काशी में दिखे कई दिग्गज आमने-सामने, अखिलेश ने फिर साधा मोदी पर निशाना

वाराणसी। उत्तर प्रदेश चुनाव में आज छठे चरण का मतदान सम्पन्न हुआ, इसके बाद सिर्फ आखिरी चरण का मतदान होना हैं। आखिरी चरण के मतदान के लिए सभी पार्टियां वोटबैंक को रिझाने के लिए एड़ी-चोटी का ज़ोर लगा रही है। कहावत भी है, ‘अंत भला तो सब भला।’ इसका नमूना आज काशी नगरी में भी देखने को मिला, जहां भाजपा,कांग्रेस-सपा और बसपा ने अपना- अपना शक्ति प्रदर्शन किया।




पीएम मोदी ने आज पहले रोड शो किया, इसके बाद बीएसपी सुप्रीमों मायावती ने एक जनसभा को संबोधित किया। इसके बाद राहुल गांधी और अखिलेश यादव रोड शो किया, जिसमे अखिलेश की पत्नी डिंपल यादव भी शामिल रही। कांग्रेस और सपा के संयुक्‍त रोड शो में लोगों की जोरदार भीड़ रही, समर्थक राहुल गांधी और अखिलेश यादव के नारे लगते दिखे।

भारी जोश व उत्साह के बीच राहुल-अखिलेश ने अपने समर्थकों का समय समय पर अभिवादन भी किया। रोड-शो जिस रास्‍ते से गुजरा, उन इलाकों में चारों तरफ रोड के दोनों छोर पर सपा-कांग्रेस का पोस्‍टर लगे मिले। जिसमें लिखा हुआ था कि यूपी को यह साथ पसंद है। एक और पोस्‍टर में राहुल-अखिलेश के साथ डिंपल यादव भी नजर आ रही थी। जिसमें लिखा गया है, काम बोलता है।




रोड शो से पहले मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर ज्ञानपुर स्थित पुलिस लाइन के सामने मैदान में हुई सभा में जमकर हमला बोला। उन्‍होंने कहा, वाराणसी में प्रधानमंत्री और उनके तमाम मंत्रियों का जमावडा विधानसभा चुनाव में अपनी जमीन खोने से उपजी उनकी घबराहट को जाहिर कर रहा है। अखिलेश ने ज्ञानपुर स्थित पुलिस लाइन के सामने मैदान में हुई सभा में कहा कि इस उमडे जनसैलाब को जो भी देख लेगा वह यह समझ जाएगा की जनता किसके साथ है। जनता अब सरकार बनाने को इंतजार नहीं करना चाहती।



मुख्यमंत्री ने कहा कि आज प्रधानमंत्री मोदी वाराणसी में रोड शो कर रहे हैं। इसके लिए उनके तमाम मंत्री वाराणसी में कई दिन पहले से डेरा जमाए हुए थे। यह साफ इशारा है कि उन्हें इस क्षेत्र में अपनी जमीन खिसकने का अंदाजा हो गया है और उनकी घबराहट जाहिर हो रही है। सपा अध्यक्ष ने मोदी को चुनौती देते हुए कहा कि उन्होंने तो उत्तर प्रदेश में अपने 10 विकास कार्य तो बता दिये हैं। प्रधानमंत्री केंद्र में अपनी सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश के लिये किये गये 10 काम गिनाएं। हम पांच साल का हिसाब देते हैं और वह तीन साल का हिसाब दे कर बता दें।