1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. राजा भैया का बड़ा पलटवार, कहा- ‘अखिलेश कुंडा की कुंडी को बंद नहीं कर सकते’

राजा भैया का बड़ा पलटवार, कहा- ‘अखिलेश कुंडा की कुंडी को बंद नहीं कर सकते’

यूपी विधानसभा चुनाव के पांचवें चरण में 27 फरवरी को प्रतापगढ़ की कुंडा सीट हॉट सीट बन गई है। इसकी वजह यह है कि रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया इस सीट पर बतौर निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में लगातार सातवीं बार जीत दर्ज कर एक रिकॉर्ड कायम किया है। यूपी विधानसभा चुनाव 2022 में हो रहे चुनाव में कुंडा सीट से बाहुबली विधायक रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया अपनी जनसत्ता पार्टी के सिंबल पर चुनावी मैदान में हैं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

प्रतापगढ़। यूपी विधानसभा चुनाव के पांचवें चरण में 27 फरवरी को प्रतापगढ़ की कुंडा सीट हॉट सीट बन गई है। इसकी वजह यह है कि रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया इस सीट पर बतौर निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में लगातार छठीं  बार जीत दर्ज कर एक रिकॉर्ड कायम किया है। यूपी विधानसभा चुनाव 2022 में हो रहे चुनाव में कुंडा सीट से बाहुबली विधायक रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया अपनी जनसत्ता पार्टी के सिंबल पर चुनावी मैदान में हैं।

पढ़ें :- ओवैसी का मोदी सरकार पर तंज, बोले- देश में महंगाई के लिए BJP नहीं बल्कि मुगल जिम्मेदार

हाल में सपा प्रमुख अखिलेश यादव के कुंडा को लेकर रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया की गई टिप्पणी पर बड़ा पलटवार किया है। राजा भैया ने कहा कि अखिलेश ने कुंडा की जनता के लिए अपशब्दों का प्रयोग किया है। रघुराज प्रताप सिंह ने कहा कि कुंडा देश विदेश में प्रसिद्ध है, क्योंकि यहां की जनता हमें बहुत प्यार और दुलार करती है। उन्होंने अखिलेश यादव के कुंडा को लेकर की गई टिप्पणी पर कहा कि अखिलेश यादव ने कुंडा की जनता के लिए अपशब्दों का प्रयोग किया है कि वो ‘कुंडा की कुंडी बंद कर देंगे’। मैं अखिलेश यादव को इतना कहना चाहता हूं कि वह कुंडा की कुंडी को बंद नहीं कर सकते हैं। अखिलेश यादव क्यों नाराज़ हैं ये वो जानें, इसपर मैं कुछ नहीं कहना चाहता। मैंने किसी के बारे में अपशब्द नहीं कहे हैं।

पढ़ें :- हमारे सहयोगी कहां से ऑपरेट हो रहे कुछ पता नहीं, ओमप्रकाश राजभर पर अखिलेश यादव ने साधा निशाना

रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया ने रोड शो के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर साधा निशाना साधते हुए कहा कि धरती पे कोई अभी माई का लाल पैदा नहीं हुआ जो कुण्डा में कुंडी लगा सके। राजा भैया ने कहा कि धैर्य की परीक्षा न लें चुनाव,चुनाव की तरह लड़िये। उन्होंने कहा कि सात पीढ़ी लग जाए तो यहां कुंडी नहीं लगा लगाय सकते हैं। गलतफहमी दूर कर लीजिए सरकार न बनती रही है और हमीं बनाएंगें। राजभैया ने कहा​ कि हम चाहतें हैं कि कुण्डा के चुनाव शांतिपूर्ण निपट जाए अपने क्षेत्र के बदनामी न हो।
राजा भैया के अखिलेश पर पलटवार से जनसत्ता कार्यकर्ताओं में जोश बढ़ाया।

अपनी जीत को लेकर आश्वस्त हैं राजा भैया

राजा भैया इस बार भी चुनावों में अपनी जीत को लेकर आश्वस्त हैं। उन्होंने कहा कि 2017 में जनता ने नारा दिया था कि जीत का अंतर एक लाख से ज़्यादा होगा, तो वही करके दिखाया है। इस बार जनता का नारा है कि जीत का अंतर डेढ़ लाख होगा, तो वहीं होकर रहेगा। उन्होंने कहा कि मैं 6 बार से लगातार विधायक हूं और हर बार जनता के प्यार और स्नेह के कारण जीत का अंतर बढ़ता है। आरी के बिना कोई भी मिस्त्री कुर्सी नहीं बना सकता उन्होंने आगे कहा कि चाहें किसी की भी सरकार बने, उससे मुझे मंत्री नहीं बनना है क्योंकि मैं कई बार रह चुका हूं। मुझे अच्छी तरह पता हैं कैसे काम करना है? कैसे काम होते हैं और कैसे काम कराए जाते हैं? अभी हमारी पार्टी नई है। इस बार हम 18 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ रहें हैं। उम्मीद है कि हम ज़्यादा से ज़्यादा सीटें जीतेंगे। हमारा चुनाव चिन्ह ‘आरी’ हैं और आरी के बिना कोई भी मिस्त्री कुर्सी नहीं बना सकता है।

गठबंधन चुनाव के बाद गठबंधन को लेकर उन्होंने कहा कि ‘गठबंधन चुनाव से पहले होता है। हमने किसी भी बड़े दल से गठबंधन नहीं किया है। जबकि इस बार चुनाव में, हर छोटे दल ने किसी न किसी बड़े दल के साथ गठबंधन किया है। चुनाव बाद जो भी परिस्थिति बनती है, उस पर अपने दल में चर्चा करने के बाद ही हम यह तय करेंगे हमें किस तरफ जाना है। ‘लोगों को हम पर विश्वास है’ उन्होंने कहा कि प्रतापगढ़ के बाहर भी, जब भी किसी दूसरी पार्टी के व्यक्ति ने मुझसे चुनाव में कोई मदद मांगी है, तो हमने मदद की है। क्योंकि लोगों को हम पर विश्वास है. वही विश्वास हमें जनता पर भी है। प्रतापगढ़ की एक संस्कृति है। यह यहां के संस्कार हैं कि यहां के लोग प्यार और स्नेह के साथ मिलते हैं और अतिथि सत्कार करते हैं।

बता दें कि अखिलेश यादव ने गुरुवार को प्रतापगढ़ में एक जनसभा को संबोधित किया था। इस दौरान अखिलेश यादव ने पीएम मोदी और सीएम योगी के साथ-साथ, राजा भैया पर भी जमकर हमला बोला था। उन्होंने कहा था कि कुंडा में बदलाव होगा, यहां अन्याय की सभी सीमा लांघ दी गई हैं। उन्होंने राजा भैया का बिना नाम लिए कहा था यहां पर जो लोग लागतार जीत रहे हैं, क्या उनके लिए कुंडी लगाओगे की नहीं लगाओगे, ऐसी कुंडी लगाना की खोल न पाएं। कुंडा विधानसभा सीट से करीब 15 साल बाद राजा भैया के खिलाफ सपा ने उम्मीदवार उतारा है। समाजवादी पार्टी ने गुलशन यादव को प्रत्याशी बनाया है जो राजा भैया के पुराने सहयोगी रहे हैं।

पढ़ें :- सपा ने शुरू किया सदस्यता अभियान, अखिलेश बोले-लोकतंत्र बचाने के लिए लेंगे जनता से सहयोग

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...