1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Rani Pakshalika Singh jeevan Parichay : भदावर राजघराने की महारानी पक्षालिका सिंह ने विरासत को बढ़ाया आगे, बनीं विधायक

Rani Pakshalika Singh jeevan Parichay : भदावर राजघराने की महारानी पक्षालिका सिंह ने विरासत को बढ़ाया आगे, बनीं विधायक

Rani Pakshalika Singh jeevan Parichay : यूपी (UP)के आगरा जिले (Agra District ) में निर्वाचन क्षेत्र- 94, बाह विधानसभा सीट (Constituency-94, Bah Assembly seat ) से भदावर राजघराने की महारानी पक्षालिका सिंह (Rani Pakshalika Singh)  पहली बार उत्तर प्रदेश की 17वीं विधानसभा चुनाव (17th assembly election of Uttar Pradesh) में बड़ी जीत दर्ज कर पहली बार सूबे की सबसे बड़ी पंचायत में पहुंची है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Rani Pakshalika Singh jeevan Parichay : यूपी (UP)के आगरा जिले (Agra District ) में निर्वाचन क्षेत्र- 94, बाह विधानसभा सीट (Constituency-94, Bah Assembly seat ) से भदावर राजघराने की महारानी पक्षालिका सिंह (Rani Pakshalika Singh)  पहली बार उत्तर प्रदेश की 17वीं विधानसभा चुनाव (17th assembly election of Uttar Pradesh) में बड़ी जीत दर्ज कर पहली बार सूबे की सबसे बड़ी पंचायत में पहुंची है। इन्होंने अपने निकटम प्रतिद्वंदी व बहुजन समाज पार्टी (Bahujan samaj party) के प्रत्याशी मधुसूदन शर्मा (Madhusudan Sharma) को 23140 वोटों से हराकर विधायक चुनी गई थीं। इससे पहले पक्ष‍ालिका साल 2012 में सपा की टिकट पर खेरागढ़ से चुनाव लड़ी थी, लेकिन हार गई थीं। इसके अलावा उन्‍होंने सपा की टिकट पर 2014 का  लोकसभा चुनाव (2014 Lok Sabha Elections) भी लड़ा था लेकिन जीत नहीं पाई थीं।

पढ़ें :- Rama Shankar Singh Patel jeevan parichay : रमाशंकर दिग्गज कांग्रेसी को हराकर बने विधायक, योगी ने दिया मंत्री पद

शिक्षा और जीवन शैली

महारानी पक्षालिका सिंह (Rani Pakshalika Singh)  का जन्म कानपुर 15 नवम्बर, 1960 को राजा समर सिंह (Raja Samar Singh) के घर हुआ था। इनके पति का नाम राजा महेन्द्र अरिदमन सिंह ​(Raja Mahendra Aridaman Singh) है। उन्होंने 1981 में महिला क्रिश्चियन कॉलेज मद्रास (Women’s Christian College Madras) से स्नातक की उपाधि प्राप्त की।

महारानी पक्षालिका सिंह की पारिवारिक पृष्ठभूमि

राजा महेन्द्र अरिदमन सिंह ​(Raja Mahendra Aridaman Singh)  बाह सीट से वे छह बार विधायक रह चुके हैं। यहां से केवल एक बार 2007 के विधानसभा चुनावों को छोड़कर वे लगातार चुनाव जीते हैं। साल 1989 से वे बाह से विधायक चुने जाते रहे हैं। हालांकि 2007 में बसपा के मधुसूदन शर्मा (Madhusudan Sharma) ने उन्‍हें हराया था। 1989 से 1993 तक वे जनता दल के टिकट पर जीते, वहीं 1996 में भाजपा के विधायक चुने गए। हालांकि 2012 में वे सपा के पाले में चले गए। वे भाजपा सरकार में भी मंत्री रह चुके हैं। राजा महेन्द्र अरिदमन सिंह ​(Raja Mahendra Aridaman Singh)  के पिता राजा रिपुदमन सिंह (Raja Ripudaman Singh) भी बाह से विधायक थे।

पढ़ें :- Ratnakar Mishra jeevan parichay : मां विंध्यवासिनी मंदिर के पुरोहित रत्नाकर मिश्रा बने विधायक, 20 साल बाद खिलाया कमल

ये है पूरा सफरनामा

नाम- रानी पक्षालिका सिंह

निर्वाचन क्षेत्र – 94, बाह,आगरा
दल – भारतीय जनता पार्टी |
पिता का नाम- राजा समर सिंह
जन्‍म तिथि- 15 नवम्बर, 1960
जन्‍म स्थान- कानपुर
धर्म- हिन्दू
जाति- सामान्य
शिक्षा- स्नातक
विवाह तिथि- 9 मई
पति का नाम- राजा महेन्द्र अरिदमन सिंह
सन्तान- एक पुत्र
व्‍यवसाय- कृषि
मुख्यावास : गांव व पोस्ट- नौगवां , जैतपुर, बाह, जनपद- आगरा

राजनीतिक योगदान
मार्च, 2017 17वीं विधान सभा के सदस्य प्रथम बार निर्वाचित

पढ़ें :- Praveen Kumar Singh jeevan parichay: प्रवीण ने इस सीट पर पहली बार खिलाया कमल, बने दूसरी बार विधायक
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...