1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. राज्यसभा सांसद संजय सिंह बोले- बीजेपी की आस्था चंदा चोर और प्रॉपर्टी डीलर में, प्रभु श्री राम में नहीं

राज्यसभा सांसद संजय सिंह बोले- बीजेपी की आस्था चंदा चोर और प्रॉपर्टी डीलर में, प्रभु श्री राम में नहीं

अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि ट्रस्ट की ओर से 18.5 करोड़ में खरीदी जमीन पर विवाद तूल पकड़ता जा रहा है। आम आदमी पार्टी के नेता और सांसद संजय सिंह ने कहा कि भाजपा चंदा चोर और प्रॉपर्टी डीलर के पक्ष में खड़ी नजर आ रही है। उन्होंने करोड़ों राम भक्तों से अपील है कि आपकी आस्था श्री राम में है ना कि चंपत राय, मेयर में है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Rajya Sabha Mp Sanjay Singh Said Bjps Faith Is In Donation Thieves And Property Dealers Not In Lord Shri Ram

लखनऊ। अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि ट्रस्ट की ओर से 18.5 करोड़ में खरीदी जमीन पर विवाद तूल पकड़ता जा रहा है। आम आदमी पार्टी के नेता और सांसद संजय सिंह ने कहा कि भाजपा चंदा चोर और प्रॉपर्टी डीलर के पक्ष में खड़ी नजर आ रही है। उन्होंने करोड़ों राम भक्तों से अपील है कि आपकी आस्था श्री राम में है ना कि चंपत राय, मेयर में है।

पढ़ें :- Guru Purnima : देश के शिक्षकों को पीएम मोदी ने किया नमन, बोले- जहां ज्ञान, वहीं है पूर्णता

संजय सिंह ने कहा कि दुर्भाग्य देखिए अब भाजपा ,विश्व हिंदू परिषद और आरएसएस की साख बचाने का ज़िम्मा प्रॉपर्टी डीलर सुल्तान अंसारी के नाज़ुक कंधों पर है।

पढ़ें :- यूपी: सहायक अध्यापकों को CM ने बांटे नियुक्ति पत्र, कहा-2017 से पहले भ​र्तियों में स​​क्रिय हो जाते थे वसूली गैंग

संजय सिंह ने कहा कि चंदा चोरों ने भगवान राम का अपमान किया है। दुनिया भर के हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंची है। ये लोग चोरी किया हुआ पैसा वापस करें और हिंदुओं से माफ़ी मांगें। राम मंदिर निर्माण में तेज़ी लायी जाए। इन्होंने पैसा चोरी कर लिया और इसलिए निर्माण धीमा पड़ गया है। निर्माण तेज किया जाए।

श्री सिंह ने कहा कि भाजपा की आस्था प्रॉपर्टी डील में है न कि श्रीराम में है। उन्होंने कहा कि आज ऐसे कागज दिखा रहा हूं जिससे खुलासा हो जाएगा, मेरे ऊपर और परिवार पर हमले करवाओगे? चंदा चोर को राम भक्त पहचानिए, एग्रीमेंट 18 मार्च 2021 को कैंसिल हो चुका है। पहला पक्ष है- हरीश पाठक और कुसुम पाठक। दूसरा पक्ष जिनमें 9 लोगों के साथ एग्रीमेंट हुआ था।

सांसद संजय सिंह ने कहा कि इच्छाराम सिंह, विश्वप्रताप उपाध्याय, मनीष कुमार, राम तीरथ, बलराम यादव, राजेन्द्र प्रसाद यादव, रवि कुमार दुबे, सुल्तान अंसारी, रवि मोहन, राशिद हुसैन के साथ हरीश पाठक और कुसुम पाठक ने एग्रीमेंट किया था। इस एग्रीमेंट में रवि मोहन तिवारी का नाम नहीं है, रवि मोहन तिवारी को एग्रीमेंट में बाद में शामिल किया गया।

सांसद संजय सिंह ने पूछा कि मेरा बीजेपी और चंपत राय से सवाल है कि रवि मोहन तिवारी और ऋषिकेश उपाध्याय के बीच क्या रिश्ता है? ये रिश्ता क्या कहलाता है? मोदी या योगी के पक्ष में बोलते हैं लेकिन प्रॉपर्टी डीलर का पक्ष क्यों ले रहे हैं, भाजपा की थ्योरी है कि क्या ईमानदार रहने के लिए अविवाहित रहना पड़ेगा?

पढ़ें :- भाजपा के लिए  सत्ता है सेवा और समर्पण : डॉ. दिनेश शर्मा

इससे पहले रविवार को सांसद संजय सिंह ने जमीन खरीद में घोटाले का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था कि मंदिर ट्रस्ट ने उन लोगों से 18 करोड़ रुपये से अधिक में जमीन खरीदी, जिन्होंने इसे महज 2 करोड़ रुपये में खरीदा था। वहीं, अन्य विपक्षी दलों ने भी कथित जमीन घोटाले को लेकर ट्रस्ट पर हमला किया और पूरे मामले की जांच सीबीआई और ईडी से करवाने की मांग की है।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने हमला बोलते हुए कहा कि इस सौदे ने उन श्रद्धालु के विश्वास के साथ धोखा किया है, जिन्होंने अयोध्या में मंदिर निर्माण के लिए पैसे डोनेट किए थे। हालांकि, श्रीरामजन्मभूमि ट्रस्ट के साथ ही बीजेपी भी इन आरोपों को सिरे से खारिज करती रही है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...