राजस्थान: विधायकों को रिजॉर्ट में छिपा रहें हैं गहलोत, बीजेपी ने की फ्लोर टेस्ट की मांग

CM Ashok Gehlot
राजस्थान: सीएम गहलोत ने विधानसभा सत्र बुलाने के लिए राज्यपाल को भेजाा नया प्रस्ताव

नई दिल्ली। राजस्थान में सीएम अशोक गहलोत कुर्सी बचाने में कामयाब होते दिख रहे हैं। उन्होंने मीडिया के सामने 100 से ज्यादा विधायकों की परेड कराई और दावा किया कि उनकी सरकार को कोई खतरा नहीं है। हालांकि विधायकों की संख्या को लेकर भारतीय जनता पार्टी ने गहलोत सरकार पर सवाल खड़े किए हैं।

Rajasthan Mlas Are Hiding In The Resort Gehlot Bjp Demands Floor Test :

बीजेपी आईटी सेल के हेड अमित मालवीय ने कहा कि अगर अशोक गहलोत के पास बहुमत है तो उन्हें तुरंत फ्लोर टेस्ट कराकर अपना बहुमत साबित करना चाहिए। वे अपने विधायकों को रिजॉर्ट में ले जा रहे हैं, जिससे साफ होता है कि उनके पास संख्या नहीं है।

मालवीय ने एक न्यूज एजेंसी के ट्वीट पर रिप्लाई करते हुए कांग्रेस की गहलोत सरकार पर निशाना साधा है। न्यूज एजेंसी ने विधायक दल की बैठक में 107 विधायकों के शामिल होने की बात कही है। वहीं, गहलोत खेमे ने दावा किया कि उनके पास 109 विधायक हैं। यानी बहुमत के आंकड़े 101 से ज्यादा विधायक उनके पास हैं। शक्ति प्रदर्शन के बाद कांग्रेस विधायक दल की बैठक हुई।

इस बैठक में प्रस्ताव पारित हुआ कि कोई भी कांग्रेस का पदाधिकारी, विधायक या मंत्री सरकार के खिलाफ षड्यंत्र में पाया जाता है तो उसके खिलाफ कठोर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। कांग्रेस विधायक दल ने अपना नेता सर्वसम्मति से अशोक गहलोत को माना है। वहीं, प्रियंका गांधी अब सचिन पायलट को मनाने में जुटी हुई हैं।

 

नई दिल्ली। राजस्थान में सीएम अशोक गहलोत कुर्सी बचाने में कामयाब होते दिख रहे हैं। उन्होंने मीडिया के सामने 100 से ज्यादा विधायकों की परेड कराई और दावा किया कि उनकी सरकार को कोई खतरा नहीं है। हालांकि विधायकों की संख्या को लेकर भारतीय जनता पार्टी ने गहलोत सरकार पर सवाल खड़े किए हैं। बीजेपी आईटी सेल के हेड अमित मालवीय ने कहा कि अगर अशोक गहलोत के पास बहुमत है तो उन्हें तुरंत फ्लोर टेस्ट कराकर अपना बहुमत साबित करना चाहिए। वे अपने विधायकों को रिजॉर्ट में ले जा रहे हैं, जिससे साफ होता है कि उनके पास संख्या नहीं है। मालवीय ने एक न्यूज एजेंसी के ट्वीट पर रिप्लाई करते हुए कांग्रेस की गहलोत सरकार पर निशाना साधा है। न्यूज एजेंसी ने विधायक दल की बैठक में 107 विधायकों के शामिल होने की बात कही है। वहीं, गहलोत खेमे ने दावा किया कि उनके पास 109 विधायक हैं। यानी बहुमत के आंकड़े 101 से ज्यादा विधायक उनके पास हैं। शक्ति प्रदर्शन के बाद कांग्रेस विधायक दल की बैठक हुई। इस बैठक में प्रस्ताव पारित हुआ कि कोई भी कांग्रेस का पदाधिकारी, विधायक या मंत्री सरकार के खिलाफ षड्यंत्र में पाया जाता है तो उसके खिलाफ कठोर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। कांग्रेस विधायक दल ने अपना नेता सर्वसम्मति से अशोक गहलोत को माना है। वहीं, प्रियंका गांधी अब सचिन पायलट को मनाने में जुटी हुई हैं।