1. हिन्दी समाचार
  2. घाटे में जाने के बाद रेलवे ने उठाया सख्त कदम, कर्मचारियों के वेतन और भत्ते में होगी कटौती

घाटे में जाने के बाद रेलवे ने उठाया सख्त कदम, कर्मचारियों के वेतन और भत्ते में होगी कटौती

Railways Took Stern Steps After Going Into Loss Employees Salaries And Allowances Will Be Cut

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

नई दिल्ली। कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने लाॅकडाउन को 3 मई तक के लिए बढ़ा दिया है। इसी के साथ भारतीय रेलवे ने भी ऐेलान किया था कि लाॅकडाउन हटने तक यात्रियों के लिए सभी ट्रेनें बंद रहेंगी। गौरतलब है कि पहली बार लाॅकडाउन के ऐलान से ही ट्रेन बंद है जिसका रेलवे को खासा नुकसान भी भुगतना पड़ रहा है। वहीं खबर आ रही है कि लाॅकडाउन में नुकसान झेल रहा रेलवे अब अपने कर्मचारियों के भत्ते और वेतन मे कटौती करने की सोच रहा है।

पढ़ें :- नेपाल के पीएम केपी शर्मा ओली को कम्युनिस्ट पार्टी से किया गया बाहर

जी हां मीडिया रिपोर्ट के अनुसार रेल मंत्रालय 13 लाख से ज्यादा अधिकारियों और कर्मचारियों के वेतन व भत्ते में कटौती करने की योजना बना रहा है। रेलवे के अनुसार ड्यूटी करने के लिए कर्मचारियों को भत्ता क्यों दिया जाए। लॉकडाउन की वजह से भारतीय रेलवे पहले ही गंभीर आर्थिक तंगी से गुजर रहा है। बता दें कि इस योजना के चलते ट्रेन ड्राइवर और गार्ड को ट्रेन चलाने पर प्रति किलोमीटर के हिसाब से मिलने वाला भत्ता नहीं दिया जाएगा। टीए, डीए सहित ओवर टाइम ड्यूटी के भत्तों को समाप्त किया जाएगा। ट्रेन ड्राइवर और गार्ड को ट्रेन चलाने पर प्रति किलोमीटर के हिसाब से मिलने वाला भत्ता नहीं दिया जाएगा।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक रेलवे कर्मचारियों के वेतन और भत्ते में 50 फीसदी तक की कटौती की जा सकती है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इस योजना के तहत मरीज देखभाल, किलोमीटर समेत नॉन प्रैक्ट्रिस भत्ता में एक साल तक 50 फीसदी कटौती की जा सकती है। वहीं अगर कर्मचारी एक महीने ऑफिस नहीं आता है, तो परिवहन भत्ता 100 फीसदी कटा जा सकता है। इसके अतिरिक्त बच्चों के पढ़ाई भत्ता के लिए 28 हजार मिलते हैं, जिसकी समीक्षा होनी अभी बाकी है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...