1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. BJP और RSS पर राहुल गांधी का हमला, कहा-ये मेरे गुरु की तरह, वो हमें रास्ता दिखा रहे हैं…

BJP और RSS पर राहुल गांधी का हमला, कहा-ये मेरे गुरु की तरह, वो हमें रास्ता दिखा रहे हैं…

जितना वो हमले करते हैं उतनी ही हमें पोजिशन इंप्रूव करने का मौका मिलता है। मैं चाहता हूं कि वो थोड़ा और अग्रेसिविली अटैक करें तो इससे कांग्रेस पार्टी और मुझे फायदा होगा। एक प्रकार से मैं उनको अपना गुरु मानता हूं। एक प्रकार से वो हमें रास्ता दिखा रहे हैं कि क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए?

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) भारत जोड़ो यात्रा का नेतृत्व कर रहे हैं। नए साल से फिर से भारत जोड़ो यात्रा की शुरूआत होगी। शनिवार को राहुल गांधी ने प्रेसवार्ता करके केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। राहुल गांधी ने कहा कि भारत जोड़ो यात्रा देश में बढ़ रही नफरत, डर और हिंसा के खिलाफ है। साथ ही कहा कि भारत जोड़ो यात्रा, देश की आवाज है। इस दौरान उन्होंने भाजपा और आरएसएस पर तंज भी कसा।

पढ़ें :- Forbes Billionaires Index : गौतम अडानी एक हफ्ते में नंबर दो से 16वें पर पहुंचे, हिंडनबर्ग रिपोर्ट की सुनामी जारी

उन्होंने कहा कि जितना वो हमले करते हैं उतनी ही हमें पोजिशन इंप्रूव करने का मौका मिलता है। मैं चाहता हूं कि वो थोड़ा और अग्रेसिविली अटैक करें तो इससे कांग्रेस पार्टी और मुझे फायदा होगा। एक प्रकार से मैं उनको अपना गुरु मानता हूं। एक प्रकार से वो हमें रास्ता दिखा रहे हैं कि क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए?

विपक्ष के नेता हमारे साथ खड़े
प्रेसवार्ता के दौरान राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने कहा कि मैं जानता हूं कि ज्यादातर विपक्ष के नेता हमारे साथ जुड़े हैं। भारत जोड़ो यात्रा के दरवाजे हर उसके लिए खुले हैं जो भारत को जोड़ना चाहता है। विचारधारा में एकरूपता होती है। नफरत, हिंसा और मोहब्बत में एकरूपता नहीं होती। अखिलेश जी और मायावती जी, वो प्यार का हिंदुस्तान चाहते हैं, नफरत का नहीं। तो उनसे रिश्ता तो है।

सुरक्षा मुद्दे पर भी उठाया सवाल
इस दौरान राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने सुरक्षा का भी मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि मैं भारत जोड़ो यात्रा कर रहा हूं। अब सरकार चाहती है कि मैं बुलेटप्रूफ गाड़ी में कन्याकुमारी से कश्मीर जाऊं। ये मेरे लिए स्वीकार्य नहीं है। राहुल ने कहा कि उनके वरिष्ठ नेता जब गाड़ी से बाहर आ जाते हैं तो कोई चिट्ठी नहीं आती है। अपने ही प्रोटोकॉल को वे तोड़ देते हैं। तो क्या उनके लिए प्रोटोकॉल अलग-मेरे लिए अलग। बुलेटप्रूफ गाड़ी में मैं कैसे चलूं। ये शायद केस बना रहे हैं कि राहुल अपनी सिक्योरिटी तोड़ता रहता है।

 

पढ़ें :- Budget 2023: सीएम योगी बोले-बजट से UP की जनता लाभान्वित होने जा रही

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...