कर्नाटक के मंत्री के ठिकानों पर IT की छापेमारी, रिसॉर्ट में ठहरे थे 44 कांग्रेसी विधायक

बेंगलुरू। आयकर विभाग ने बुधवार सुबह कर्नाटक के बिजली मंत्री डी.के. शिवकुमार के आवास और एक निजी रिसॉर्ट पर छापेमारी की है। छापेमारी के दौरान उनके आवास से पांच करोड़ रुपये बरामद हुए हैं। सूत्रों की मानें तो यह वही रिसॉर्ट है, जिसमें गुजरात से कांग्रेस के 44 विधायकों को ठहराया गया है। वहीं कांग्रेस विधायक एन.रवि के घर पर भी छापेमारी की जा रही है।

ईगलेटन गोल्फ रिसॉर्ट के प्रतिनिधियों ने इस बात की पुष्टि करने से इनकार कर दिया कि क्या रिसॉर्ट के जिन 35 डीलक्स कमरों में शनिवार से गुजरात से कांग्रेस के विधायक ठहरे हुए हैं, वहां छापेमारी की गई या नहीं।

बता दें कि कांग्रेस के 44 विधायकों को अहमदाबाद से बेंगलुरू ले जाकर उन्हें बेंगलुरू से लगभग 30 किलोमीटर दूर बिडाडी के एक आलीशान रिसॉर्ट में ठहराया गया है। प्रत्यक्ष तौर पर इसके पीछे मकसद यही है कि आठ अगस्त को होने वाले राज्यसभा उपचुनाव में कहीं भाजपा कांग्रेस के इन विधायकों को तोड़कर अपनी पार्टी में शामिल करने में कामयाब न हो जाए, जिसमें उनके शीर्ष नेता अहमद पटेल पांचवें कार्यकाल के लिए उम्मीदवार हैं।

कांग्रेस का आरोप है कि इन विधायकों को डराया-धमकाया जा रहा था और उनको अपने पाले में लाने के लिए बीजेपी 15 करोड़ रुपये का ऑफर दे रही थी। यह राज्‍यसभा चुनाव कांग्रेस के लिए इसलिए अहम है क्‍योंकि इसी सीट पर कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार अहमद पटेल पांचवीं बार चुनाव लड़ने जा रहे हैं। अहमद पटेल ने छापेमारी के बारे में कहा कि ये ‘रेड राज’ है।