पश्चिम बंगाल हिंसा: बाबुल सुप्रियो ने ममता बनर्जी सरकार को बताया ‘जिहादी’

बाबुल सुप्रियो , पश्चिम बंगाल हिंसा
पश्चिम बंगाल हिंसा: बाबुल सुप्रियो ने ममता बनर्जी सरकार को बताया 'जिहादी'

रानीगंज। रामनवमी के मौके पर पश्चिम बंगाल के रानीगंज में हुई हिंसा पर बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो लगातार ट्विटर के जरिए ममता सरकार पर निशाना साध रहे हैं। टीएमसी पर प्रदेश में धार्मिक तनाव फैलाने का आरोप लगाने के बाद, आसनसोल के सांसद बाबुल सुप्रियो ने ममता बनर्जी को जिहादी सरकार से संबोधित करते हुए ट्वीट किया कि वो जिहादी सरकार को दिखा देंगे कि बंगाल की आत्मा अभी जिंदा है। सुप्रियो ने राज्य में ममता बनर्जी की सरकार की तुलना ‘जिहादी सरकार’ से की है। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि ताजा स्थिति को लेकर उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी जानकारी दी है। वहीं टीएमसी बीजेपी पर ही हिंसा भड़काने का आरोप लगा रही हैं।

Ranigunj Violence Babul Supriyo Calls Mamata Banerjee A Jihadi Government :

बंगाल के आसनसोल से सांसद और केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने आरोप लगाए कि रानीगंज में हिंसा का कारण पुलिस द्वारा कार्रवाई नहीं करना है। उन्होंने आरोप लगाया कि टीएमसी सरकार ने तुष्टीकरण के लिए कोई एक्शन नहीं लिया सुप्रियो ने कहा कि अगर पुलिस ने पहले कदम उठाए होते तो हिंसा को टाला जा सकता था। पुलिस ने अपने राजनीतिक आकाओं के कहने के मुताबिक काम किया और इलाके में गुंडों को पूरी छूट दे दी।

टीएमपी ने लगाया बीजेपी पर हिंसा भड़काने का आरोप
गौरतलब है कि टीएमपी ने बीजेपी पर हिंसा भड़काने का आरोप लगाया है। वहीं बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने साफ शब्दों में कहा है कि राम के नाम पर गुंडागर्दी बर्दाश्त नहीं की जाएगी और आरोपियों पर सख्त कार्रवाई होगी। बता दें कि 25 मार्च को रामनवमी के मौके पर पश्चिम बंगाल के रानीगंज इलाका समेत कई हिस्सों में हिंसक झड़प हुई। गुस्साए लोगों ने दर्जनों वाहनों को आग के हवाले कर दिया। इस दौरान कई पुलिसकर्मी भी घायल हो गए। वहीं इसमें एक व्यक्ति की मौत होने की बात सामने आई है। इस पूरे मामले में पुलिस ने अब तक हिंसा के आरोप में 19 लोगों को गिरफ्तार किया।

रानीगंज। रामनवमी के मौके पर पश्चिम बंगाल के रानीगंज में हुई हिंसा पर बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो लगातार ट्विटर के जरिए ममता सरकार पर निशाना साध रहे हैं। टीएमसी पर प्रदेश में धार्मिक तनाव फैलाने का आरोप लगाने के बाद, आसनसोल के सांसद बाबुल सुप्रियो ने ममता बनर्जी को जिहादी सरकार से संबोधित करते हुए ट्वीट किया कि वो जिहादी सरकार को दिखा देंगे कि बंगाल की आत्मा अभी जिंदा है। सुप्रियो ने राज्य में ममता बनर्जी की सरकार की तुलना 'जिहादी सरकार' से की है। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि ताजा स्थिति को लेकर उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी जानकारी दी है। वहीं टीएमसी बीजेपी पर ही हिंसा भड़काने का आरोप लगा रही हैं। बंगाल के आसनसोल से सांसद और केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने आरोप लगाए कि रानीगंज में हिंसा का कारण पुलिस द्वारा कार्रवाई नहीं करना है। उन्होंने आरोप लगाया कि टीएमसी सरकार ने तुष्टीकरण के लिए कोई एक्शन नहीं लिया सुप्रियो ने कहा कि अगर पुलिस ने पहले कदम उठाए होते तो हिंसा को टाला जा सकता था। पुलिस ने अपने राजनीतिक आकाओं के कहने के मुताबिक काम किया और इलाके में गुंडों को पूरी छूट दे दी। टीएमपी ने लगाया बीजेपी पर हिंसा भड़काने का आरोप गौरतलब है कि टीएमपी ने बीजेपी पर हिंसा भड़काने का आरोप लगाया है। वहीं बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने साफ शब्दों में कहा है कि राम के नाम पर गुंडागर्दी बर्दाश्त नहीं की जाएगी और आरोपियों पर सख्त कार्रवाई होगी। बता दें कि 25 मार्च को रामनवमी के मौके पर पश्चिम बंगाल के रानीगंज इलाका समेत कई हिस्सों में हिंसक झड़प हुई। गुस्साए लोगों ने दर्जनों वाहनों को आग के हवाले कर दिया। इस दौरान कई पुलिसकर्मी भी घायल हो गए। वहीं इसमें एक व्यक्ति की मौत होने की बात सामने आई है। इस पूरे मामले में पुलिस ने अब तक हिंसा के आरोप में 19 लोगों को गिरफ्तार किया।