राजस्थान: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने विधानसभा में जीता विश्वास मत, 21 अगस्त तक सदन स्थगित

ashok_gehlot
राजस्थान: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने विधानसभा में जीता विश्वास मत, 21 अगस्त तक सदन स्थगित

जयपुर। राजस्थान में महीनों से जारी खींचतान के बाद आज से विधानसभा के सत्र की शुरुआत हुई। विधानसभा में कांग्रेस ने आज विश्वास मत प्रस्ताव पारित किया। वहीं, अब सीएम अशोक गहलोत के नेतृत्व में राजस्थान सरकार ने विधानसभा में विश्वास मत जीत लिया है।

Rajasthan Chief Minister Ashok Gehlot Won The Trust Vote In The Assembly The House Adjourned Till August 21 :

ध्वनि मत से विश्वास प्रस्ताव पारित किया गया। इसके साथ ही 21 अगस्त तक सदन को स्थगित किया गया है। वहीं, इसके पहले सीएम अशोक गहलोत ने सदन में बहस के दौरान कहा था कि सम्माननीय नेता प्रतिपक्ष को कहना चाहूंगा कि आप चाहे कितनी भी कोशिश कर लो, मैं आपको कहता हूं कि मैं राजस्थान की सरकार को गिरने नहीं दूंगा।

वहीं, सचिन पायलट ने कहा कि आजा सदन के अंदर विश्वास मत को बहुमत से पारित किया गया है और जो अटकलें लगाईं जा रहीं थीं उन्हें विराम मिला है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पहले मैं सरकार का हिस्सा था आज नहीं हूं लेकिन यहां पर कौन कहां बैठता है ये महत्वपूर्ण नहीं है लोगों के दिल और दिमाग में क्या है ये ज्यादा महत्वपूर्ण है। जीवन की आखिरी सांस तक मैं इस प्रदेश के लिए समर्पित हूं।

जयपुर। राजस्थान में महीनों से जारी खींचतान के बाद आज से विधानसभा के सत्र की शुरुआत हुई। विधानसभा में कांग्रेस ने आज विश्वास मत प्रस्ताव पारित किया। वहीं, अब सीएम अशोक गहलोत के नेतृत्व में राजस्थान सरकार ने विधानसभा में विश्वास मत जीत लिया है। ध्वनि मत से विश्वास प्रस्ताव पारित किया गया। इसके साथ ही 21 अगस्त तक सदन को स्थगित किया गया है। वहीं, इसके पहले सीएम अशोक गहलोत ने सदन में बहस के दौरान कहा था कि सम्माननीय नेता प्रतिपक्ष को कहना चाहूंगा कि आप चाहे कितनी भी कोशिश कर लो, मैं आपको कहता हूं कि मैं राजस्थान की सरकार को गिरने नहीं दूंगा। वहीं, सचिन पायलट ने कहा कि आजा सदन के अंदर विश्वास मत को बहुमत से पारित किया गया है और जो अटकलें लगाईं जा रहीं थीं उन्हें विराम मिला है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पहले मैं सरकार का हिस्सा था आज नहीं हूं लेकिन यहां पर कौन कहां बैठता है ये महत्वपूर्ण नहीं है लोगों के दिल और दिमाग में क्या है ये ज्यादा महत्वपूर्ण है। जीवन की आखिरी सांस तक मैं इस प्रदेश के लिए समर्पित हूं।