1. हिन्दी समाचार
  2. टेलीविजन
  3. गोरक्षनाथ मंदिर गोरखपुर में एंट्री के लिए शाबिया शेख बन गईं रानी चटर्जी, जानें क्या है कनेक्शन?

गोरक्षनाथ मंदिर गोरखपुर में एंट्री के लिए शाबिया शेख बन गईं रानी चटर्जी, जानें क्या है कनेक्शन?

भोजपुरी की मशहूर एक्ट्रेस रानी चटर्जी (Rani Chatterjee) 3 नवंबर को अपना बर्थडे सेलिब्रेट करेंगी। रानी अपनी जिंदगी के 35वें बसंत में प्रवेश कर रही हैं। बता दें कि रानी ने अपने एक्टिंग करियर की शुरूआत महज 14 साल की उम्र में की थी। उससे पहले वे मुस्लिम परिवार की बच्ची शाबिया शेख (Shabia Sheikh) के नाम से जानी जाती थीं। शाबिया शेख (Shabia Sheikh) के रानी चटर्जी (Rani Chatterjee)  बनने की कहानी भी दिलचस्प है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

मुंबई। भोजपुरी की मशहूर एक्ट्रेस रानी चटर्जी (Rani Chatterjee) 3 नवंबर को अपना बर्थडे सेलिब्रेट करेंगी। रानी अपनी जिंदगी के 35वें बसंत में प्रवेश कर रही हैं। बता दें कि रानी ने अपने एक्टिंग करियर की शुरूआत महज 14 साल की उम्र में की थी। उससे पहले वे मुस्लिम परिवार की बच्ची शाबिया शेख (Shabia Sheikh) के नाम से जानी जाती थीं। शाबिया शेख (Shabia Sheikh) के रानी चटर्जी (Rani Chatterjee)  बनने की कहानी भी दिलचस्प है।

पढ़ें :- देशी अवतार में Esha Gupta ने शेयर किया कातिलाना अंदाज, देख फैन्स ने नहीं झपकी पलकें

जानें  शाबिया शेख कैसे बनीं रानी चटर्जी?

एक न्यूज चैनल से बातचीत करते हुए रानी बताती हैं कि ‘मैं मुंबइया लड़की हूं और मेरा जन्म मुस्लिम परिवार में हुआ था। मेरा असली नाम शबिया शेख है, लेकिन जब मैं मनोज तिवारी के साथ भोजपुरी फिल्म ‘ससुरा बड़ा पईसावाला’ के लिए सेलेक्ट हुई। तो इसकी शूटिंग के लिए मुझे गोरखपुर के मंदिर जाना था, तो उस वक्त ऑन स्पॉट आनन-फानन में मेरा नाम शबिया से रानी रख दिया गया।

रानी बताती हैं कि ‘मुहूर्त शॉट का पहला सीन था, हमें गोरखपुर के गोरखधाम मंदिर में शूट करना था। हुआ यूं कि कास्ट व क्रू के लोग कहने लगे कि मैं मुस्लिम हूं और मंदिर में शूट करने वाली हूं, तो कहीं मंदिर के लोगों को आपत्ति न हो जाए। यही वजह है कि मेरे प्रोड्यूसर ने आकर मुझसे कहा कि कोई भी तुमसे पूछे कि तुम्हारा नाम क्या है, तो रानी बोल देना क्योंकि फिल्म में मेरे किरदार का नाम भी रानी ही था।

खैर शूटिंग के दौरान ही किसी ने प्रोड्यूसर से पूछा कि ये लड़की कौन है और कहां से है? तो प्रोड्यूसर ने झट से रानी चटर्जी संबोधित करते हुए कहा कि ये मुंबई की रहने वाली है। बस फिर क्या था, पूरी शूटिंग के दौरान मुझे अपनी पहचान छुपा कर रखनी पड़ी। यह संयोग की बात है कि आज सोशल मीडिया पर उसी मंदिर के अधीश्वर और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा अलग-अलग जगहों के नाम बदले जाने को लेकर मीम्स बनते हैं।

पढ़ें :- Janhvi Kapoor Shikhar Pahariya: बिना ब्लाउज के साड़ी में नोज रिंग फ्लॉन्ट करती नजर आई जाह्नवी कपूर

रानी कहती हैं कि नाम बदले जाने पर मैंने आपत्ति नहीं की थी। इसका कारण यह भी था कि मुझे लगा कौन फिल्म देखेगा और किसे पता चलेगा? हालांकि, हुआ इसके उलट, फिल्म सुपरहिट हो गई और फिर मीडिया के बीच मैं रानी चटर्जी बन गई।

हालांकि, दूसरी फिल्म के बाद ही मैंने मीडिया के बीच अपना असली नाम जाहिर कर दिया था। चूंकि, रानी नाम मेरे लिए लकी रहा, तो मैं आज भी रानी कहलवाना ही पसंद करती हूं। रिलीजन को लेकर नहीं हुई परेशानी मेरे रिलीजन को लेकर कभी मुझे कहीं कोई दिक्कत नहीं हुई?

न मेरी कौम वालों ने कभी कोई आपत्ति जताई। हिंदू फैंस से तो मुझे बहुत प्यार मिलता है। सोशल मीडिया पर ज्यादातर मैं हिंदू अवतार में होती हूं, हां कभी बुर्का पहन लूं, तो मुझे ट्रोल करते हैं कि क्यों बुर्का पहना है, लेकिन मैं इन चीजों को इतना सीरियसली नहीं लेती।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...