राहुल का बयान- आने वाली है देश में आर्थिक सुनामी, सरकार नही पूंछने देती सवाल

rahul gandhi

नई दिल्ली। जहां एक तरफ देश में कोरोना वायरस को लेकर खौफ बढ़ता चला जा रहा है, लगातार मरीजो की संख्या बढ़ रही है, सरकार भी हर तरह से कोरोन वायरस से निपटने के लिए तमाम कोशिशे कर रही है वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष कोरोना वायरस के चलते अर्थव्यवस्था गिरने को लेकर सरकार पर हमले किये जा रहे हैं। एक बार फिर राहुल गांधी ने मंगलवार को केंद्र सरकार पर हमला किया। उन्होंने कहा ‘देश में आर्थिक सुनामी आने वाली है लेकिन सरकार उन्हे सवाल नही पूछने देती, संसद में सरकार का वनवे ट्रैफिक है।’

Rahuls Statement Economic Tsunami Is Coming In The Country The Government Does Not Allow Questions :

आपको बता दें कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने लोकसभा में सोमवार को लोन का मुद्दा उठाया था। राहुल गांधी ने सदन में पूछा था कि सरकार टॉप-50 डिफॉल्टर्स के नाम बताए। इसपर सरकार ने पलटवार किया था कि वेबसाइट पर डिफॉल्टर्स के नाम दिए गए हैं।

बाद में राहुल गांधी ने कहा, ‘मैंने विलफुल डिफॉल्टर्स को लेकर कुछ आसान सवाल पूछे थे लेकिन मुझे स्पष्ट जवाब नहीं मिला। मुझे इस बात का दुख हुआ कि स्पीकर ने मुझे पूरक सवाल पूछने नहीं दिया, जोकि मेरा सांसद के रूप में अधिकार है।’ सरकार की तरफ से वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने जवाब देते हुए कहा कि 2010 से 2014 तक ग्रोस एडवांस दिए गए थे। हमारी सरकार ने इसे कम किया है।

नई दिल्ली। जहां एक तरफ देश में कोरोना वायरस को लेकर खौफ बढ़ता चला जा रहा है, लगातार मरीजो की संख्या बढ़ रही है, सरकार भी हर तरह से कोरोन वायरस से निपटने के लिए तमाम कोशिशे कर रही है वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष कोरोना वायरस के चलते अर्थव्यवस्था गिरने को लेकर सरकार पर हमले किये जा रहे हैं। एक बार फिर राहुल गांधी ने मंगलवार को केंद्र सरकार पर हमला किया। उन्होंने कहा 'देश में आर्थिक सुनामी आने वाली है लेकिन सरकार उन्हे सवाल नही पूछने देती, संसद में सरकार का वनवे ट्रैफिक है।' आपको बता दें कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने लोकसभा में सोमवार को लोन का मुद्दा उठाया था। राहुल गांधी ने सदन में पूछा था कि सरकार टॉप-50 डिफॉल्टर्स के नाम बताए। इसपर सरकार ने पलटवार किया था कि वेबसाइट पर डिफॉल्टर्स के नाम दिए गए हैं। बाद में राहुल गांधी ने कहा, 'मैंने विलफुल डिफॉल्टर्स को लेकर कुछ आसान सवाल पूछे थे लेकिन मुझे स्पष्ट जवाब नहीं मिला। मुझे इस बात का दुख हुआ कि स्पीकर ने मुझे पूरक सवाल पूछने नहीं दिया, जोकि मेरा सांसद के रूप में अधिकार है।' सरकार की तरफ से वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने जवाब देते हुए कहा कि 2010 से 2014 तक ग्रोस एडवांस दिए गए थे। हमारी सरकार ने इसे कम किया है।