संसद में बोले राजनाथ सिंह- महिलाओं से अत्याचार के खिलाफ और सख्त कानून बनाने को तैयार

Rajnath Singh
चीन और पाकिस्तान को लेकर लोकसभा में हंगामा, रक्षामंत्री बोले- हमारी सेना हर चुनौती के लिए तैयार

नई दिल्ली। शीतकालीन सत्र के दौरान राज्यसभा में हैदराबाद गैंगरेप का मुद्दा उठा। विपक्षी सांसदों ने दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की। इस दौरान सपा सांसद जया बच्चन ने कहा कि दोषियों की सार्वजनिक लिंचिंग होनी चाहिए। कुछ देशों में ऐसा होता, अब हमारे देश में भी ऐसा होना चाहिए। उन्होंने कहा कि जनता दोषियों को सबक सिखाए। इससे पहले आम आदमी पार्टी सांसद संजय सिंह ने निर्भया गैंगरेप का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि निर्भया के दोषियों को अब तक सजा नहीं हुई है। इस मामले में समय पर कार्रवाई होनी चाहिए।

Rajnath Singh Said In Parliament Ready To Enact More Stringent Laws Against Atrocities Against Women :

जवाब में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सदन में कहा कि घटना से पूरा देश शर्मसार हुआ है। सभी ने कठोर शब्दों में निंदा की है। इसमें जो भी अपराधी हैं उसको कठोर सजा मिले। राजनाथ सिंह ने कहा कि निर्भया कांड के बाद एक कठोर कानून बना था, लेकिन उसके बाद भी जघन्य कृत्य हो रहे हैं। कठोर कानून बनाने को हम तैयार हैं। उन्होंने कहा कि फैसला लोकसभा अध्यक्ष पर छोड़ता हूं, जिस कानून को बनाने की सहमति बनेगी हम उसे बनाने के लिए तैयार हैं।

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि भारत की संसद ऐसी घटनाओं को लेकर हमेशा से चिंतित रही है। सरकार ने भी इस विषय पर कठोर कार्रवाई हो ऐसा सदन को अवगत कराया है। उन्होंने कहा कि हम ऐसे अपराध की एक स्वर से निंदा करते हैं। इस पर चर्चा करने के लिए सारा सदन सहमत है। देश के किसी राज्य में ऐसी घटना की पुनरावृत्ति न हो, हम ऐसी अपेक्षा करते हैं।

बसपा सांसद दानिश अली ने कहा कि इसकी सिर्फ निंदा नहीं करनी चाहिए। इसको राजनीति से नहीं जोड़ना चाहिए। 2015 से अबतक महिलाओं से रेप के मामले लगातार बढ़े हैं। ऐसी घटनाएं पहले भी हुई हैं। हमें राजनीति से ऊपर उठकर बात करनी चाहिए। यूपी के मिर्जापुर से अपना दल सांसद अनुप्रिया पटेल ने कहा कि हम हैदराबाद गैंगरेप की निंदा करते हैं। इस घटना ने देश को शर्मनाक किया है। देश की आधी आबादी सुरक्षित नहीं है।हमें अब चुप नहीं रहना है।

नई दिल्ली। शीतकालीन सत्र के दौरान राज्यसभा में हैदराबाद गैंगरेप का मुद्दा उठा। विपक्षी सांसदों ने दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की। इस दौरान सपा सांसद जया बच्चन ने कहा कि दोषियों की सार्वजनिक लिंचिंग होनी चाहिए। कुछ देशों में ऐसा होता, अब हमारे देश में भी ऐसा होना चाहिए। उन्होंने कहा कि जनता दोषियों को सबक सिखाए। इससे पहले आम आदमी पार्टी सांसद संजय सिंह ने निर्भया गैंगरेप का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि निर्भया के दोषियों को अब तक सजा नहीं हुई है। इस मामले में समय पर कार्रवाई होनी चाहिए। जवाब में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सदन में कहा कि घटना से पूरा देश शर्मसार हुआ है। सभी ने कठोर शब्दों में निंदा की है। इसमें जो भी अपराधी हैं उसको कठोर सजा मिले। राजनाथ सिंह ने कहा कि निर्भया कांड के बाद एक कठोर कानून बना था, लेकिन उसके बाद भी जघन्य कृत्य हो रहे हैं। कठोर कानून बनाने को हम तैयार हैं। उन्होंने कहा कि फैसला लोकसभा अध्यक्ष पर छोड़ता हूं, जिस कानून को बनाने की सहमति बनेगी हम उसे बनाने के लिए तैयार हैं। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि भारत की संसद ऐसी घटनाओं को लेकर हमेशा से चिंतित रही है। सरकार ने भी इस विषय पर कठोर कार्रवाई हो ऐसा सदन को अवगत कराया है। उन्होंने कहा कि हम ऐसे अपराध की एक स्वर से निंदा करते हैं। इस पर चर्चा करने के लिए सारा सदन सहमत है। देश के किसी राज्य में ऐसी घटना की पुनरावृत्ति न हो, हम ऐसी अपेक्षा करते हैं। बसपा सांसद दानिश अली ने कहा कि इसकी सिर्फ निंदा नहीं करनी चाहिए। इसको राजनीति से नहीं जोड़ना चाहिए। 2015 से अबतक महिलाओं से रेप के मामले लगातार बढ़े हैं। ऐसी घटनाएं पहले भी हुई हैं। हमें राजनीति से ऊपर उठकर बात करनी चाहिए। यूपी के मिर्जापुर से अपना दल सांसद अनुप्रिया पटेल ने कहा कि हम हैदराबाद गैंगरेप की निंदा करते हैं। इस घटना ने देश को शर्मनाक किया है। देश की आधी आबादी सुरक्षित नहीं है।हमें अब चुप नहीं रहना है।