पति ने नवजात सहित पत्नी को घर से निकाला

जोधपुर। तीन बार तलाक के मुद्दे पर पूरे देश में जारी बहस के बीच पति-पत्नी के पवित्र रिश्ते को जोधपुर के लोगों ने बीच राह सड़क पर तार-तार होते देखा। यह पवित्र रिश्ता किसी कटार से नहीं बल्कि पति के मुंह से तीन बार निकले तलाक से समाप्त हो गया। जोधपुर के एक युवक ने नौ वर्ष पुरानी शादी को मंगलवार देर शाम अपने घर के बाहर चले ड्रामे के बाद बीच सड़क पर तीन बार तलाक-तलाक-तलाक बोल कर समाप्त कर दिया। जोधपुर के शास्त्री नगर क्षेत्र में रहने वाले इरफान की शादी नौ वर्ष पूर्व जोधपुर की ही फरहा नाम की युवती के साथ हुई थी। वर्षो तक साथ में रहने के बावजूद दोनों के कोई बच्चा नहीं हुआ।




सात साल बाद दोनों के एक लड़की हुई। यहीं से उनके रिश्तों में खटास शुरू हो गई। इरफान को लड़के की चाह थी, लेकिन पैदा हो गई लड़की। इसके बाद दोनों के रिश्तों में तनाव रहने लगा, कई बार झगड़े भी हुए लेकिन मान-मनुहार कर फरहा अपने ससुराल में जमी रही। कुछ दिन पूर्व ससुराल वालों ने फरहा को एक शादी में भेजा। शादी से वापस आने पर उसके लिए ससुराल के दरवाजे बंद कर दिए गए। साथ ही फरहा से कह दिया गया कि वापस आने का प्रयास किया तो तीन बार तलाक बोल रिश्ता समाप्त कर दिया जाएगा। इसके बावजूद गोद में अपनी बेटी को ले मंगलवार शाम फरहा अपने ससुराल पहुंची तो ससुराल वालों ने घर के बाहर ताला लगा उसे निकाल दिया।



फरहा भी अपनी बच्ची को लेकर वहीं जम गई कि माफी मांग लूंगी लेकिन वापस नहीं जाऊंगी। ससुराल के बाहर फरहा व पति के परिजनों के बीच काफी देर तक घरेलू ड्रामा चला। थोड़ी देर बाद उसका पति इरफान मौके पर पहुंचा और अपनी मां को साथ लेकर सरे राह फरहा को तीन बार तलाक-तलाक-तलाक बोल पीछा छुड़ा लिया। फरहा ने साफ कह दिया कि वह इस तरह दिए गए तलाक को स्वीकार नहीं करेगी। उसने कहा कि वह यहीं पर डटी रहेगी और इस तरह तलाक देने के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद करेगी।