राम मंदिर ट्रस्टी PM से करेंगे मुलाकात, कहा-पीएम मोदी और सीएम योगी के कार्यकाल में ही पूरा होगा निर्माण

Ram temple trustee
राम मंदिर ट्रस्टी PM से करेंगे मुलाकात, कहा-पीएम मोदी और सीएम योगी के कार्यकाल में ही पूरा होगा निर्माण

नई दिल्ली। राममंदिर ट्रस्ट की पहली बैठक होने के बाद आज सभी सदस्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगे। यह बैठक आज शाम 5:30 बजे पीएम के सरकारी आवास लोक कल्याण मार्ग पर आयोजित होगी। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास ने कहा कि मंदिर निर्माण का कार्य एक दो महीने में शुरू हो जायेगा।

Ram Temple Trustee Will Meet Prime Minister Narendra Modi Said Construction Work Will Be Completed Within Yogis Tenure :

उन्होंने आश जताई है कि राम मंदिर निर्माण का कार्य पीएम नरेंद्र मोदी और प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ के कार्यकाल में ही पूरा हो जाएगा। बता दें कि, रामंदिर ट्रस्ट की पहली बैठक में मंदिर आंदोलन से जुड़े महंत नृत्यगोपाल दास को ट्रस्ट का अध्यक्ष जबकि पीएम मोदी के पूर्व प्रधान सचिव नृपेंद्र मिश्र को मंदिर निर्माण समिति की कमान सौंपी गई।

वहीं विश्व हिंदू परिषद नेता चंपत राय को ट्रस्ट का महासचिव और स्वामी गोविंद गिरि कोषाध्यक्ष बनाया गया। ट्रस्ट के कार्यकारी अध्यक्ष और वरिष्ठ वकील के. परासरन के ग्रेटर कैलाश स्थित निवास पर हुई बैठक में नौ प्रस्ताव पारित किए गए। पहले महंत नृत्यगोपाल व चंपत राय को शामिल करने और अध्यक्ष व महासचिव बनाने का प्रस्ताव पास हुआ। इसके बाद, नृपेंद्र मिश्र के चयन पर मुहर लगी।

नई दिल्ली। राममंदिर ट्रस्ट की पहली बैठक होने के बाद आज सभी सदस्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगे। यह बैठक आज शाम 5:30 बजे पीएम के सरकारी आवास लोक कल्याण मार्ग पर आयोजित होगी। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास ने कहा कि मंदिर निर्माण का कार्य एक दो महीने में शुरू हो जायेगा। उन्होंने आश जताई है कि राम मंदिर निर्माण का कार्य पीएम नरेंद्र मोदी और प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ के कार्यकाल में ही पूरा हो जाएगा। बता दें कि, रामंदिर ट्रस्ट की पहली बैठक में मंदिर आंदोलन से जुड़े महंत नृत्यगोपाल दास को ट्रस्ट का अध्यक्ष जबकि पीएम मोदी के पूर्व प्रधान सचिव नृपेंद्र मिश्र को मंदिर निर्माण समिति की कमान सौंपी गई। वहीं विश्व हिंदू परिषद नेता चंपत राय को ट्रस्ट का महासचिव और स्वामी गोविंद गिरि कोषाध्यक्ष बनाया गया। ट्रस्ट के कार्यकारी अध्यक्ष और वरिष्ठ वकील के. परासरन के ग्रेटर कैलाश स्थित निवास पर हुई बैठक में नौ प्रस्ताव पारित किए गए। पहले महंत नृत्यगोपाल व चंपत राय को शामिल करने और अध्यक्ष व महासचिव बनाने का प्रस्ताव पास हुआ। इसके बाद, नृपेंद्र मिश्र के चयन पर मुहर लगी।