राम जेठमलानी लड़ेंगे शहाबुद्दीन का केस

पटना| वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी बाहुबली नेता व पूर्व राजद सांसद शहाबुद्दीन के मामले की 26 सितंबर को सुप्रीम कोर्ट में होने वाली सुनवाई में शहाबुद्दीन के वकील होंगे। कोर्ट ने हत्या के मामले में शहाबुद्दीन को दी गई जमानत को चुनौती देने वाली याचिका पर सोमवार को पूर्व राजद सांसद के नाम नोटिस जारी किया है।




शहाबुद्दीन के एक नजदीकी राजद के एक नेता ने गुरुवार को कहा, “जेठमलानी ने सुप्रीम कोर्ट में शहाबुद्दीन की तरफ से पैरवी करने का आग्रह स्वीकार कर लिया है। जेठमलानी शनिवार को शीर्ष अदालत में शहाबुद्दीन की तरफ से बहस के लिए ‘वकालतनामा’ दर्ज करा सकते हैं।” जेठमलानी बिहार से राजद के राज्यसभा सांसद हैं और लालू प्रसाद के खास हैं। राजद राज्य के गठबंधन सरकार में सहयोगी है।

लालू के छोटे बेटे और बिहार के उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने मीडिया से कहा कि उन्हें नहीं पता कि पार्टी के सांसद जेठमलानी, शहाबुद्दीन के लिए सुप्रीम कोर्ट में पैरवी करने जा रहे हैं। पार्टी के नेताओं के मुताबिक, शहाबुद्दीन को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस उनके सीवान जिले के पैतृक गांव प्रतापपुर में मंगलवार को मिला। शहाबुद्दीन 11 साल बाद भागलपुर केंद्रीय कारागर से जमानत पर रिहा होने के बाद 10 सितम्बर से अपने गांव में हैं।

न्यायमूर्ति पिनाकी चंद्र घोष और न्यायमूर्ति अमिताव राय की खंडपीठ ने सोमवार को पटना उच्च न्यायालय द्वारा शहाबुद्दीन को दी गई जमानत के क्रियान्वयन पर चुनौती देने वाली याचिका पर यह नोटिस जारी किया है।