राजस्थान: जयपुर में एक व्यक्ति ने 126 लोगों को किया कोविड-19 संक्रमित

Jaipur
राजस्थान: जयपुर में एक व्यक्ति ने 126 लोगों को किया कोविड-19 संक्रमित

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के चलते पूरे देश में लॉकडाउन चल रहा है। राजस्थान में भी कोराना का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है। राजधानी जयपुर का रामगंज कोरोना वायरस का नया हॉटस्पॉट बन गया है। यहां कोरोना का पहला मामला इटली नागरिक के तौर पर दो मार्च को सामने आया था। 25 मार्च तक यहां केवल आठ लोग कोरोना संक्रमण की चपेट में थे। हालांकि इसके बाद 26 मार्च से आठ अप्रैल तक संक्रमितों की संख्या 129 पर पहुंच गई। इसमें अकेले जयपुर के रामगंज कस्बे में 126 मामले हैं। जिसके लिए केवल एक शख्स जिम्मेदार है।

Rajasthan 126 People Infected Kovid 19 By One Person In Jaipur :

दरअसल, 45 साल का यह शख्स 12 मार्च को ओमान से लौटा था। दिल्ली हवाई अड्डे पर उसके अंदर कोरोना के कोई लक्षण नहीं मिले थे जिसके बाद उसे जाने दिया गया। जब स्वास्थ्यकर्मियों को इसकी जानकारी मिली तो वह उसके घर पहुंचे और उसे 14 दिनों तक क्वारंटाइन (एकांतवास) में रहने की हिदायत दी गई।

हालांकि शख्स ने इस हिदायत को अनसुना कर दिया। वह अपने रिश्तेदारों, परिजनों और दोस्तों से मिलता रहा। 26 मार्च को उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। तब तक वह 200 लोगों से मिल चुका था। 24 घंटे बाद उसके दोस्त की रिपोर्ट भी पॉजिटिव निकली। इसके बाद मामले बढ़ने का जो सिलसिला शुरू हुआ वह थमा नहीं। आज राजस्थान में कोरोना के 26 नए मामले सामने आए हैं।

राजस्थान में कोरोना वायरस से संक्रमित 65 वर्षीय एक बुजुर्ग महिला की मौत हो गई है और राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण के शुक्रवार को 26 नए मामले सामने आने के साथ ही संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 489 हो गई है।

एक अधिकारी ने बताया, ‘जयपुर के रामगंज की 65 साल की एक महिला को बुधवार को एसएमएस अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। उन्हें निमोनिया के साथ-साथ उच्च रक्तचाप की शिकायत थी। वह कोरोना वायरस से संक्रमित थीं और उन्हें वेंटीलेटर पर रखा गया था। उनकी गुरुवार को मौत हो गई।’

जयपुर के रामगंज इलाके में कोरोना वायरस संक्रमण से यह पहली और शहर में दूसरी मौत है। इससे पहले संक्रमण से पांच अप्रैल को गलता घाट के एक व्यक्ति की मौत हो गई थी। इसके साथ ही राज्य में इस संक्रमण से हुई मौतों की संख्या बढ़कर आठ हो गई है।

अधिकारियों के अनुसार यह महिला उसी रामगंज इलाके की रहने वाली थी जहां जयपुर शहर में कोरोना वायरस संक्रमण के सबसे अधिक मामले आए हैं। इस इलाके में बीते कई दिनों से बेमियादी कर्फ्यू लगा हुआ है।

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के चलते पूरे देश में लॉकडाउन चल रहा है। राजस्थान में भी कोराना का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है। राजधानी जयपुर का रामगंज कोरोना वायरस का नया हॉटस्पॉट बन गया है। यहां कोरोना का पहला मामला इटली नागरिक के तौर पर दो मार्च को सामने आया था। 25 मार्च तक यहां केवल आठ लोग कोरोना संक्रमण की चपेट में थे। हालांकि इसके बाद 26 मार्च से आठ अप्रैल तक संक्रमितों की संख्या 129 पर पहुंच गई। इसमें अकेले जयपुर के रामगंज कस्बे में 126 मामले हैं। जिसके लिए केवल एक शख्स जिम्मेदार है। दरअसल, 45 साल का यह शख्स 12 मार्च को ओमान से लौटा था। दिल्ली हवाई अड्डे पर उसके अंदर कोरोना के कोई लक्षण नहीं मिले थे जिसके बाद उसे जाने दिया गया। जब स्वास्थ्यकर्मियों को इसकी जानकारी मिली तो वह उसके घर पहुंचे और उसे 14 दिनों तक क्वारंटाइन (एकांतवास) में रहने की हिदायत दी गई। हालांकि शख्स ने इस हिदायत को अनसुना कर दिया। वह अपने रिश्तेदारों, परिजनों और दोस्तों से मिलता रहा। 26 मार्च को उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। तब तक वह 200 लोगों से मिल चुका था। 24 घंटे बाद उसके दोस्त की रिपोर्ट भी पॉजिटिव निकली। इसके बाद मामले बढ़ने का जो सिलसिला शुरू हुआ वह थमा नहीं। आज राजस्थान में कोरोना के 26 नए मामले सामने आए हैं। राजस्थान में कोरोना वायरस से संक्रमित 65 वर्षीय एक बुजुर्ग महिला की मौत हो गई है और राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण के शुक्रवार को 26 नए मामले सामने आने के साथ ही संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 489 हो गई है। एक अधिकारी ने बताया, 'जयपुर के रामगंज की 65 साल की एक महिला को बुधवार को एसएमएस अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। उन्हें निमोनिया के साथ-साथ उच्च रक्तचाप की शिकायत थी। वह कोरोना वायरस से संक्रमित थीं और उन्हें वेंटीलेटर पर रखा गया था। उनकी गुरुवार को मौत हो गई।' जयपुर के रामगंज इलाके में कोरोना वायरस संक्रमण से यह पहली और शहर में दूसरी मौत है। इससे पहले संक्रमण से पांच अप्रैल को गलता घाट के एक व्यक्ति की मौत हो गई थी। इसके साथ ही राज्य में इस संक्रमण से हुई मौतों की संख्या बढ़कर आठ हो गई है। अधिकारियों के अनुसार यह महिला उसी रामगंज इलाके की रहने वाली थी जहां जयपुर शहर में कोरोना वायरस संक्रमण के सबसे अधिक मामले आए हैं। इस इलाके में बीते कई दिनों से बेमियादी कर्फ्यू लगा हुआ है।