वीके सिंह व रिजिजु के विवादित बयानों पर राजनाथ सिंह ने जताई असहमति, लगाई फटकार

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री वीके सिंह और किरण रिजिजु के विवादित बयानों पर राजनीतिक गलियारों की बढ़ी हलचल को देखते हुए शुक्रवार को केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने दोनों ही मंत्रियों को कड़ी फटकार लगाई है। राजनाथ सिंह ने इन मंत्रियों के बयानों पर असहमति जताते हुए कहा कि जो लोग सत्ता में हैं उन्हे बयान देते वक्त अतिरिक्त सावधानी बरतनी चाहिए। राजनाथ सिंह ने यह जानकारी संवादाताओं से बातचीत करते हुए दिया।

Rajnath Dissents On Vk Singh Rijiju Statement :

राजनाथ सिंह ने कहा कि अगर आप सत्ता पर आसीन हैं तो आप अपने विवादित बयान पर यह कहकर छुटकारा नहीं पा सकते हैं कि आपके बयान को तोड़-मरोड़ कर या दूसरे सरथों में लिया जा रहा है। हम लोगों को अपने विचार रखते समय अधिक सावधानी बरतने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि सत्ताधारी दल के नेता होने के नाते हम लोगों को किसी तरह का बयान देते समय अधिक सतर्क रहने की जरूरत है।

आपको बता दें कि बीते दिनों वीके सिंह ने हरियाणा के फरीदाबाद जिले में स्थित सोनपेड़ गाँव में दो दलित बच्चों को जिंदा जला देने की घटना पर विवादित टिप्पणी करते हुए कहा था कि  अगर कोई किसी कुत्ते पर पत्थर फेंकता है तो इसके लिए सरकार जिम्मेदार नहीं है। उनके इस बयान को लेकर विपक्षी दलों ने आक्रामक रुख अख़्तियार कर लिया है। कांग्रेस ने तो उनसे इस्तीफा मांगने तक की बात कह दिया है।

वहीं रिजिजु दिल्ली के पूर्व उपराज्यपाल के एक बयान पर सहमति जताकर विरोधियों के निशाने पर आ गए हैं। रिजिजु ने बीते बुधवार को कहा था कि उत्तर भारतीय लोगों को नियम तोड़ने में मजा आता है और वे इस पर गर्व महसूस करते हैं। रिजिजु ने कहा था कि मैं दिल्ली के पूर्व उपराज्यपाल के उस बयान से सहमत हूं, जिसमें उन्होंने कहा था कि उत्तर भारतीयों को नियमों की धज्जियां उड़ाने में मजा आता है।

 

 

 

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री वीके सिंह और किरण रिजिजु के विवादित बयानों पर राजनीतिक गलियारों की बढ़ी हलचल को देखते हुए शुक्रवार को केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने दोनों ही मंत्रियों को कड़ी फटकार लगाई है। राजनाथ सिंह ने इन मंत्रियों के बयानों पर असहमति जताते हुए कहा कि जो लोग सत्ता में हैं उन्हे बयान देते वक्त अतिरिक्त सावधानी बरतनी चाहिए। राजनाथ सिंह ने यह जानकारी संवादाताओं से बातचीत करते हुए दिया।

राजनाथ सिंह ने कहा कि अगर आप सत्ता पर आसीन हैं तो आप अपने विवादित बयान पर यह कहकर छुटकारा नहीं पा सकते हैं कि आपके बयान को तोड़-मरोड़ कर या दूसरे सरथों में लिया जा रहा है। हम लोगों को अपने विचार रखते समय अधिक सावधानी बरतने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि सत्ताधारी दल के नेता होने के नाते हम लोगों को किसी तरह का बयान देते समय अधिक सतर्क रहने की जरूरत है।

आपको बता दें कि बीते दिनों वीके सिंह ने हरियाणा के फरीदाबाद जिले में स्थित सोनपेड़ गाँव में दो दलित बच्चों को जिंदा जला देने की घटना पर विवादित टिप्पणी करते हुए कहा था कि  अगर कोई किसी कुत्ते पर पत्थर फेंकता है तो इसके लिए सरकार जिम्मेदार नहीं है। उनके इस बयान को लेकर विपक्षी दलों ने आक्रामक रुख अख़्तियार कर लिया है। कांग्रेस ने तो उनसे इस्तीफा मांगने तक की बात कह दिया है।

वहीं रिजिजु दिल्ली के पूर्व उपराज्यपाल के एक बयान पर सहमति जताकर विरोधियों के निशाने पर आ गए हैं। रिजिजु ने बीते बुधवार को कहा था कि उत्तर भारतीय लोगों को नियम तोड़ने में मजा आता है और वे इस पर गर्व महसूस करते हैं। रिजिजु ने कहा था कि मैं दिल्ली के पूर्व उपराज्यपाल के उस बयान से सहमत हूं, जिसमें उन्होंने कहा था कि उत्तर भारतीयों को नियमों की धज्जियां उड़ाने में मजा आता है।