रेलवे की जनता से अपील, ऐसे लोग न करें ट्रेन से यात्रा

train-3

नई दिल्ली। रेलवे मंत्रलाय द्वारा आज ट्वीट के जरिए जनता से एक अपील की गयी है। कोरोना वायरस महामारी के बीच प्रवासी श्रमिकों को घर पहुंचाने के लिए चलाई जा रही श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में कई लोगों की मौत के बीच रेलवे ने ऐसे लोगों को यात्रा ना करने की सलाह दी है जिन्हें कोरोना से अधिक खतरा है। रेलवे ने पहले से गंभीर बीमारियों से ग्रस्त लोगों, गर्भवती महिलाओं, कम उम्र के बच्चों और बुजुर्गों को यात्रा से बचने की सलाह दी है।

Railway Appeals To The Public People Should Not Travel By Train :

श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में कुछ लोगों की मौत की खबरों के बाद रेलमंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को रेलवे की ओर से ट्विटर पर अपील जारी करते हुए लिखा, ”मेरी सभी नागरिकों से अपील है कि गंभीर रोग से ग्रस्त, गर्भवती महिलाएं, 65 साल से अधिक और 10 साल से कम आयु के व्यक्ति श्रमि स्पेशल ट्रेनों में बहुत आवश्यक होने पर ही यात्रा करें। रेल परिवार यात्रियों की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है।”

रेलवे ने कहा, ”यह देखा जा रहा है कि कुछ ऐसे लोग भी श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से यात्रा कर रहे हैं जो पहले से ही ऐसी बीमारियों से पीड़ित हैं जिनसे कोविड-19 महामारी के दौरान उनके स्वास्थ्य को खतरा बढ़ जाता है। यात्रा के दौरान पूर्व ग्रसित बीमारियों से लोगों की मृत्यु होने के कुछ दुर्भाग्यपूर्ण मामले भी मिल रहे हैं।”

रेलवे ने आगे कहा, ”रेल मंत्रालय अपील करता है कि पूर्व ग्रसित बीमारी (जैसे हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, दिल की बीमारी, कैंसर और कम प्रतिरोधक क्षमता) वाले व्यक्ति, गर्भवती महिलाएं, 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चे और 65 वर्ष के ऊपर के बुजुर्ग अपने स्वास्थ्य और सुरक्षा के लिए जब तक अत्यंत आवश्यक ना हो रेल यात्रा से बचें।”

नई दिल्ली। रेलवे मंत्रलाय द्वारा आज ट्वीट के जरिए जनता से एक अपील की गयी है। कोरोना वायरस महामारी के बीच प्रवासी श्रमिकों को घर पहुंचाने के लिए चलाई जा रही श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में कई लोगों की मौत के बीच रेलवे ने ऐसे लोगों को यात्रा ना करने की सलाह दी है जिन्हें कोरोना से अधिक खतरा है। रेलवे ने पहले से गंभीर बीमारियों से ग्रस्त लोगों, गर्भवती महिलाओं, कम उम्र के बच्चों और बुजुर्गों को यात्रा से बचने की सलाह दी है। https://twitter.com/PiyushGoyal/status/1266225722109988865?s=20 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में कुछ लोगों की मौत की खबरों के बाद रेलमंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को रेलवे की ओर से ट्विटर पर अपील जारी करते हुए लिखा, ''मेरी सभी नागरिकों से अपील है कि गंभीर रोग से ग्रस्त, गर्भवती महिलाएं, 65 साल से अधिक और 10 साल से कम आयु के व्यक्ति श्रमि स्पेशल ट्रेनों में बहुत आवश्यक होने पर ही यात्रा करें। रेल परिवार यात्रियों की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है।'' रेलवे ने कहा, ''यह देखा जा रहा है कि कुछ ऐसे लोग भी श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से यात्रा कर रहे हैं जो पहले से ही ऐसी बीमारियों से पीड़ित हैं जिनसे कोविड-19 महामारी के दौरान उनके स्वास्थ्य को खतरा बढ़ जाता है। यात्रा के दौरान पूर्व ग्रसित बीमारियों से लोगों की मृत्यु होने के कुछ दुर्भाग्यपूर्ण मामले भी मिल रहे हैं।'' रेलवे ने आगे कहा, ''रेल मंत्रालय अपील करता है कि पूर्व ग्रसित बीमारी (जैसे हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, दिल की बीमारी, कैंसर और कम प्रतिरोधक क्षमता) वाले व्यक्ति, गर्भवती महिलाएं, 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चे और 65 वर्ष के ऊपर के बुजुर्ग अपने स्वास्थ्य और सुरक्षा के लिए जब तक अत्यंत आवश्यक ना हो रेल यात्रा से बचें।''