कुरुक्षेत्र NIT दीक्षांत समारोह में बोले राजनाथ सिंह-आतंकियों के पास ज्ञान लेकिन संस्कार नहीं

rajnath singh
कुरुक्षेत्र NIT दीक्षांत समारोह में बोले राजनाथ सिंह-आतंकियों के पास ज्ञान लेकिन संस्कार नहीं

कुरुक्षेत्र। राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (NIT) कुरुक्षेत्र के 17वें दीक्षांत समारोह में शिरकत करने रक्षामंत्री राजनाथ सिंह पहुंचे हैं। अपने संबोधन में रक्षामंत्री ने कहा कि हमारे लिए गैरव की बात है कि हरियाणा राज्य के लगभग हर गांव का व्यक्ति सेना में है। उन्होंने कहा कि जीवन में ज्ञान से ज्यादा संस्कार जरूरी है।

Rajnath Singh Terrorists Have No Knowledge But Rites At Kurukshetra Nit Convocation :

राजनाथ सिंह ने कहा कि आंतकवादियों के पास भी ज्ञान होता है, लेकिन संस्कार नहीं होता है। उन्होंने कहा कि आतंकवादी अशिक्षित नहीं हैं, वे ग्रुजेएट हैं और उनके पास तकनीकी डिग्रियां भी हैं। उनके अंदर संस्कारों की कमी है, जिसके चलते वो लोगों को मारते हैं। रक्षा मंत्री ने कहा कि शिक्षा से अधिक संस्कारों की जरूरत होती है, नहीं तो शिक्षित आतंकवादी भी होता है।

वह संस्कारों के बिना हत्या करने लग जाता है और छोटे मन वाला व्यक्ति कभी आगे नहीं बढ़ पाता। व्यक्ति के लिए चरित्र बड़ा होना चाहिए। उन्होंने कहा कि भारत हमेशा चरित्र को प्राथमिकाता देता है। उन्होंने कहा कि हरियाणा के हर गांव से सैनिक या अधिकारी हैं। देश ही नहीं हरियाणा के लोगों ने विश्व का नाम रोशन किया है।

कुरुक्षेत्र। राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (NIT) कुरुक्षेत्र के 17वें दीक्षांत समारोह में शिरकत करने रक्षामंत्री राजनाथ सिंह पहुंचे हैं। अपने संबोधन में रक्षामंत्री ने कहा कि हमारे लिए गैरव की बात है कि हरियाणा राज्य के लगभग हर गांव का व्यक्ति सेना में है। उन्होंने कहा कि जीवन में ज्ञान से ज्यादा संस्कार जरूरी है। राजनाथ सिंह ने कहा कि आंतकवादियों के पास भी ज्ञान होता है, लेकिन संस्कार नहीं होता है। उन्होंने कहा कि आतंकवादी अशिक्षित नहीं हैं, वे ग्रुजेएट हैं और उनके पास तकनीकी डिग्रियां भी हैं। उनके अंदर संस्कारों की कमी है, जिसके चलते वो लोगों को मारते हैं। रक्षा मंत्री ने कहा कि शिक्षा से अधिक संस्कारों की जरूरत होती है, नहीं तो शिक्षित आतंकवादी भी होता है। वह संस्कारों के बिना हत्या करने लग जाता है और छोटे मन वाला व्यक्ति कभी आगे नहीं बढ़ पाता। व्यक्ति के लिए चरित्र बड़ा होना चाहिए। उन्होंने कहा कि भारत हमेशा चरित्र को प्राथमिकाता देता है। उन्होंने कहा कि हरियाणा के हर गांव से सैनिक या अधिकारी हैं। देश ही नहीं हरियाणा के लोगों ने विश्व का नाम रोशन किया है।