नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन करने वालों को राहुल का समर्थन

rahul gandhi
राहुल गांधी बोले- BJP और RSS के DNA में है आरक्षण खत्म करना, हम कभी नही होने देंगे

नई दिल्ली। नगारिकता कानून का विरोध करने वालों को अब राहुल गांधी का भी समर्थन मिलेगा। हालांकि राहुल गांधी सिर्फ शान्तिपूर्ण प्रदर्शन करने वालों का ही समर्थन करेंगे। राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए सरकार पर हमला बोला और लिखा है, ‘कैब और एनआरसी भारत में लोगों के धुव्रीकरण के लिए फासीवादियों के हथियार हैं, उनके खिलाफ बचाव का सर्वश्रेष्ठ तरीका शांतिपूर्ण सत्याग्रह है।’

Rahuls Support To Protesters Against Citizenship Law :

 

दिल्ली की जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी, यूपी की एएमयू और लखनऊ के नदवा के छात्रों द्वारा नागरिक संशोधन कानून के विरोध का मामला तूल पकड़ चुका है। यही नही इसके साथ साथ पूरे देश में कई मुस्लिम संगठनो द्वारा भी प्रदर्शन किया जा रहा है। रविवार शाम दिल्ली के जामिया में हुई घटना के बाद अब राजनीति भी शुरू हो चुकी है। अब राहुल गांधी ने भी ट्वीट कर शांन्ति पूर्ण प्रदर्शन करने वाला का समर्थन कर दिया है।

आपको बता दें कि नागरिकता कानून के खिलाफ जामिया और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के छात्रों के प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा और उस पर हुई पुलिस की कार्रवाई पर अर्जी को सुप्रीम कोर्ट ने संज्ञान में लिया है। इस मामले की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में 17 दिसंबर को होगी। चीफ जस्टिस एएस बोबडे ने कहा, ‘क्योंकि वे छात्र हैं इसका मतलब यह नहीं है कि कानून हाथ में लें। इस मामले पर तभी फैसला जब मामला शांत हो जाएगा, बवाल रुक जाने दीजिए, हम इस हालात में कोई फैसला नहीं दे सकते हैं’।

नई दिल्ली। नगारिकता कानून का विरोध करने वालों को अब राहुल गांधी का भी समर्थन मिलेगा। हालांकि राहुल गांधी सिर्फ शान्तिपूर्ण प्रदर्शन करने वालों का ही समर्थन करेंगे। राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए सरकार पर हमला बोला और लिखा है, 'कैब और एनआरसी भारत में लोगों के धुव्रीकरण के लिए फासीवादियों के हथियार हैं, उनके खिलाफ बचाव का सर्वश्रेष्ठ तरीका शांतिपूर्ण सत्याग्रह है।'   दिल्ली की जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी, यूपी की एएमयू और लखनऊ के नदवा के छात्रों द्वारा नागरिक संशोधन कानून के विरोध का मामला तूल पकड़ चुका है। यही नही इसके साथ साथ पूरे देश में कई मुस्लिम संगठनो द्वारा भी प्रदर्शन किया जा रहा है। रविवार शाम दिल्ली के जामिया में हुई घटना के बाद अब राजनीति भी शुरू हो चुकी है। अब राहुल गांधी ने भी ट्वीट कर शांन्ति पूर्ण प्रदर्शन करने वाला का समर्थन कर दिया है। आपको बता दें कि नागरिकता कानून के खिलाफ जामिया और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के छात्रों के प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा और उस पर हुई पुलिस की कार्रवाई पर अर्जी को सुप्रीम कोर्ट ने संज्ञान में लिया है। इस मामले की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में 17 दिसंबर को होगी। चीफ जस्टिस एएस बोबडे ने कहा, 'क्योंकि वे छात्र हैं इसका मतलब यह नहीं है कि कानून हाथ में लें। इस मामले पर तभी फैसला जब मामला शांत हो जाएगा, बवाल रुक जाने दीजिए, हम इस हालात में कोई फैसला नहीं दे सकते हैं'।