चारा घोटाला: हाईकोर्ट ने खारिज की लालू की प्रोविजनल बेल, जाना होगा जेल

lalu yadav
चारा घोटाला: हाईकोर्ट ने खारिज की लालू की प्रोविजनल बेल, जाना होगा जेल

रांची। चारा घोटाला समेत अन्य कई मामलों में सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव को अब फिर से जेल जाना होगा। रांची हाईकोर्ट ने उनकी प्रोविजनल बेल को खारिज कर दिया है। अब आरजेडी सुप्रीमो को 30 अगस्त को सरेंडर करना होगा। अब आगे का उनका इलाज जेल मेन्यूअल के हिसाब होगा। फिलहाल मेडिकल ग्राउंड पर लालू को 27 अगस्त तक का प्रोविजनल बेल मिली हुई है।

Ranchi Highcourt Decline The Parovistional Bail Of Lalu Yadav :

बता दें कि लालू यादव के वकीलों ने जस्टिस अरपेश कुमार सिंह की कोर्ट में मेडिकल ग्राउंड पर प्रोविजनल बेल की अवधि बढ़ाने की मांग की थी, जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया। इससे पहले रांची हाइकोर्ट में 17 अगस्त को लालू प्रसाद यादव की औपबंधिक बेल पर सुनवाई करते हुए 27 अगस्त तक के लिए बेल की अवधि बढ़ा दी गई थी।

पिछली बार उन्हें मेडिकल ग्राउंड पर प्रोविजनल बेल मिलने के बाद लालू यादव का जून में एक ऑपरेशन हुआ था, जिसके बाद डॉक्टर ने उन्हें लगभग तीन महीने आराम करने की सलाह दी थी। लालू यादव को हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, किडनी, हार्ट की समस्या सहित कई अन्य बीमारियां हैं। पहले भी उनका इलाज रांची के एम्स में किया गया है। लालू यादव ने बेहतर इलाज के लिए जमानत याचिका दायर की थी, जिसके बाद से वह लगातार प्रोविजनल जमानत पर हैं।

रांची। चारा घोटाला समेत अन्य कई मामलों में सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव को अब फिर से जेल जाना होगा। रांची हाईकोर्ट ने उनकी प्रोविजनल बेल को खारिज कर दिया है। अब आरजेडी सुप्रीमो को 30 अगस्त को सरेंडर करना होगा। अब आगे का उनका इलाज जेल मेन्यूअल के हिसाब होगा। फिलहाल मेडिकल ग्राउंड पर लालू को 27 अगस्त तक का प्रोविजनल बेल मिली हुई है। बता दें कि लालू यादव के वकीलों ने जस्टिस अरपेश कुमार सिंह की कोर्ट में मेडिकल ग्राउंड पर प्रोविजनल बेल की अवधि बढ़ाने की मांग की थी, जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया। इससे पहले रांची हाइकोर्ट में 17 अगस्त को लालू प्रसाद यादव की औपबंधिक बेल पर सुनवाई करते हुए 27 अगस्त तक के लिए बेल की अवधि बढ़ा दी गई थी। पिछली बार उन्हें मेडिकल ग्राउंड पर प्रोविजनल बेल मिलने के बाद लालू यादव का जून में एक ऑपरेशन हुआ था, जिसके बाद डॉक्टर ने उन्हें लगभग तीन महीने आराम करने की सलाह दी थी। लालू यादव को हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, किडनी, हार्ट की समस्या सहित कई अन्य बीमारियां हैं। पहले भी उनका इलाज रांची के एम्स में किया गया है। लालू यादव ने बेहतर इलाज के लिए जमानत याचिका दायर की थी, जिसके बाद से वह लगातार प्रोविजनल जमानत पर हैं।