ट्रंप का नरम रूख देख फिर दिखाये ईरान ने तेवर, अमेरिकी दूतावास पर दागे रॉकेट

trump
ट्रंप का नरम रूख देख फिर दिखाये ईरान ने तेवर, अमेरिकी दूतावास पर दागे रॉकेट

नई दिल्ली। अमेरिका द्वारा शुक्रवार को ईरान के आर्किटेक्ट जनरल कासिम सुलेमानी को मार गिराया गया था तभी से दोनो देशो के बीच तनाव बढ़ गया। मंगलवार को ईरान की तरफ से अमेरिकी सैन्य ठिकानो पर हमला किया गया और दावा किया गया कि इसमें 80 अमेरिकी जवान मारे गये लेकिन बुधवार शाम अमेरिकी राष्ट्रपति ने इसे झूंठा करार दिया वहीं उन्होने ईरान पर प्रतिबंध लगाने की बात तो कही लेकिन शांति की पेशकश भी की लेकिन ईरान ने एकबार फिर तेवर दिखाते हुए अमेरिकी दूतावास के पास दो रॉकेट दागे हैं। हालांकि इस दौरान कोई नुकसान नही हुआ है।

Ran Shows His Attitude After Seeing Trumps Soft Approach Rocket Fired At Us Embassy :

अमेरिकी सेना के प्रवक्ता कर्नल मायल्स बी. कैगिंस ने ट्वीट करते हुए घटना की पुष्टि की, उन्होने लिखा ‘8 जनवरी को रात 11:45 बजे बगदाद स्थित इंटरनेशनल जोन में छोटे रॉकेट दागे गए हैं। किसी को कोई नुकसान नहीं हुआ है।’ वहीं इराकी जॉइंट मिलिट्री के कमांडर ने कहा कि बगदाद स्थित ग्रीन जोन में दो कत्यूशा रॉकेट दागे गए, घटना में कोई हताहत नहीं हुआ है। आपको बता दें कि बगदाद स्थित ग्रीन जोन वह हाई सिक्योरिटी एरिया है, जहां अमेरिका सहित कई देशों के दूतावास हैं।

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पहली बार इस मामले में बुधवार को खुल कर बोला। उन्होने संबोधन के दोरान परमाणु कार्यक्रम को लेकर ईरान को चेतावनी तो दी लेकिन ईरान पर जवाबी कार्रवाई या हमले जैसी कोई बात नहीं कही। उन्होने कहा कि हम बल प्रयोग करना नहीं चाहते. उन्होंने नरमी दिखाते हुए कहा कि ईरान एक बेहतर देश हो सकता है, उसे आतंक का समर्थन करना बंद करना होगा। ट्रंप ने ईरान के साथ बातचीत और समझौते का रास्ता खुला रखने का संकेत देते हुए कहा कि ऐसा समझौता करने की कोशिश की जाएगी, जिससे दुनिया शांति की ओर बढ़ सके।

नई दिल्ली। अमेरिका द्वारा शुक्रवार को ईरान के आर्किटेक्ट जनरल कासिम सुलेमानी को मार गिराया गया था तभी से दोनो देशो के बीच तनाव बढ़ गया। मंगलवार को ईरान की तरफ से अमेरिकी सैन्य ठिकानो पर हमला किया गया और दावा किया गया कि इसमें 80 अमेरिकी जवान मारे गये लेकिन बुधवार शाम अमेरिकी राष्ट्रपति ने इसे झूंठा करार दिया वहीं उन्होने ईरान पर प्रतिबंध लगाने की बात तो कही लेकिन शांति की पेशकश भी की लेकिन ईरान ने एकबार फिर तेवर दिखाते हुए अमेरिकी दूतावास के पास दो रॉकेट दागे हैं। हालांकि इस दौरान कोई नुकसान नही हुआ है। अमेरिकी सेना के प्रवक्ता कर्नल मायल्स बी. कैगिंस ने ट्वीट करते हुए घटना की पुष्टि की, उन्होने लिखा '8 जनवरी को रात 11:45 बजे बगदाद स्थित इंटरनेशनल जोन में छोटे रॉकेट दागे गए हैं। किसी को कोई नुकसान नहीं हुआ है।' वहीं इराकी जॉइंट मिलिट्री के कमांडर ने कहा कि बगदाद स्थित ग्रीन जोन में दो कत्यूशा रॉकेट दागे गए, घटना में कोई हताहत नहीं हुआ है। आपको बता दें कि बगदाद स्थित ग्रीन जोन वह हाई सिक्योरिटी एरिया है, जहां अमेरिका सहित कई देशों के दूतावास हैं। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पहली बार इस मामले में बुधवार को खुल कर बोला। उन्होने संबोधन के दोरान परमाणु कार्यक्रम को लेकर ईरान को चेतावनी तो दी लेकिन ईरान पर जवाबी कार्रवाई या हमले जैसी कोई बात नहीं कही। उन्होने कहा कि हम बल प्रयोग करना नहीं चाहते. उन्होंने नरमी दिखाते हुए कहा कि ईरान एक बेहतर देश हो सकता है, उसे आतंक का समर्थन करना बंद करना होगा। ट्रंप ने ईरान के साथ बातचीत और समझौते का रास्ता खुला रखने का संकेत देते हुए कहा कि ऐसा समझौता करने की कोशिश की जाएगी, जिससे दुनिया शांति की ओर बढ़ सके।