पुलिसकर्मी ने पत्नी और दो बच्चों समेत की आत्महत्या, पांच पन्नों में लिखी मौत की वजह

पुलिसकर्मी ने पत्नी और दो बच्चों समेत की आत्महत्या, पांच पन्नों में लिखी मौत की वजह
पुलिसकर्मी ने पत्नी और दो बच्चों समेत की आत्महत्या, पांच पन्नों में लिखी मौत की वजह

जयपुर। राजस्थान के नागौर जिले से एक दर्दनाक मामला सामने आया है। यहां के सुरपालिया थाना क्षेत्र में एक पुलिसकर्मी ने अपनी पत्नी व दो बच्चों के साथ सामूहिक आत्महत्या कर ली। सूचना पर पहुंची पुलिस को मौके से पांच पन्नों का सुसाइड नोट मिला है, जिसमें आत्महत्या की वजह लिखी है। इस घटना के बाद पूरे इलाके में दहशत फैल गयी है।

Rajasthan Policeman Hanged Himself With Wife Daughter And Son :

डीडवाना सीओ कार्यालय में तैनात गेनाराम मेघवाल ने पत्नी संतोष, पुत्री सुमित्रा और पुत्र गणपत सिंह के साथ रविवार तड़के करीब 4 बजे सोशल मीडिया पर छह पेज का हाथ से लिखा हुआ सुसाइड नोट डालकर सामूहिक आत्महत्या कर ली। सूचना मिलने पर पुलिस अधीक्षक परिस देशमुख घटना स्थल पर पहुंचे और शवों को नीचे उतरवाया।
पुलिस ने बताया, सिपाही गेनाराम ने सुबह 4 बजे अपने परिचितों को व्हाट्सअप पर अपना सुसाइड नोट शेयर किया था। गेनाराम ने दोषियों को सजा दिलाने की बात भी मैसेज में लिखी थी और उसके बाद पूरे परिवार ने एक साथ आत्महत्या कर ली। सुसाइड नोट में गेनाराम ने नागौर एसपी कार्यालय में लंबे समय से जमे कर्मिकों पर प्रताड़ित करने, धमकाने और मारपीट करने जैसे कई संगीन आरोप लगाते हुए उनको ही पूरे परिवार की मौत का जिम्मेदार बताया है और उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

जयपुर। राजस्थान के नागौर जिले से एक दर्दनाक मामला सामने आया है। यहां के सुरपालिया थाना क्षेत्र में एक पुलिसकर्मी ने अपनी पत्नी व दो बच्चों के साथ सामूहिक आत्महत्या कर ली। सूचना पर पहुंची पुलिस को मौके से पांच पन्नों का सुसाइड नोट मिला है, जिसमें आत्महत्या की वजह लिखी है। इस घटना के बाद पूरे इलाके में दहशत फैल गयी है।डीडवाना सीओ कार्यालय में तैनात गेनाराम मेघवाल ने पत्नी संतोष, पुत्री सुमित्रा और पुत्र गणपत सिंह के साथ रविवार तड़के करीब 4 बजे सोशल मीडिया पर छह पेज का हाथ से लिखा हुआ सुसाइड नोट डालकर सामूहिक आत्महत्या कर ली। सूचना मिलने पर पुलिस अधीक्षक परिस देशमुख घटना स्थल पर पहुंचे और शवों को नीचे उतरवाया। पुलिस ने बताया, सिपाही गेनाराम ने सुबह 4 बजे अपने परिचितों को व्हाट्सअप पर अपना सुसाइड नोट शेयर किया था। गेनाराम ने दोषियों को सजा दिलाने की बात भी मैसेज में लिखी थी और उसके बाद पूरे परिवार ने एक साथ आत्महत्या कर ली। सुसाइड नोट में गेनाराम ने नागौर एसपी कार्यालय में लंबे समय से जमे कर्मिकों पर प्रताड़ित करने, धमकाने और मारपीट करने जैसे कई संगीन आरोप लगाते हुए उनको ही पूरे परिवार की मौत का जिम्मेदार बताया है और उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।