पुत्र मोह में फंसे राम विलास पासवान, चिराग को दी पार्टी की कमान

Chirag paswan
पुत्र मोह में फंसे राम विलास पासवान, चिराग को दी पार्टी की कमान

नई दिल्ली। लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के अध्यक्ष और केन्द्र सरकार के मंत्री राम विलास पासवान भी पुत्र मोह में फंस गये और आज उन्होने अधिकारिक तौर पर अपने बेटे चिराग पासवान को लोक जनशक्ति पार्टी का अध्यक्ष बना दिया। अभी तक पार्टी की कमान राम विलास पासवान के कंधो पर ही थी। आपको बता दें कि चिराग पासवान वर्तमान समय में बिहार की जमुई सीट से सांसद भी है।

Ram Vilas Paswan Trapped In Sons Fascination Chirag Commanded The Party :

आज यह फैंसला दिल्ली में हुई कार्यकारणी की बैठक में लिया गया। इससे पहले रामविलास पासवान ने 2014 लोकसभा चुनाव में पहली बार चिराग को बड़ी जिम्मेदारी सौंपी थी जब चिराग को लोजपा के संसदीय बोर्ड का अध्यक्ष बनाया गया थ। 2019 लोकसभा चुनाव में भी पहले सीटों के बंटवारे और फिर उम्मीदवारों के चयन को लेकर भी चिराग पासवान को आगे किया गया था।

रामविलास पावान ने चिराग को अध्यक्ष बनाये जाने की घोषणा करते हुए कहा कि हम चाहते हैं कि अगली पीढ़ी अब अपना काम संभाले। आपको बता दें कि राजनीति में आने से पहले चिराग पासवान फिल्मी दुनिया में भी अपने हाथ आजमा चुके हैं, जब उन्हे वहां से ज्यादा सफलता नही मिल पायी तो उन्होने राजनीति की तरफ कदम बढ़ा दिये। चिराग पासवान लगातार दूसरी बार संसद के लिए चुने गये हैं।

नई दिल्ली। लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के अध्यक्ष और केन्द्र सरकार के मंत्री राम विलास पासवान भी पुत्र मोह में फंस गये और आज उन्होने अधिकारिक तौर पर अपने बेटे चिराग पासवान को लोक जनशक्ति पार्टी का अध्यक्ष बना दिया। अभी तक पार्टी की कमान राम विलास पासवान के कंधो पर ही थी। आपको बता दें कि चिराग पासवान वर्तमान समय में बिहार की जमुई सीट से सांसद भी है। आज यह फैंसला दिल्ली में हुई कार्यकारणी की बैठक में लिया गया। इससे पहले रामविलास पासवान ने 2014 लोकसभा चुनाव में पहली बार चिराग को बड़ी जिम्मेदारी सौंपी थी जब चिराग को लोजपा के संसदीय बोर्ड का अध्यक्ष बनाया गया थ। 2019 लोकसभा चुनाव में भी पहले सीटों के बंटवारे और फिर उम्मीदवारों के चयन को लेकर भी चिराग पासवान को आगे किया गया था। रामविलास पावान ने चिराग को अध्यक्ष बनाये जाने की घोषणा करते हुए कहा कि हम चाहते हैं कि अगली पीढ़ी अब अपना काम संभाले। आपको बता दें कि राजनीति में आने से पहले चिराग पासवान फिल्मी दुनिया में भी अपने हाथ आजमा चुके हैं, जब उन्हे वहां से ज्यादा सफलता नही मिल पायी तो उन्होने राजनीति की तरफ कदम बढ़ा दिये। चिराग पासवान लगातार दूसरी बार संसद के लिए चुने गये हैं।