1. हिन्दी समाचार
  2. राहुल गांधी का बयान- सैनिटाइजर-मास्क से हटाई जाए GST, ऐसे समय टैक्स वसूलना गलत

राहुल गांधी का बयान- सैनिटाइजर-मास्क से हटाई जाए GST, ऐसे समय टैक्स वसूलना गलत

Rahul Gandhis Statement Gst Be Removed From Sanitizer Mask It Is Wrong To Collect Tax At Such A Time

नई दिल्ली। भारत में कोरोना महामारी की चपेट में आये संक्रमितों की संख्या 17 हजार के पार पंहुच गयी है। सरकार लगातार इससे निपटने के लिए हर प्रयास कर रही है, देश में अभी भी लॉकडाउन जारी है। इस दौरान देश में संक्रमण को रोकने के लिए लोग बड़े पैमाने पर मास्क, सैनिटाइजर और दस्ताने का इस्तेमाल कर रहे हैं। पिछले कुछ समय में इन सामानों की बिक्री काफी बढ़ी है। ऐसे में कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने इन सामानों पर लिए जाने वाले जीएसटी को लेकर सवाल उठाया है।

पढ़ें :- ट्रैक्टर रैली बवालः दिल्ली पुलिस कमिश्नर बोले-हिंसा में शामिल किसी को नहीं छोड़ा जायेगा

राहुल गांधी ने मांग की है कि कोरोना से जूझ रही जनता से सैनिटाइजर, मास्क और दूसरे जरूरी सामानों पर जीएसटी लेना गलत है। राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा कि सरकार को कोरोना के इलाज में काम आने वाले उपकरणों और सामानों को जीएसटी फ्री करना चाहिए।

राहुल ने ट्वीट कर कहा, “कोविड-19 के इस मुश्किल वक्त में हम लगातार सरकार से मांग कर रहे हैं कि इस महामारी के उपचार से जुड़े सभी छोटे-बड़े उपकरण जीएसटी मुक्त किए जाएं बीमारी और गरीबी से जूझती जनता से सैनिटाइजर, साबुन, मास्क, दस्ताने आदि पर जीएसटी वसूलना गलत है। जीएसटी मुक्त कोरोना की मांग पर हम डटे रहेंगे।”

राहुल गांधी ने अपने ट्वीट के साथ एक सूची भी शेयर की है। राहुल की इस लिस्ट के मुताबिक सरकार सैनिटाइजर पर 18 प्रतिशत, मास्क पर 5 प्रतिशत और लिक्विड हैंड वॉश पर 18 प्रतिशत, डायग्नोस्टिक टेस्ट किट पर 5 फीसदी टैक्स लेती है। पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने इन सामानों से जीएसटी हटाने की मांग की है।

बता दें कि राहुल गांधी कोरोना से परेशान जनता के मुद्दों को लगातार उठा रहे हैं। 15 अप्रैल को राहुल ने ट्वीट कर कहा था कि सरकार उन सभी लोगों को अनाज दे, जो लॉकडाउन की वजह से परेशान हैं और जिन्हें भोजन की दिक्कत हो रही है।

पढ़ें :- ट्रैक्टर रैलीः कांग्रेस का आरोप, उपद्रवियों को छोड़ संयुक्त किसान मोर्चा के नेताओं पर दर्ज हो रहा मुकदमा

राहुल ने ट्वीट कर कहा था कि हम सरकार से अपील करते हैं कि इस संकट में आपात काल राशन कार्ड जारी किए जाएं। ये उन सभी के लिए हो जो इस लॉकडाउन में अन्न की कमी से जूझ रहे हैं। लाखों देशवासी बिना राशन कार्ड के पीडीएस का लाभ नहीं उठा पा रहे हैं। अनाज गोदाम में सड़ रहा है जबकि सैकड़ों भूखे पेट इंतजार कर रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...