Ram Navmi 2019: आज सुबह 8 बजे से लग गई नवमी तिथि, ऐसे करें कन्या पूजा

Ram Navmi 2019: आज सुबह 8 बजे से लग गई नवमी तिथि, ऐसे करें कन्या पूजा
Ram Navmi 2019: आज सुबह 8 बजे से लग गई नवमी तिथि, ऐसे करें कन्या पूजा

लखनऊ। आज चैत्र नवरात्रि का आखरी दिन है। आज श्रद्धालु वांसतिक नवरात्र का अष्टमी व्रत रहने के साथ रामनवमी का त्योहार धूमधाम से मनाएंगे। रामनवमी के दिन भगवान श्रीराम की पूजा-अर्चना करने से विशेष पुण्य मिलता है। जाने महानवमी से जुड़ी कुछ खास बातों के बारे में….

Ram Navmi 2019 Kanya Pooja Vidhi :

जानें कब लगेगी अष्टमी और नवमी तिथि

  • 13 अप्रैल दिन शनिवार को सुबह दिन में 08:16 बजे तक अष्टमी तिथि थी उसके बाद अब नवमी तिथि लग गई है। 
  • आज के दिन महानवमी का व्रत होगा क्योंकि 13 अप्रैल को सुबह 08:16 बजे के बाद ही नवमी तिथि लग जाएगी जो 14 अप्रैल की सुबह 6 बजे तक ही विद्यमान रहेगी।
  • राम नवमी के ही दिन त्रेता युग में महाराज दशरथ के घर विष्णु जी के अवतार भगवान श्री राम का जन्म हुआ था।
  • आज के दिन सच्चे मन से भगवान राम की पूजा करने से घर में धन-समृद्धि आती है।
  • नवरात्र के व्रत के बाद नवमी के दिन कन्या पूजन किया जाता है।
  • इस दिन कन्या का पूजन कर भोजन कराने से मां दुर्गा की विशेष कृपा प्राप्त होती है। सभी दुखों का नाश होता है।

राम नवमी पर ऐसे करें कन्या पूजा

कन्या भोजन से पहले कन्याओं को आमंत्रित कर उनका स्वागत करें, उनके पैर धोएं, उनका श्रृंगार करें और उसके बाद उन्हें भोजन करवाएं।

भोजन में मिष्ठान और फल शामिल करना न भूलें।

इसके बाद उन्हें यथायोग्य उपहार देकर उनके घर तक पहुंचाएं।

किसी भी वर्ण, जाति और धर्म की कन्या को आप कन्या पूजन के लिए आमंत्रित कर सकती हैं।

जाने कितनी कन्याओं को करें आमंत्रित

हो सके तो नौ से ज्यादा या नौ के गुणात्मक क्रम में भी जैसे 18, 27 या 36 कन्याओं को भी आमंत्रित कर सकती हैं।

अगर कन्या के भाई की उम्र 10 साल से कम है तो उसे भी आप कन्या के साथ आमंत्रित कर सकती हैं।

अगर गरीब परिवार की कन्याओं को आमंत्रित कर उनका सम्मान करेंगे, तो इस शक्ति पूजा का महत्व और भी बढ़ जाएगा।

लखनऊ। आज चैत्र नवरात्रि का आखरी दिन है। आज श्रद्धालु वांसतिक नवरात्र का अष्टमी व्रत रहने के साथ रामनवमी का त्योहार धूमधाम से मनाएंगे। रामनवमी के दिन भगवान श्रीराम की पूजा-अर्चना करने से विशेष पुण्य मिलता है। जाने महानवमी से जुड़ी कुछ खास बातों के बारे में....

जानें कब लगेगी अष्टमी और नवमी तिथि

  • 13 अप्रैल दिन शनिवार को सुबह दिन में 08:16 बजे तक अष्टमी तिथि थी उसके बाद अब नवमी तिथि लग गई है। 
  • आज के दिन महानवमी का व्रत होगा क्योंकि 13 अप्रैल को सुबह 08:16 बजे के बाद ही नवमी तिथि लग जाएगी जो 14 अप्रैल की सुबह 6 बजे तक ही विद्यमान रहेगी।
  • राम नवमी के ही दिन त्रेता युग में महाराज दशरथ के घर विष्णु जी के अवतार भगवान श्री राम का जन्म हुआ था।
  • आज के दिन सच्चे मन से भगवान राम की पूजा करने से घर में धन-समृद्धि आती है।
  • नवरात्र के व्रत के बाद नवमी के दिन कन्या पूजन किया जाता है।
  • इस दिन कन्या का पूजन कर भोजन कराने से मां दुर्गा की विशेष कृपा प्राप्त होती है। सभी दुखों का नाश होता है।

राम नवमी पर ऐसे करें कन्या पूजा

कन्या भोजन से पहले कन्याओं को आमंत्रित कर उनका स्वागत करें, उनके पैर धोएं, उनका श्रृंगार करें और उसके बाद उन्हें भोजन करवाएं।

भोजन में मिष्ठान और फल शामिल करना न भूलें।

इसके बाद उन्हें यथायोग्य उपहार देकर उनके घर तक पहुंचाएं।

किसी भी वर्ण, जाति और धर्म की कन्या को आप कन्या पूजन के लिए आमंत्रित कर सकती हैं।

जाने कितनी कन्याओं को करें आमंत्रित

हो सके तो नौ से ज्यादा या नौ के गुणात्मक क्रम में भी जैसे 18, 27 या 36 कन्याओं को भी आमंत्रित कर सकती हैं।

अगर कन्या के भाई की उम्र 10 साल से कम है तो उसे भी आप कन्या के साथ आमंत्रित कर सकती हैं।

अगर गरीब परिवार की कन्याओं को आमंत्रित कर उनका सम्मान करेंगे, तो इस शक्ति पूजा का महत्व और भी बढ़ जाएगा।