राहुल गांधी ने किया मजदूर यूनियन की हड़ताल का समर्थन, पश्चिम बंगाल में रेलवे ट्रैक पर मिले चार देसी बम

trade union strike
राहुल गांधी ने किया मजदूर यूनियन की हड़ताल का समर्थन, पश्चिम बंगाल में रेलवे ट्रैक पर मिले चार देसी बम

नई दिल्ली। केंद्र सरकार की नीतियों के विरोध में बुधवार को बुलाए गए श्रमिक संघों के भारत बंद का असर बैंकिंग, परिवहन समेत कई जरूरी सेवाओं पर पड़ सकता है। देश के 10 प्रमुख श्रमिक संघों के आह्वान पर करीब 25 करोड़ लोगों के हड़ताल में शामिल होने की उम्मीद जताई जा रही है। पश्चिम बंगाल में प्रदर्शनकारियों ने हावड़ा और उत्तरी 24 परगना के कांचरापाड़ा में रेलवे ट्रैक को बंद कर दिया है। दरअसल, उत्तर 24 परगना में हृदयपुर स्टेशन के पास रेलवे ट्रैक से पुलिस को चार देसी बम बरामद हुए हैं।

Rahul Supports Trade Union Strike Four Indigenous Bombs Found On Railway Track In West Bengal :

वहीं कांग्रेस नेता और वॉयनाड से सांसद राहुल गांधी ने ट्वीट करके भारत बंद को अपना समर्थन दिया है। उन्होंने ट्वीट में लिखा कि मोदी-शाह सरकार की जनविरोधी, श्रमिक विरोधी नीतियों ने भयावह बेरोजगारी पैदा की है और सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों को कमजोर किया जा रहा है, ताकि इन्हें मोदी के पूंजीपति मित्रों को बेचने को सही ठहराया जा सके। आज 25 करोड़ कामगारों ने इसके विरोध में भारत बंद बुलाया है। मैं उन्हें सलाम करता हूं।

केंद्र सरकार की ‘जन-विरोधी’ नीतियों के खिलाफ हड़ताल के समर्थन में मजदूर संगठनों के साथ ही वामपंथी दलों और कांग्रेस समर्थकों के प्रदर्शनों के चलते पश्चिम बंगाल के कई हिस्सों में सड़क और रेल यातायात बाधित हुआ। हालांकि, पुलिस ने तत्काल वाहनों की आवाजाही सुनिश्चित करने के लिए उन्हें हटा दिया। कोलकाता में सरकारी बसें सामान्य रूप से चल रही हैं।

इसके अलावा तमिलनाडु के चेन्नई में माउंट रोड पर प्रदर्शन जारी है। दस व्यापार संघ ने ‘भारत सरकार की मजदूर विरोधी नीतियों’ के खिलाफ आज भारत बंद का आह्वान किया है। हरियाणा में रोडवेज की यूनियनें भी हड़ताल में शामिल रहीं, जिससे बस सेवाओं पर असर पड़ा। हड़ताल में सरकारी विभागों, बोर्ड, निगमों, विश्वविद्यालयों, नगर निगमों, परिषदों, पालिकाओं, पंचायती राज संस्थाओं, पंचायत समितियों, सहकारी समितियों, केंद्र व राज्य सरकार से संचालित परियोजनाओं में कार्यरत सभी कर्मचारी शामिल हुए।

उधर, मुंबई में भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड के कर्मचारियों ने भारत पेट्रोलियम के रणनीतिक विनिवेश के सरकार के फैसले का विरोध किया। भारत बंद के दौरान सिलिगुड़ी में उत्तर बंगाल राज्य परिवहन निगम का एक बस चालक विरोध-प्रदर्शन के मद्देनजर हेलमेट पहनकर गाड़ी चलाते हुए नजर आया।

नई दिल्ली। केंद्र सरकार की नीतियों के विरोध में बुधवार को बुलाए गए श्रमिक संघों के भारत बंद का असर बैंकिंग, परिवहन समेत कई जरूरी सेवाओं पर पड़ सकता है। देश के 10 प्रमुख श्रमिक संघों के आह्वान पर करीब 25 करोड़ लोगों के हड़ताल में शामिल होने की उम्मीद जताई जा रही है। पश्चिम बंगाल में प्रदर्शनकारियों ने हावड़ा और उत्तरी 24 परगना के कांचरापाड़ा में रेलवे ट्रैक को बंद कर दिया है। दरअसल, उत्तर 24 परगना में हृदयपुर स्टेशन के पास रेलवे ट्रैक से पुलिस को चार देसी बम बरामद हुए हैं। वहीं कांग्रेस नेता और वॉयनाड से सांसद राहुल गांधी ने ट्वीट करके भारत बंद को अपना समर्थन दिया है। उन्होंने ट्वीट में लिखा कि मोदी-शाह सरकार की जनविरोधी, श्रमिक विरोधी नीतियों ने भयावह बेरोजगारी पैदा की है और सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों को कमजोर किया जा रहा है, ताकि इन्हें मोदी के पूंजीपति मित्रों को बेचने को सही ठहराया जा सके। आज 25 करोड़ कामगारों ने इसके विरोध में भारत बंद बुलाया है। मैं उन्हें सलाम करता हूं। https://twitter.com/RahulGandhi/status/1214756142494048261 केंद्र सरकार की 'जन-विरोधी' नीतियों के खिलाफ हड़ताल के समर्थन में मजदूर संगठनों के साथ ही वामपंथी दलों और कांग्रेस समर्थकों के प्रदर्शनों के चलते पश्चिम बंगाल के कई हिस्सों में सड़क और रेल यातायात बाधित हुआ। हालांकि, पुलिस ने तत्काल वाहनों की आवाजाही सुनिश्चित करने के लिए उन्हें हटा दिया। कोलकाता में सरकारी बसें सामान्य रूप से चल रही हैं। इसके अलावा तमिलनाडु के चेन्नई में माउंट रोड पर प्रदर्शन जारी है। दस व्यापार संघ ने 'भारत सरकार की मजदूर विरोधी नीतियों' के खिलाफ आज भारत बंद का आह्वान किया है। हरियाणा में रोडवेज की यूनियनें भी हड़ताल में शामिल रहीं, जिससे बस सेवाओं पर असर पड़ा। हड़ताल में सरकारी विभागों, बोर्ड, निगमों, विश्वविद्यालयों, नगर निगमों, परिषदों, पालिकाओं, पंचायती राज संस्थाओं, पंचायत समितियों, सहकारी समितियों, केंद्र व राज्य सरकार से संचालित परियोजनाओं में कार्यरत सभी कर्मचारी शामिल हुए। उधर, मुंबई में भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड के कर्मचारियों ने भारत पेट्रोलियम के रणनीतिक विनिवेश के सरकार के फैसले का विरोध किया। भारत बंद के दौरान सिलिगुड़ी में उत्तर बंगाल राज्य परिवहन निगम का एक बस चालक विरोध-प्रदर्शन के मद्देनजर हेलमेट पहनकर गाड़ी चलाते हुए नजर आया।