राजस्थान: विधायक दल की बैठक आज, यह लड़ाई हम जीतेंगे : अशोक गहलोत

ashok_gehlot

नई दिल्ली। राजस्थान में जारी घमासान के बीच सीएम अशोक गहलोत को अब राहत मिली है क्योंकि राज्यपाल ने 14 अगस्त से विधानसभा सत्र शुरू करने के आदेश दे दिए हैं। वहीं, सीएम गहलोत ने अपना पूरा ध्यान बहुमत साबित करने पर लगा दिया है, इसके लिए वह विधायकों को होटल में ही रखेंगे। बहुमत साबित करने के लिए गहलोत कितने उत्साहित हैं, इसका अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि उन्होंने फेयरमॉन्ट होटल में कांग्रेस विधायक दल की बैठक रखी है। बता दें कि, गहलोत के खेमे के सभी विधायक इसी होटल में रुके हुए हैं।

Rajasthan Legislature Party Meeting Today We Will Win This Battle Ashok Gehlot :

बसपा के मामले पर हाईकोर्ट में सुनवाई आज

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने राजस्थान हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। इसके अलावा, पार्टी अपने 6 विधायकों के कांग्रेस में शामिल होने के खिलाफ आज विधानसभा स्पीकर सीपी जोशी के पास अर्जी लगाएगी। पार्टी स्पीकर से मांग करेगी कि उसके विधायकों की सदस्यता को खत्म किया जाए। वहीं, बसपा ने बुधवार को हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी।  इस मामले में भाजपा विधायक मदन दिलावर भी फिर से हाईकोर्ट पहुंचे हैं। दोनों की याचिकाओं पर बुधवार को करीब 1 घंटे सुनवाई हुई। दूसरी तरफ, आज फिर इस मामले में दोपहर दो बजे सुनवाई होगी।

विधानसभा अध्यक्ष ने दायर की विशेष अवकाश याचिका

राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी ने सुप्रीम कोर्ट में ताजा विशेष अवकाश याचिका दायर की। यह याचिका राजस्थान हाईकोर्ट द्वारा सचिन पायलट और 18 अन्य विधायकों के खिलाफ स्पीकर को कार्रवाई नहीं करने के निर्देश को लेकर दायर की गई है।

यह लड़ाई हम जीतेंगे : अशोक गहलोत

गहलोत ने राज्य में जारी राजनीतिक गतिरोध की ओर संकेत करते हुए कहा कि यह लड़ाई हम जीतेंगे। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार स्थायी व मजबूत है। वह कांग्रेस के प्रदेश मुख्यालय में पार्टी के नए प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा द्वारा पदभार ग्रहण करने के अवसर पर पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। गहलोत ने कहा कि केंद्र सरकार के सहयोग से, भाजपा के षड्यंत्र से, धनबल के प्रयोग से राज्य की कांग्रेस सरकार को अस्थिर करने का षड्यंत्र चल रहा है।’ उन्होंने कहा, ‘यह जो माहौल बना है, उससे चिंता करने की जरूरत नहीं है। हमारी सरकार स्थायी और मजबूत है।’

नई दिल्ली। राजस्थान में जारी घमासान के बीच सीएम अशोक गहलोत को अब राहत मिली है क्योंकि राज्यपाल ने 14 अगस्त से विधानसभा सत्र शुरू करने के आदेश दे दिए हैं। वहीं, सीएम गहलोत ने अपना पूरा ध्यान बहुमत साबित करने पर लगा दिया है, इसके लिए वह विधायकों को होटल में ही रखेंगे। बहुमत साबित करने के लिए गहलोत कितने उत्साहित हैं, इसका अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि उन्होंने फेयरमॉन्ट होटल में कांग्रेस विधायक दल की बैठक रखी है। बता दें कि, गहलोत के खेमे के सभी विधायक इसी होटल में रुके हुए हैं।

बसपा के मामले पर हाईकोर्ट में सुनवाई आज

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने राजस्थान हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। इसके अलावा, पार्टी अपने 6 विधायकों के कांग्रेस में शामिल होने के खिलाफ आज विधानसभा स्पीकर सीपी जोशी के पास अर्जी लगाएगी। पार्टी स्पीकर से मांग करेगी कि उसके विधायकों की सदस्यता को खत्म किया जाए। वहीं, बसपा ने बुधवार को हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी।  इस मामले में भाजपा विधायक मदन दिलावर भी फिर से हाईकोर्ट पहुंचे हैं। दोनों की याचिकाओं पर बुधवार को करीब 1 घंटे सुनवाई हुई। दूसरी तरफ, आज फिर इस मामले में दोपहर दो बजे सुनवाई होगी।

विधानसभा अध्यक्ष ने दायर की विशेष अवकाश याचिका

राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी ने सुप्रीम कोर्ट में ताजा विशेष अवकाश याचिका दायर की। यह याचिका राजस्थान हाईकोर्ट द्वारा सचिन पायलट और 18 अन्य विधायकों के खिलाफ स्पीकर को कार्रवाई नहीं करने के निर्देश को लेकर दायर की गई है।

यह लड़ाई हम जीतेंगे : अशोक गहलोत

गहलोत ने राज्य में जारी राजनीतिक गतिरोध की ओर संकेत करते हुए कहा कि यह लड़ाई हम जीतेंगे। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार स्थायी व मजबूत है। वह कांग्रेस के प्रदेश मुख्यालय में पार्टी के नए प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा द्वारा पदभार ग्रहण करने के अवसर पर पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। गहलोत ने कहा कि केंद्र सरकार के सहयोग से, भाजपा के षड्यंत्र से, धनबल के प्रयोग से राज्य की कांग्रेस सरकार को अस्थिर करने का षड्यंत्र चल रहा है।’ उन्होंने कहा, ‘यह जो माहौल बना है, उससे चिंता करने की जरूरत नहीं है। हमारी सरकार स्थायी और मजबूत है।’