राम मंदिर निर्माण: प्रियंका गांधी ने कहा-राम सबमें और सबके साथ हैं, राष्ट्रीय एकता का अवसर बने भूमि पूजन

priyanka
राम मंदिर निर्माण: प्रियंका गांधी ने कहा-राम सबमें और सबके साथ हैं, राष्ट्रीय एकता का अवसर बने भूमि पूजन

लखनऊ। रामनगरी अयोध्या में भूमि पूजन बुधवार को पीएम नरेंद्र मोदी करेंगे। भूमि पूजन की तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी हैं। इस बीच कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि, ‘राम सबमें हैं और राम सबके साथ हैं।’ इसके साथ ही उन्होंने कहा कि रामलला के मंदिर के भूमिपूजन का कार्यक्रम राष्ट्रीय एकता, बंधुत्व और सांस्कृतिक समागम का अवसर बने।

Ram Temple Construction Priyanka Gandhi Said Ram Is With Everyone And Everyone Bhoomi Pujan Should Be An Opportunity For National Unity :

प्रियंका गांधी ने भूमि पूजन से पहले एक ट्विट किया है। इसके जरिए उन्होंने कहा है कि,’सरलता, साहस, संयम, त्याग, वचनवद्धता, दीनबंधु राम नाम का सार है। राम सबमें हैं, राम सबके साथ हैं। भगवान राम और माता सीता के संदेश और उनकी कृपा के साथ रामलला के मंदिर के भूमिपूजन का कार्यक्रम राष्ट्रीय एकता, बंधुत्व और सांस्कृतिक समागम का अवसर बने। जय सियाराम।’

इसके साथ ही उन्होंने एक पत्र भी ट्विट किया है। प्रियंका गांधी ने कहा है कि ‘दुनिया और भारतीय उपमहाद्वीप की संस्कृति में रामायण की गहरी और अमिट छाप है। राम शबरी के हैं, सुग्रीव के भी हैं। कबीर के हैं, तुलसीदास के हैं, रैदास के भी हैं।

गांधी के रघुपति राघव राजा राम सबको सन्मति देने वाले हैं। वारिस अली शाह कहते हैं- जो रब है, वही राम है।’ उन्होंने भगवान राम के लिए मैथिलीशरण गुप्त और महाप्राण निराला की पंक्तियों का भी जिक्र किया।

लखनऊ। रामनगरी अयोध्या में भूमि पूजन बुधवार को पीएम नरेंद्र मोदी करेंगे। भूमि पूजन की तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी हैं। इस बीच कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि, 'राम सबमें हैं और राम सबके साथ हैं।' इसके साथ ही उन्होंने कहा कि रामलला के मंदिर के भूमिपूजन का कार्यक्रम राष्ट्रीय एकता, बंधुत्व और सांस्कृतिक समागम का अवसर बने। प्रियंका गांधी ने भूमि पूजन से पहले एक ट्विट किया है। इसके जरिए उन्होंने कहा है कि,'सरलता, साहस, संयम, त्याग, वचनवद्धता, दीनबंधु राम नाम का सार है। राम सबमें हैं, राम सबके साथ हैं। भगवान राम और माता सीता के संदेश और उनकी कृपा के साथ रामलला के मंदिर के भूमिपूजन का कार्यक्रम राष्ट्रीय एकता, बंधुत्व और सांस्कृतिक समागम का अवसर बने। जय सियाराम।' इसके साथ ही उन्होंने एक पत्र भी ट्विट किया है। प्रियंका गांधी ने कहा है कि 'दुनिया और भारतीय उपमहाद्वीप की संस्कृति में रामायण की गहरी और अमिट छाप है। राम शबरी के हैं, सुग्रीव के भी हैं। कबीर के हैं, तुलसीदास के हैं, रैदास के भी हैं। गांधी के रघुपति राघव राजा राम सबको सन्मति देने वाले हैं। वारिस अली शाह कहते हैं- जो रब है, वही राम है।' उन्होंने भगवान राम के लिए मैथिलीशरण गुप्त और महाप्राण निराला की पंक्तियों का भी जिक्र किया।