1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. रेलयात्रियों को अब नहीं उठाना पड़ेगा सामान, रेलवे घर से स्टेशन और स्टेशन से घर तक पहुंचाएगा लगेज

रेलयात्रियों को अब नहीं उठाना पड़ेगा सामान, रेलवे घर से स्टेशन और स्टेशन से घर तक पहुंचाएगा लगेज

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

नई दिल्ली: ट्रेन में सफर करने वाले लोगों के लिए अच्छी खबर है। रेल यात्रियों को अब घर से रेलवे स्टेशन सामान लाने ले जाने की जरूरत नहीं है। रेलवे खुद इसकी व्यवस्था करेगा। देश में सबसे पहले इस सुविधा को अहमदाबाद रेलवे स्टेशन से 23 से 26 जनवरी के बीच शुरू करने की योजना है। इसके बाद बेंगलुरु और नागपुर में इसकी शुरुआत होगी। पूर्वी भारत में पटना पहला जंक्शन होगा, जहां से यह सेवा शुरू होगी।

पढ़ें :- बेसिक शिक्षा विभाग ने निपुण भारत मिशन प्रचार-प्रसार के लिये जारी किये  आवश्यक निर्देश 

इससे ट्रेन से सफर करने वाले यात्रियों को घर से सामान ले जाने या स्टेशन से सामान घर तक पहुंचाने की चिंता से छुटकारा मिल जाएगा। साथ ही कुलियों से रेट को लेकर किचकिच भी नहीं होगी। अब रेलवे ही आपका सामान घर से बर्थ और दूसरे शहर तक पहुंचाएगा। पूर्व मध्य रेल के दानापुर रेल मंडल ने इस नई सुविधा को मंजूरी दी है। सूत्रों के अनुसार दानापुर मंडल से इसे शुरू करने की जिम्मेदारी बुक एंड बैगेज्स डॉट कॉम को मिली है। फरवरी के अंतिम हफ्ते तक पटना में इसकी शुरुआत हो जाएगा।

पटना जंक्शन के निदेशक डॉ नीलेश कुमार ने बताया कि इस योजना की मॉनिटरिंग मंडल के सीनियर अधिकारी खुद कर रहे हैं। पटना जंक्शन पर एजेंसी को रेलवे ने अमानती सामान गृह (क्लॉक रूम) में 300 वर्ग फीट जगह दी है। एजेंसी सेटअप के लिए काम शुरू कर चुकी है। एजेंसी के चंचल घोष ने बताया कि इस सुविधा का नाम एंड टू एंड पैसेंजर बैगेज सर्विस है। सामान बुक करने के लिए एजेंसी एप व वेबसाइट बना रही है।

यात्रियों को एजेंसी के एप और वेबसाइट पर बुकिंग का विकल्प होगा। एप एंड्रायड मोबाइल में डाउनलोड़ करना होगा। बैग के साइज, वजन और दूसरी जानकारी देनी होगी। इसके अनुसार शुल्क लगेगा। शुल्क स्टेशन से दूरी और वजन के हिसाब से तय होगा। इसके लिए अधिकतम दूरी 50 किलोमीटर और सबसे कम रेट 125 रुपए होगा।

10 किमी की दूरी और न्यूनतम 10 किलो के बैग का एक साइड का शुल्क 125 रुपए होगा। बर्थ तक सामान ले जाने के लिए कुली का निर्धारित शुल्क भी लगेगा। एक से अधिक (अधिकतम पांच) लगेज होगा तो पहले लगेज का शुल्क 125 रुपये और बाकी के लिए 50-50 रुपए शुल्क देना होगा। लगेज की रैपिंग और सैनेटाइजेशन की सुविधा भी एजेंसी देगी। जीपीएस सिस्टम से आप अपने सामान की ट्रैकिंग कर सकेंगे। साथ में सामान का बीमा भी मिलेगा।

पढ़ें :- उप्र माध्यमिक संस्कृत शिक्षा परिषद की पूर्व मध्यमा से उत्तर मध्यमा स्तर तक की परीक्षाओं का कैलेण्डर जारी

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...