राहुल का पीएम मोदी पर निशाना कहा ‘लॉकडाउन असंगठित वर्ग के लिए मृत्युदंड जैसा साबित हुआ’

rahul gandhi

नई दिल्ली। कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर साधा निशाना साधा है। राहुल गांधी ने बुधवार को एक वीडियो जारी करते हुए दावा किया है कि कोरोना संकट के कारण देश में लेगे अचानक लॉकडाउन से देश के युवाओं के भविष्य, गरीबों और असंगठित अर्थव्यवस्था पर आक्रमण था।

Rahuls Attack On Pm Modi Said Lockdown Proved To Be Death Penalty For Unorganized Class :

राहुल गांधी ने वीडियो जारी करते हुए कहा कि इस आक्रमण के खिलाफ लोगों विरोध करनाा चाहिए। राहुल ने ट्वीट करते हुए आरोप लगाया है कि यह लॉकडाउन देश के असंगठित वर्ग के लिए मृत्युदंड साबित हुआ। राहुल गांधी ने वीडियो में कहा कि ‘कोरोना के नाम पर जो किया गया वो असंगठित क्षेत्र पर तीसरा आक्रमण था। गरीब लोग, छोटे एवं मध्यम कारोबारी रोज कमाते हैं और रोज खाते हैं। लेकिन आपने बिना किसी नोटिस के लॉकडाउन किया, आपने इनके ऊपर आक्रमण किया।’

राहुल गांधी ने दावा किया प्रधानमंत्री जी ने कहा था कि यह लड़ाई 21 दिन की होगी। असंगठित क्षेत्र के रीड़ की हड्डी 21 दिन में ही टूट गई।’ उनके मुताबिक, ‘जब लॉकडाउन के खुलने का समय आया, तो कांग्रेस पार्टी ने एक बार नहीं अनेक बार सरकार से कहा कि गरीबों की मदद करनी ही पड़ेगी, ‘न्याय’ योजना जैसी एक योजना लागू करनी पड़ेगी, बैंक खातों में सीधा पैसा डालना पड़ेगा। लेकिन सरकार ने यह नहीं किया।’

आरोप लगाते हुए पूर्व अध्यक्ष ने कहा, ‘हमने कहा कि लघु एवं मध्यम स्तर के कारोबारों के लिए आप एक पैकज तैयार कीजिए, उनको बचाने की जरूरत है। सरकार ने कुछ नहीं किया, उल्टा सरकार ने सबसे अमीर 15-20 लोगों का लाखों करोड़ों रुपये का कर माफ कर दिया।’ राहुल ने दावा किया कि लॉकडाउन कोरोना पर आक्रमण नहीं था, बल्कि यह हिंदुस्तान के गरीबों, युवाओं के भविष्य, मजदूर किसान और छोटे व्यापारियों तथा असंगठित अर्थव्यवस्था पर आक्रमण था।

नई दिल्ली। कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर साधा निशाना साधा है। राहुल गांधी ने बुधवार को एक वीडियो जारी करते हुए दावा किया है कि कोरोना संकट के कारण देश में लेगे अचानक लॉकडाउन से देश के युवाओं के भविष्य, गरीबों और असंगठित अर्थव्यवस्था पर आक्रमण था। राहुल गांधी ने वीडियो जारी करते हुए कहा कि इस आक्रमण के खिलाफ लोगों विरोध करनाा चाहिए। राहुल ने ट्वीट करते हुए आरोप लगाया है कि यह लॉकडाउन देश के असंगठित वर्ग के लिए मृत्युदंड साबित हुआ। राहुल गांधी ने वीडियो में कहा कि 'कोरोना के नाम पर जो किया गया वो असंगठित क्षेत्र पर तीसरा आक्रमण था। गरीब लोग, छोटे एवं मध्यम कारोबारी रोज कमाते हैं और रोज खाते हैं। लेकिन आपने बिना किसी नोटिस के लॉकडाउन किया, आपने इनके ऊपर आक्रमण किया।' https://twitter.com/RahulGandhi/status/1303551206116130817?s=20 राहुल गांधी ने दावा किया प्रधानमंत्री जी ने कहा था कि यह लड़ाई 21 दिन की होगी। असंगठित क्षेत्र के रीड़ की हड्डी 21 दिन में ही टूट गई।’ उनके मुताबिक, 'जब लॉकडाउन के खुलने का समय आया, तो कांग्रेस पार्टी ने एक बार नहीं अनेक बार सरकार से कहा कि गरीबों की मदद करनी ही पड़ेगी, ‘न्याय’ योजना जैसी एक योजना लागू करनी पड़ेगी, बैंक खातों में सीधा पैसा डालना पड़ेगा। लेकिन सरकार ने यह नहीं किया।' आरोप लगाते हुए पूर्व अध्यक्ष ने कहा, ‘हमने कहा कि लघु एवं मध्यम स्तर के कारोबारों के लिए आप एक पैकज तैयार कीजिए, उनको बचाने की जरूरत है। सरकार ने कुछ नहीं किया, उल्टा सरकार ने सबसे अमीर 15-20 लोगों का लाखों करोड़ों रुपये का कर माफ कर दिया।’ राहुल ने दावा किया कि लॉकडाउन कोरोना पर आक्रमण नहीं था, बल्कि यह हिंदुस्तान के गरीबों, युवाओं के भविष्य, मजदूर किसान और छोटे व्यापारियों तथा असंगठित अर्थव्यवस्था पर आक्रमण था।