1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Rakesh Tikait बोले- 27 नवंबर से किसान गांवों से ट्रैक्टर लेकर दिल्ली के बॉर्डर पर पहुंचेगा

Rakesh Tikait बोले- 27 नवंबर से किसान गांवों से ट्रैक्टर लेकर दिल्ली के बॉर्डर पर पहुंचेगा

Rakesh Tikait said - From November 27, farmers will reach the border of Delhi with tractors from villages भारतीय किसान यूनियन (BKU) के नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने एक बार फिर से केंद्र सरकार (Central Government)  को बड़ी चेतावनी दी है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि केंद्र सरकार (Central Government) के पास 26 नवंबर तक का समय है। उसके बाद 27 नवंबर से किसान गांवों से ट्रैक्टरों से दिल्ली के चारों तरफ आंदोलन स्थलों पर बॉर्डर पर पहुंचेगा। पक्की किलेबंदी (Solid Fortifications) के साथ आंदोलन और आन्दोलन स्थल पर तंबुओं को मजबूत करेगा।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। भारतीय किसान यूनियन (BKU) के नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने एक बार फिर से केंद्र सरकार (Central Government)  को बड़ी चेतावनी दी है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि केंद्र सरकार (Central Government) के पास 26 नवंबर तक का समय है। उसके बाद 27 नवंबर से किसान गांवों से ट्रैक्टरों से दिल्ली के चारों तरफ आंदोलन स्थलों पर बॉर्डर पर पहुंचेगा। पक्की किलेबंदी (Solid Fortifications) के साथ आंदोलन और आन्दोलन स्थल पर तंबुओं को मजबूत करेगा।

पढ़ें :- कोविड मृतकों के परिवारों की कहानियां सच्ची हैं, सरकार के आंकड़े झूठे हैं : राहुल गांधी

किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने कि इससे पहले, यूपी गेट पर किसान आंदोलन स्थल के पास से सीमेंटेड व लोहे के बैरिकेड व कंटीले तार हटने के बाद सरकार को चेताया था। उन्होंने रविवार सुबह ट्वीट कर कहा कि किसानों को अगर बॉर्डर से जबरन हटाने की कोशिश हुई तो देशभर में सरकारी दफ्तरों को गल्ला मंडी बना देंगे। उन्हें अंदेशा है कि किसी साजिश के तहत बिना मांगे माने किसानों को जबरन हटाया जा सकता है। वहीं, एनएच-9 (NH-9) और दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे (Delhi-Meerut Expressway) पर तीसरे दिन भी एंबुलेंस और चार पहिया छोटे वाहन ही निकल पाए।

पढ़ें :- एक साल का लम्बा संघर्ष बेमिसाल,लड़ेंगे जीतेंगे, MSP किसानों का अधिकार : राकेश टिकैत

भाकियू के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी धर्मेंद्र मलिक (Dharmendra Malik) ने कहा कि किसान आंदोलन में यथावत स्थिति बनी रहेगी। जब तक सरकार किसानों की मांगों को नहीं मानती है। तब तक देश का अन्नदाता सड़कों पर बैठकर सरकार के निर्णय का इंतजार करेगा। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार पिछले कई दिनों से किसानों के खिलाफ साजिश रच रही है।

गुरनाम सिंह चढ़ूनी ने सरकार को चेताया, जबरन हटाया तो पीएम के दरवाजे पर मनेगी दिवाली

संयुक्त किसान मोर्चा (United Kisan Morcha) के सदस्य और भारतीय किसान यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष गुरनाम सिंह चढ़ूनी (State President of Bharatiya Kisan Union Gurnam Singh Chadhuni) ने वीडियो वायरल कर सरकार को चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि अगर किसानों को सड़कों से हटाने की कोशिश की तो इस बार दिवाली प्रधानमंत्री के दरवाजे के बाहर मनाई जाएगी।

उन्होंने कहा कि सड़कें खाली करवाने की कोशिश की तो सभी किसान दिल्ली के लिए कूच करेंगे। उन्होंने किसानों से भी कहा कि वह हर समय तैयार रहें। किसी भी समय मैसेज आ सकता है और रात के समय भी दिल्ली कूच करना पड़ सकता है।

पढ़ें :- Kalraj Mishra का बड़ा बयान- कृषि कानूनों को फिर से लागू कर सकती है केंद्र सरकार
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...