राजस्थान: मायावती को झटका, कांग्रेस में शामिल हुए सभी 6 विधायक

mayawati
राजस्थान: मायावती को झटका, कांग्रेस में शामिल हुए सभी 6 विधायक

जयपुर। राजस्थान में मायावती को उन्हीं की पार्टी के विधायकों से गहरा झटका लगा है। राजस्थान में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के सभी छह विधायकों ने सोमवार को सत्तारूढ़ दल कांग्रेस का ‘हाथ’ थाम लिया। उन्होंने सोमवार रात कांग्रेस में विलय का पत्र विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी को सौंप दिया। जोशी ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि बसपा के विधायकों ने मुझे पत्र सौंपे हैं।  

Rajasthan Bahujan Samaj Party 6 Mlas Joins Congress :

कांग्रेस में शामिल हुए बीएसपी विधायक जोगिंदर सिंह ने इसपर बात की। उन्होंने बताया कि वे सभी 6 विधायक कांग्रेस में शामिल हो गए हैं। वह बोले, ‘यहां हमारे सामने बहुत सी परेशानियां हैं। एक तरफ हम उनकी सरकार का समर्थन कर रहे हैं और दूसरी तरफ हम उनके खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं।’ जोगिंदर सिंह अवाना ने आगे कहा, ‘ऐसे में अपने क्षेत्र के विकास के बारे में सोचते हुए, अपने लोगों का भला सोचने हुए हमने यह कदम उठाया है।’

बहुजन समाज पार्टी के सभी छह विधायकों ने राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष को इसके संबंध में एक पत्र भी सौंपा। विधानसभा अध्यक्ष सी पी जोशी ने इसकी पुष्टि की।

ये विधायक कांग्रेस में हुए शामिल- राजेन्द्र गुढा (विधायक, उदयपुरवाटी), जोगेंद्र सिंह अवाना (विधायक, नदबई), वाजिब अली (विधायक, नगर), लाखन सिंह मीणा (विधायक, करोली), संदीप यादव (विधायक, तिजारा) और बसपा विधायक दीपचंद खेरिया ने कांग्रेस की सदस्यता ली।

कांग्रेस की सरकार अब बहुमत से छह विधायक ज्यादा हो गई है। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने फोन पर यह जानकारी दी कि राज्य हित में हमने फैसला किया है कि बहुजन समाज पार्टी के सभी 6 विधायकों को कांग्रेस में शामिल कर लिया जाए।

बहुजन समाज पार्टी के विधायक कांग्रेस को अब तक बाहर से समर्थन दे रहे थे। इस बार विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को बहुमत नहीं मिला था। वह 200 विधानसभा सीटों में से 99 पर आकर रुक गई थी, मगर उपचुनाव में 100 का आंकड़ा छुआ था। अब तक सरकार पर तलवार लटकती रहती थी, मगर अब बहुजन समाज पार्टी के सभी 6 विधायकों को कांग्रेस में शामिल कर अशोक गहलोत ने राजस्थान में अपनी स्थिति मजबूत कर ली है।  

जयपुर। राजस्थान में मायावती को उन्हीं की पार्टी के विधायकों से गहरा झटका लगा है। राजस्थान में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के सभी छह विधायकों ने सोमवार को सत्तारूढ़ दल कांग्रेस का 'हाथ' थाम लिया। उन्होंने सोमवार रात कांग्रेस में विलय का पत्र विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी को सौंप दिया। जोशी ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि बसपा के विधायकों ने मुझे पत्र सौंपे हैं।   कांग्रेस में शामिल हुए बीएसपी विधायक जोगिंदर सिंह ने इसपर बात की। उन्होंने बताया कि वे सभी 6 विधायक कांग्रेस में शामिल हो गए हैं। वह बोले, 'यहां हमारे सामने बहुत सी परेशानियां हैं। एक तरफ हम उनकी सरकार का समर्थन कर रहे हैं और दूसरी तरफ हम उनके खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं।' जोगिंदर सिंह अवाना ने आगे कहा, 'ऐसे में अपने क्षेत्र के विकास के बारे में सोचते हुए, अपने लोगों का भला सोचने हुए हमने यह कदम उठाया है।' बहुजन समाज पार्टी के सभी छह विधायकों ने राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष को इसके संबंध में एक पत्र भी सौंपा। विधानसभा अध्यक्ष सी पी जोशी ने इसकी पुष्टि की। ये विधायक कांग्रेस में हुए शामिल- राजेन्द्र गुढा (विधायक, उदयपुरवाटी), जोगेंद्र सिंह अवाना (विधायक, नदबई), वाजिब अली (विधायक, नगर), लाखन सिंह मीणा (विधायक, करोली), संदीप यादव (विधायक, तिजारा) और बसपा विधायक दीपचंद खेरिया ने कांग्रेस की सदस्यता ली। कांग्रेस की सरकार अब बहुमत से छह विधायक ज्यादा हो गई है। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने फोन पर यह जानकारी दी कि राज्य हित में हमने फैसला किया है कि बहुजन समाज पार्टी के सभी 6 विधायकों को कांग्रेस में शामिल कर लिया जाए। बहुजन समाज पार्टी के विधायक कांग्रेस को अब तक बाहर से समर्थन दे रहे थे। इस बार विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को बहुमत नहीं मिला था। वह 200 विधानसभा सीटों में से 99 पर आकर रुक गई थी, मगर उपचुनाव में 100 का आंकड़ा छुआ था। अब तक सरकार पर तलवार लटकती रहती थी, मगर अब बहुजन समाज पार्टी के सभी 6 विधायकों को कांग्रेस में शामिल कर अशोक गहलोत ने राजस्थान में अपनी स्थिति मजबूत कर ली है।