राम नवमी 2018: राशि के अनुसार करें दान, जानिए राम नवमी से जुड़ी कुछ खास बातें

राम नवमी 2018,राम नवमी,ram navami
राम नवमी 2018: राशि के अनुसार करें दान, जानिए राम नवमी से जुड़ी कुछ खास बातें

लखनऊ। चैत्र नवरात्रि 2018 को 8 दिन बाद यानि 25 मार्च को राम नवमी बड़े धूमधाम से मनाई जाएगी। हिंदुओं में राम नवमी का विशेष महत्त्व होता है। इस दिन को भगवान राम के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है। भगवान राम विष्णु के अवतारों में से एक है। भगवान राम का जन्म चैत्र मास के नवमी तिथि को पुष्य नक्षत्र में हुआ था। यही वजह है कि राम नवमी के दिन बहुत से लोग राम जन्म भूमि दर्शन के लिए जाते हैं। घर में सुख शांति बनाए रखने के लिए बहुत से लोग रामनवमी के दिन घर में रामायण का पाठ करवाते हैं।

Ram Navmi 2018 Importance Of Ram Navami :

राशि के अनुसार इन चीजों का करें दान

मेष राशि- लड्डू और अनार का भोग लगायें।
वृष राशि- रसगुल्ले का भोग लगायें।
मिथुन राशि- 1 किलो काजू की बर्फी और अमरूद चढ़ायें।
कर्क राशि- मावे की बर्फी और नारियल का भोग लगायें।
सिंह राशि- गुड़ एवं बेल का फल चढ़ायें।
कन्या राशि- तुलसी पत्र के साथ नाशपाती या किसी अन्य हरे फल का भोग लगायें।
तुला राशि- कलाकंद और सेब का भोग लगायें।
वृश्चिक राशि- गुड़ की रेवड़ी और गाजर के हलवे का भोग लगायें।यह भी पढ़ें।
धनु राशि- बेसन की बर्फी और लड्डू का भोग लगायें।
मकर राशि- गुलाब जामुन और काले अंगूर का भोग लगायें।
कुंभ राशि- चीकू या ऐसे ही किसी भूरे छिलके वाले फल का भोग लगायें।
मीन राशि- जलेबी और केले का भोग लगायें।

इस शुभ मुहूर्त में करें पूजा

रामनवमी पूजा मुहूर्त: प्रात 11:14 बजे से दोपहर 13:41 तक
अवधि: 2 घंटे 26 मिनट
राम नवमी के दिन पूजा का श्रेष्ठ समय मध्याह्न: दोपहर 12:27
नवमी तिथि प्रारम्भ: 25 मार्च को 8 बजकर 2 मिनट पर
नवमी तिथी समाप्ति: 26 मार्च 05:54 को

लखनऊ। चैत्र नवरात्रि 2018 को 8 दिन बाद यानि 25 मार्च को राम नवमी बड़े धूमधाम से मनाई जाएगी। हिंदुओं में राम नवमी का विशेष महत्त्व होता है। इस दिन को भगवान राम के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है। भगवान राम विष्णु के अवतारों में से एक है। भगवान राम का जन्म चैत्र मास के नवमी तिथि को पुष्य नक्षत्र में हुआ था। यही वजह है कि राम नवमी के दिन बहुत से लोग राम जन्म भूमि दर्शन के लिए जाते हैं। घर में सुख शांति बनाए रखने के लिए बहुत से लोग रामनवमी के दिन घर में रामायण का पाठ करवाते हैं।राशि के अनुसार इन चीजों का करें दानमेष राशि- लड्डू और अनार का भोग लगायें। वृष राशि- रसगुल्ले का भोग लगायें। मिथुन राशि- 1 किलो काजू की बर्फी और अमरूद चढ़ायें। कर्क राशि- मावे की बर्फी और नारियल का भोग लगायें। सिंह राशि- गुड़ एवं बेल का फल चढ़ायें। कन्या राशि- तुलसी पत्र के साथ नाशपाती या किसी अन्य हरे फल का भोग लगायें। तुला राशि- कलाकंद और सेब का भोग लगायें। वृश्चिक राशि- गुड़ की रेवड़ी और गाजर के हलवे का भोग लगायें।यह भी पढ़ें। धनु राशि- बेसन की बर्फी और लड्डू का भोग लगायें। मकर राशि- गुलाब जामुन और काले अंगूर का भोग लगायें। कुंभ राशि- चीकू या ऐसे ही किसी भूरे छिलके वाले फल का भोग लगायें। मीन राशि- जलेबी और केले का भोग लगायें।इस शुभ मुहूर्त में करें पूजारामनवमी पूजा मुहूर्त: प्रात 11:14 बजे से दोपहर 13:41 तक अवधि: 2 घंटे 26 मिनट राम नवमी के दिन पूजा का श्रेष्ठ समय मध्याह्न: दोपहर 12:27 नवमी तिथि प्रारम्भ: 25 मार्च को 8 बजकर 2 मिनट पर नवमी तिथी समाप्ति: 26 मार्च 05:54 को