गोरखपुर से बीजेपी प्रत्याशी रवि किशन का नामांकन हो सकता है रद्द, जानिए इसके पीछे क्या है कारण

ravi kishan
गोरखपुर से बीजेपी प्रत्याशी रवि किशन का नामांकन हो सकता है रद्द, जानिए इसके पीछे क्या है कारण

गोरखपुर। अमेठी से बीजेपी प्रत्याशी व केन्द्रिय मंत्री स्मृति ईरानी के बाद गोरखपुर से बीजेपी प्रत्याशी रवि किशन की शैक्षिक योग्यता पर सवाल उठने लगा है। कुशीनगर के एक युवक ने जिला निर्वाचन अधिकारी गोरखपुर से रवि किशन की शैक्षिक योग्यता को लेकर शिकायत की है, जिसका परीक्षण कराया जा रहा है। वहीं रवि किशन की शैक्षिक योग्यता को लेकर विपक्ष हमलावार हो गया है और नामांकन रद्द करने की मांग कर रहा है।

Rakvi Kishan Nomination From Gorakhpur Can Be Canceled :

लोकसभा चुनाव 2019 में बीजेपी ने गोरखपुर से भोजपुरी स्टार रवि किशन को चुनावी मैदान में उतारा है। लोकसभा 2014 के चुनाव में रवि किशन ने जौनपुर से चुनाव लड़ा था। इस दौरान उन्होंने नामांकन पत्र में अपनी शैक्षणिक योग्यता स्नातक दर्शाई थी। हालांकि लोकसभा चुनाव 2019 में उन्होंने अपनी शैक्षणिक योग्यता इंटर लिखी है।

कुशीनगर के संतोष कुमार ने इसको लेकर जिला निर्वाचन अधिकारी गोरखपुर के पास अपनी आपत्ति दर्ज कराई है। जिसका परिक्षण कराया जा रहा है। अगर मामला सही पाया जाता है तो फिर रवि किशन का नामांकन पत्र खारिज भी हो सकता है।  शिकायतकर्ता का कहना है कि लोकसभा 2014 में रवि किशन जौनपुर से नामांकन दाखिल करते समय 1992—1993 में रिजवी कॉलेज ऑफ साइंस एंड कॉमर्स, मुंबई से बीकॉम पास दिखाया था।

वहीं 2019 में उन्होंने अपनी शैक्षणिक योग्यता इंटर बताई है। हालांकि शैक्षिक संस्थान का नाम नहीं लिखा है। वहीं इसको लेकर कांग्रेस की शिकायत पर आयोग सुनवाई करने की तैयारी में है। इसके साथ ही आल इंडिया कांग्रेस कमेटी के लीगल, ह्यूमन राइट व जन सूचना अधिकार विभाग ने दिल्ली में मुख्य चुनाव आयुक्त को दिए शिकायती पत्र में गोरखपुर संसदीय सीट से भाजपा प्रत्याशी रवि किशन की प्रत्याशिता रद्द करने की मांग की है।

गोरखपुर। अमेठी से बीजेपी प्रत्याशी व केन्द्रिय मंत्री स्मृति ईरानी के बाद गोरखपुर से बीजेपी प्रत्याशी रवि किशन की शैक्षिक योग्यता पर सवाल उठने लगा है। कुशीनगर के एक युवक ने जिला निर्वाचन अधिकारी गोरखपुर से रवि किशन की शैक्षिक योग्यता को लेकर शिकायत की है, जिसका परीक्षण कराया जा रहा है। वहीं रवि किशन की शैक्षिक योग्यता को लेकर विपक्ष हमलावार हो गया है और नामांकन रद्द करने की मांग कर रहा है। लोकसभा चुनाव 2019 में बीजेपी ने गोरखपुर से भोजपुरी स्टार रवि किशन को चुनावी मैदान में उतारा है। लोकसभा 2014 के चुनाव में रवि किशन ने जौनपुर से चुनाव लड़ा था। इस दौरान उन्होंने नामांकन पत्र में अपनी शैक्षणिक योग्यता स्नातक दर्शाई थी। हालांकि लोकसभा चुनाव 2019 में उन्होंने अपनी शैक्षणिक योग्यता इंटर लिखी है। कुशीनगर के संतोष कुमार ने इसको लेकर जिला निर्वाचन अधिकारी गोरखपुर के पास अपनी आपत्ति दर्ज कराई है। जिसका परिक्षण कराया जा रहा है। अगर मामला सही पाया जाता है तो फिर रवि किशन का नामांकन पत्र खारिज भी हो सकता है।  शिकायतकर्ता का कहना है कि लोकसभा 2014 में रवि किशन जौनपुर से नामांकन दाखिल करते समय 1992—1993 में रिजवी कॉलेज ऑफ साइंस एंड कॉमर्स, मुंबई से बीकॉम पास दिखाया था। वहीं 2019 में उन्होंने अपनी शैक्षणिक योग्यता इंटर बताई है। हालांकि शैक्षिक संस्थान का नाम नहीं लिखा है। वहीं इसको लेकर कांग्रेस की शिकायत पर आयोग सुनवाई करने की तैयारी में है। इसके साथ ही आल इंडिया कांग्रेस कमेटी के लीगल, ह्यूमन राइट व जन सूचना अधिकार विभाग ने दिल्ली में मुख्य चुनाव आयुक्त को दिए शिकायती पत्र में गोरखपुर संसदीय सीट से भाजपा प्रत्याशी रवि किशन की प्रत्याशिता रद्द करने की मांग की है।