‘राजा भैया’ के पिता को पसंद थी हाईटेक कार, ऑर्डर करने के बाद हुआ बड़ा धोखा

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले के कुंडा से विधायक रघुराज प्रताप सिंह ‘राजा भैया’ के पिता के साथ धोखाधड़ी का एक मामला सामने आया है। मुंबई की एक कार कंपनी पर एक करोड़ से ज्यादा की ठगी का आरोप है। आरोप है कि कंपनी ने पूरे पैसे लेने के बाद भी कार डिलीवर नहीं की। राजा भैया के पिता ने इस मामले में धोखाधड़ी की शिकायत दर्ज कराई है।




कुंडा से विधायक रघुराज प्रताप सिंह के पिता उदय प्रताप सिंह ने साल 2015 में मुंबई की कंपनी डीसी मोटर्स डिजायनिंग प्राइवेट लिमिटेड की एक हाईटेक वैन का एड देखा था। उन्होने कार को लेने के लिये कॉल किया, जिसके बाद कंपनी के कर्मचारी स्पंदन सिंह ने कुंडा आकर उनसे संपर्क किया। उदय प्रताप के मुताबिक कंपनी ने कार की डिलीवरी 3 महीने में किये जाने का दावा किया था।




उन्होंने कंपनी के कर्मचारी को 22.5 लाख रुपए एडवांस देकर वैन बुक कर ली। कंपनी को उन्होने किस्तों में पैसे दिये। पहली बार में 22.5 लाख, दूसरी बार में 30 लाख और 7 लाख रुपए दिये। इसके बाद कंपनी के नेशनल प्रभारी त्वरंग वशिष्ठ को 41 लाख 75 हजार रुपए दिए।

उदय प्रताप का आरोप है कि वैन की पूरी कीमत 1.25 करोड़ रुपए लेने के बावजूद अब तक कंपनी ने उन्हें वैन की डिलिवरी नहीं दी है। इस बारे में अब कंपनी की तरफ से भी कोई बात करने को तैयार नहीं है। उदय प्रताप ने कंपनी और उसके मालिक दिलीप छवरिया, सहयोगी स्पंदन सिंह, तरुण वशिष्ठ और निहाल बजाज पर धोखाधड़ी का केस दर्ज करवाया है।