1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. मोदी कैबिनेट विस्तार पर रणदीप सुरजेवाला का तंज, बोले-खराबी इंजन में है और बदले जा रहे हैं डिब्बे

मोदी कैबिनेट विस्तार पर रणदीप सुरजेवाला का तंज, बोले-खराबी इंजन में है और बदले जा रहे हैं डिब्बे

केंद्र की मोदी सरकार पहला मंत्रिमंडल विस्तार बुधवार को होने जा रहा है। इस फेरबदल और विस्तार से पहले कांग्रेस ने केंद्र पर तंज कसा है। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा कि खराबी इंजन में है और बदले डिब्बे जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि यही तो है 'दुर्दशाजीवी मोदी मंत्रिमंडल ' के विस्तार की सच्चाई है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। केंद्र की मोदी सरकार पहला मंत्रिमंडल विस्तार बुधवार को होने जा रहा है। इस फेरबदल और विस्तार से पहले कांग्रेस ने केंद्र पर तंज कसा है। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा कि खराबी इंजन में है और बदले डिब्बे जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि यही तो है ‘दुर्दशाजीवी मोदी मंत्रिमंडल ‘ के विस्तार की सच्चाई है।

पढ़ें :- मिसाल: बेटा है मोदी सरकार में मंत्री, माता-पिता आज भी करते हैं खेतों में मजदूरी

पढ़ें :- कार्यभार ग्रहण करते ही आईटी मंत्री ने दी ट्विटर को चेतावनी, कहा-देश का कानून सर्वोच्च, सभी को मानना होगा

सुरजेवाला कि यह कैबिनेट का नहीं बल्कि सत्ता की भूख का विस्तार होने जा रहा है। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता ने कहा कि अगर परफॉर्मेंस के आधार पर कैबिनेट विस्तार होता तो सबसे पहले कई प्रमुख मंत्रियों का इस्तीफा होता। उन्होंने सवाल किया है कि कोरोना महामारी में ‘जिम्मेदारी से मुंह मोड़ने’ वाले प्रधानमंत्री का अप्रैजल कब होगा? सिर्फ स्वास्थ्य मंत्री को बलि का बकरा बनाकर प्रधानमंत्री अपना पल्ला नहीं झाड़ सकते।

सुरजेवाला ने एक के बाद एक सिलसिलेवार ट्वीट कर आरोप लगाया कि स्वास्थ्य मंत्री, कृषि मंत्री, रक्षा मंत्री, गृह मंत्री, वित्त मंत्री और पेट्रोलियम मंत्री का प्रदर्शन नाकामी भरा है, लिहाजा इन्हें हटाया जाना चाहिए। संयोग से उनके ट्वीट के कुछ देर बाद ही स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्ष वर्धन ने कैबिनेट से इस्तीफा देना पड़ा।

पढ़ें :- गलत नीतियों पर पर्दा डालने के लिए सरकार ने किया फेरबदल, कैबिनेट विस्तार पर बोलीं मायावती

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि कोरोना संकट से सही से नहीं निपट पाने के लिए स्वास्थ्य मंत्री, विवादित कृषि कानूनों के लिए कृषि मंत्री, ‘भारत की जमीन पर चीन के कब्जा’ करने के दुस्साहस की वजह से रक्षा मंत्री, उग्रवाद और नक्सलवाद बढ़ने को लेकर गृह मंत्री, आर्थिक बदहाली व बेरोजगारी के लिए वित्त मंत्री और पेट्रोल-डीजल की महंगाई के लिए पेट्रोलियम मंत्री को हटाया जाना चाहिए।

सुरजेवाला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पहले मंत्रिपरिषद विस्तार और फेरबदल को बीजेपी की मजबूरी करार दिया है। उन्होंने कहा कि बंगाल में हार की हताशा के लिए कुछ को पद दिए जाएंगे तो मध्य प्रदेश में ‘सत्ता के सौदे’ का इनाम दिया जाएगा। यहां उनके निशाने पर कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया रहे। सुरजेवाला ने कहा कि कैबिनेट विस्तार के नाम पर ‘मोदी-योगी के अनबन’ पर पर्दा डाला जाएगा। यूपी चुनावों के मद्देनजर कुछ क्षेत्रीय दलों की दाल गलाई जाएगी।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...