राहुल गांधी 11 दिसंबर को बनाए जा सकते हैं कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष

राहुल गांधी 11 दिसंबर को बनाए जा सकते हैं कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष

नई दिल्ली। कांग्रेस ने सोमवार को 10 जनपथ पर पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक बुलाई है। वैसे तो इस बैठक में गुजरात विधानसभा चुनावों को लेकर रणनीति तय किए जाने की चर्चा है, लेकिन सूत्रों की माने तो इस बैठक में पार्टी के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष के चुनाव की रूपरेखा की तैयारी सबसे अहम मुद्दा रहने वाला है। बताया ये तक जा रहा है कि बैठक से पहले ही निर्धारित हो चुका है कि पार्टी 11 दिसंबर को अपने नए राष्ट्रीय अध्यक्ष के शपथ ग्रहण का कार्यक्रम रखने वाली है। जिसमें राहुल गांधी को निर्विरोध राष्ट्रीय अध्यक्ष घोषित किया जाएगा।

मिली जानकारी के मुताबिक पार्टी राहुल गांधी को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने के लिए लोकतांत्रिक तरीके को अपनाने का फैसला किया है। जिसके तहत पार्टी के नेता स्वेच्छा से राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद के लिए 24 नवंबर तक आवेदन कर सकेंगे। यदि इस पद के उम्मीदवारों की संख्या एक से अधिक होती है तो 8 दिसंबर को मतदान करवाया जाएगा। अन्यथा 11 दिसंबर को राहुल गांधी निर्विरोध पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष घोषित कर नई जिम्मेदारियों के लिए शपथ दिलाई जाएगी।

{ यह भी पढ़ें:- करोड़ों का माल खाकर लाल हुए हैं पीएम मोदी इसीलिए दिखते है गोरे और जवां: अल्पेश }

कांग्रेस के भीतर लंबे समय से राहुल गांधी को पार्टी की कमान सौंपे जाने की मांग उठ रही थी। वर्तमान राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी अपने खराब स्वास्थ के चलते पूरी सक्रियता के साथ काम नहीं कर पा रहीं थीं। पार्टी की वर्तमान जरूरत को देखते हुए राहुल गांधी को आगे लाने की मांग उठ रही थी। राहुल गांधी ने भी परिस्थितियों को देखते हुए पार्टी की जिम्मेदारियों गंभीरता से लेना शुरू कर दिया था।

अब राहुल गांधी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने की तैयारियां शुरू होने के साथ कांग्रेस की अंदरूनी राजनीति तेज होने की उम्मीद भी की जाने लगी है। ऐसा कहा जा रहा है कि पार्टी की सीनियर लीडरशिप राहुल गांधी को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने का समर्थन कर तो रही है, लेकिन उनके भीतर पार्टी में अपनी पो​जीशन को बचाये रखने का डर भी है। सोनिया गांधी के करीबियों के तौर पर पहचान रखने वाले ये नेता राहुल गांधी के काम करने के तरीके से कई बार सहमत नहीं होते थे। ऐसे नेताओं को उम्मीद है कि राहुल गांधी की टीम में उन्हें क्या भूमिका मिलेगी और जो भूमिका मिलेगी वह उनकी हैसियत और कद के मुताबिक होगी या फिर उनकी जगह पार्टी में युवा चेहरों को प्रमोशन देकर उन्हें मार्गदर्शक की भूमिका दे दी जाएगी।

{ यह भी पढ़ें:- #CongressPresidentRahulGandhi: राहुल के लिए चुनौतियों की फेहरिस्त है लंबी }

Loading...