राजस्थान सियासत: BSP विधायकों के मामले में आज सुनवाई, पायलट खेम पर हो रही कार्रवाई की मांग

rajsthan
राजस्थान सियासत: बसपा विधायकों के मामले में आज सुनवाई, पायलट खेम पर हो रही कार्रवाई की मांग

जयपुर। राजस्थन में सियासी उठापटक जारी है। वहां की कांग्रेस सराकर पर सकंट के बादल छाए हुए हैं। हालांकि, सीएम अशोक गहलोत सरकार को बहुमत में होने का दावा कर रहे हैं। वहीं, इस बीच गहलोत गुट ने सचिन पायलट के खेमे पर कार्रवाई की मांग की है। उधर, बसपा विधायकों के मामले में आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी। वहीं, भाजपा विधायक मदन दिलावर ने राजस्थान हाईकोर्ट को आदेश को चुनौती देते हुए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। सूत्रों की माने तो रविवार राजस्थान कांग्रेस के विधायकों की बैठक हुई थी। इस बैठक में सचिन पायलट के खेमे पर कार्रवाई की मांग की है। प्रदेश कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडे ने कहा कि वह पार्टी आलाकमान के सामने बागी विधायकों की वकालत नहीं करेंगे।

Rajasthan Politics Hearing Today In The Case Of Bsp Mlas Demand For Action On Pilot Camp :

बीजेपी विधायक पहुंचे SC
वहीं, बीजेपी विधायक दिलावर ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है। इस याचिका में उन्होंने कहा है कि हाईकोर्ट ने बसपा विधायकों के कांग्रेस में शामिल होने को लेकर कोई आदेश नहीं दिया है और ना ही रोक लगाई है। बसपा ने भी इस मामले को हाईकोर्ट से सुप्रीम कोर्ट में भेजने की अपील की है, लेकिन उसकी अर्जी को अभी लिस्ट नहीं किया गया है।

 

जयपुर। राजस्थन में सियासी उठापटक जारी है। वहां की कांग्रेस सराकर पर सकंट के बादल छाए हुए हैं। हालांकि, सीएम अशोक गहलोत सरकार को बहुमत में होने का दावा कर रहे हैं। वहीं, इस बीच गहलोत गुट ने सचिन पायलट के खेमे पर कार्रवाई की मांग की है। उधर, बसपा विधायकों के मामले में आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी। वहीं, भाजपा विधायक मदन दिलावर ने राजस्थान हाईकोर्ट को आदेश को चुनौती देते हुए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। सूत्रों की माने तो रविवार राजस्थान कांग्रेस के विधायकों की बैठक हुई थी। इस बैठक में सचिन पायलट के खेमे पर कार्रवाई की मांग की है। प्रदेश कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडे ने कहा कि वह पार्टी आलाकमान के सामने बागी विधायकों की वकालत नहीं करेंगे। बीजेपी विधायक पहुंचे SC वहीं, बीजेपी विधायक दिलावर ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है। इस याचिका में उन्होंने कहा है कि हाईकोर्ट ने बसपा विधायकों के कांग्रेस में शामिल होने को लेकर कोई आदेश नहीं दिया है और ना ही रोक लगाई है। बसपा ने भी इस मामले को हाईकोर्ट से सुप्रीम कोर्ट में भेजने की अपील की है, लेकिन उसकी अर्जी को अभी लिस्ट नहीं किया गया है।