपिल सिब्बल ने आरोप लगाया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कभी सच नहीं बोल सकते, इसलिए उनका घोषणापत्र भी झूठा है।

गौरतलब है कि भारतीय जनता पार्टी ने प्रथम चरण चुनाव के तीन दिन पूर्व अपना घोषणा पत्र जारी किया था। इस घोषणा पत्र में युवा, किसान, व्यापारी, राष्ट्रीय सुरक्षा का मुद्दा समेत कई अन्य मुद्दे शामिल थे।